BSd0TSYiGpC7GSG9TpO6TpG7Td==

हरियाणा में आ सकता है बड़ा जल संकट, 24 दिनों तक बंद रहेगी भाखड़ा नहर, विभाग ने जारी किया पूरा शेड्यूल

Water Suplly


चंडीगढ़: हिसार में भाखड़ा नहर सफाई और मरम्मत कार्य के चलते 24 दिन के लिए बंद रहेगी। इस माह शहरी व ग्रामीण इलाकों में पेयजल संकट गहरा जायेगा। नहर विभाग ने 20 मार्च से 12 अप्रैल तक नहर बंदी का शेड्यूल जारी कर दिया है शहर की पानी टंकियों की भंडारण क्षमता 15 दिन की है। 


जनस्वास्थ्य विभाग को जल्द ही पेयजल सप्लाई में कटौती करनी पड़ेगी। इस बार बालसमंद नहर में 25 फरवरी को बाढ़ आई और 4 मार्च की सुबह बंद होगी। शेड्यूल के मुताबिक नहरों में 15 दिन पानी बंद रखा जाता है और 7 दिन छोड़ा जाता है।


कॉलोनियों में एक दिन छोड़कर सेक्टरों में एक समय सप्लाई आएगी


चूंकि सभी जलघरों की अधिकतम पानी भंडारण क्षमता 15 दिन की है और नहर में पानी 24 दिन बाद आएगा। ऐसे में अगर विभाग को 15 दिन के पानी से 24 दिन काम चलाना है तो पेयजल आपूर्ति में कटौती करनी होगी। 


जिन कॉलोनियों में अब रोजाना पेयजल सप्लाई हो रही है, वहां एक दिन छोड़कर ऐसा करना होगा। वहीं सेक्टरों में पेयजल सप्लाई दिन में दो बार से घटाकर एक बार करनी होगी।



महावीर कॉलोनी जलघर से प्रतिदिन 25 मिलियन लीटर पानी की आपूर्ति की जा रही है


शहर की महावीर कॉलोनी जलघर में दो पानी की टंकियां हैं। दोनों प्रतिदिन 25 मिलियन लीटर पानी की आपूर्ति करते हैं। इन टंकियों से संत नगर, विजय नगर, बड़वाली ढाणी, सैनियान मोहल्ला, रामपुरा मोहल्ला, डोगरान मोहल्ला, मुल्तानी चौक, कमला नगर, काठमंडी, लोहामंडी, गोबिंदगढ़ बाजार, पड़ाव चौक, कृष्णा मंडी, अग्रवाल कॉलोनी, डीएन कॉलेज रोड, को पानी उपलब्ध कराया जाएगा। चंदूलाल गार्डन, जयदेव नगर, सुभाष नगर, बैंक कॉलोनी, छोटू राम कॉलोनी, दुर्गा कॉलोनी, डाबड़ा चौक, गोबिंद बाजार में पानी की सप्लाई होती है। जलाशय प्रतिदिन 25 मिलियन लीटर पानी की आपूर्ति करता है।


आजाद नगर में दो और कैमरी रोड जलघर में 4 टैंक हैं


कैमरी रोड स्थित जलघर में चार, आजाद नगर में दो और स्काडा जलघर में दो पानी की टंकियां हैं। कैमरी रोड पानी टंकी की जल भंडारण क्षमता 18 दिन और स्काडा जल टंकी की क्षमता 12 दिन है। आजाद नगर पानी टंकी में 15 दिनों तक पानी संग्रहित किया जा सकता है. चूंकि अभी सिंचाई विभाग की ओर से जलघर के टैंकों को भरने के लिए 10 इंच मोगा दिया गया है, जो दोनों टैंकों को भरने के लिए पर्याप्त नहीं है। ऐसे में नई टंकी को पूरा भरने में दिक्कत आ रही है। जलघर के कर्मचारियों के अनुसार नहर को पक्का करने से जलघर के ट्यूबवेलों का पानी भी खारा हो गया है, जिस कारण अब इसका उपयोग नहीं किया जा सकता। कर्मचारियों के मुताबिक इस बार पेयजल संकट गहराने की आशंका है।


अधिकारी के मुताबिक


24 दिन की नहर बंदी का शेड्यूल आ गया है। नहर बंदी से ठीक पहले नहरों में पानी छोड़ा जाएगा। जल्द ही पेयजल आपूर्ति का शेड्यूल बनाया जाएगा। -कंवरपाल, एसडीओ, जनस्वास्थ्य विभाग।



4 मार्च को नहर बंद कर दी जाएगी। शेड्यूल के मुताबिक 15 दिन 19 मार्च को पूरे हो जाएंगे, जबकि भाखड़ा से नहर बंदी मार्च में तय है ऐसे में 19 मार्च को नहर में दो पानी आने की उम्मीद है, जिससे एक-दो दिन तक टैंक भर सकते हैं। दूसरी संभावना यह है कि नहरबंदी के लंबे शेड्यूल को देखते हुए जलघरों के लिए नहरों में 15 दिन पहले ही पानी छोड़ दिया जाए। यदि ऐसा नहीं हुआ तो इस 15 दिन के पानी से 41 दिन तक काम चलाना पड़ेगा, क्योंकि भाखड़ा से नहरबंदी का शेड्यूल अप्रैल तक है। 


तोशाम रोड वाटरवर्क्स पर 5 टैंक


तोशाम रोड स्थित जलघर में एचएसवीपी के पास पांच पानी के टैंक हैं। सेक्टर 9-11, 16-17, 13, पीएलए, विद्युत नगर और पीएलए क्षेत्र में पानी की आपूर्ति की जा रही है। इन सभी क्षेत्रों में फिलहाल दिन में दो बार पेयजल आपूर्ति की जा रही है। शहर के सभी सेक्टरों में करीब 15 हजार पेयजल कनेक्शन हैं। उन्हें प्रतिदिन 4.1 मिलियन गैलन पेयजल की आपूर्ति की जाती है।

Comments0