BSd0TSYiGpC7GSG9TpO6TpG7Td==

Haryana Weather Update 2024 : कैसा रहने वाला है हरियाणा का मौसम? हरियाणा में बारिश कब होगी? जानें पूर्वानुमान

Haryana Weather Update 2024


Haryana Weather Update 2024 : वैसे तो बारिश कभी भी हो सकती है। पश्चिमी विक्षोभ के बनने के कारण हरियाणा में किसी भी महीने में बारिश हो सकती है। 

जनवरी करीब 20 जनवरी के बाद हरियाणा में पहली बरसात होती है। इस दौरान पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने के चलते बारिश के साथ ओलावृष्टि भी होती है। ये मौसम का बदलाव फ़रवरी में जारी रहती है।

हरियाणा में अच्छी बारिश की शुरुआत आमतौर पर मार्च के महीने में होती है। इस महीने में मानसून के पूर्वाचल (पूर्वी हवाओं) के आगमन के साथ हल्की बारिश होती है। अप्रैल और मई के महीने में भी हल्की बारिश की संभावना रहती है।

जून के महीने में मानसून के आगमन के साथ हरियाणा में अच्छी बारिश होती है। इस महीने में औसतन 200 मिमी से अधिक बारिश होती है। जुलाई और अगस्त के महीने में भी हरियाणा में अच्छी बारिश होती है। इन दोनों महीनों में औसतन 250 मिमी से अधिक बारिश होती है।

सितंबर के महीने में मानसून के वापस जाने के साथ हरियाणा में बारिश की मात्रा कम हो जाती है। इस महीने में औसतन 150 मिमी से अधिक बारिश होती है। अक्टूबर और नवंबर के महीने में भी हरियाणा में हल्की बारिश होती है।

दिसंबर के महीने में हरियाणा में बारिश की संभावना बहुत कम होती है। इस महीने में औसतन 50 मिमी से कम बारिश होती है।

हरियाणा में बारिश की मात्रा हर साल अलग-अलग होती है। कभी-कभी, हरियाणा में मानसून के दौरान अच्छी बारिश होती है, तो कभी-कभी कम बारिश होती है। 2024 में हरियाणा में बारिश की मात्रा कैसी होगी, इसका अभी कोई सटीक अनुमान नहीं लगाया जा सकता है। हालांकि, मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार, 2024 में हरियाणा में सामान्य बारिश की संभावना है।

हरियाणा में बारिश की मात्रा में बदलाव के कारण

हरियाणा में बारिश की मात्रा में बदलाव के कई कारण हो सकते हैं। इनमें शामिल हैं:

  • मानसून की गतिविधि: मानसून की गतिविधि में बदलाव के कारण हरियाणा में बारिश की मात्रा में बदलाव हो सकता है। यदि मानसून समय पर आता है और धीमी गति से आगे बढ़ता है, तो हरियाणा में अच्छी बारिश की संभावना होती है। यदि मानसून देर से आता है या तेज गति से आगे बढ़ता है, तो हरियाणा में कम बारिश की संभावना होती है।
  • भूमध्य रेखीय क्षेत्र में चक्रवातों की गतिविधि: भूमध्य रेखीय क्षेत्र में चक्रवातों की गतिविधि भी हरियाणा में बारिश की मात्रा को प्रभावित कर सकती है। यदि भूमध्य रेखीय क्षेत्र में चक्रवात अधिक सक्रिय होते हैं, तो हरियाणा में अच्छी बारिश की संभावना होती है। यदि भूमध्य रेखीय क्षेत्र में चक्रवात कम सक्रिय होते हैं, तो हरियाणा में कम बारिश की संभावना होती है।
  • ग्लोबल वार्मिंग: ग्लोबल वार्मिंग के कारण हरियाणा में बारिश की मात्रा में बदलाव हो सकता है। ग्लोबल वार्मिंग के कारण मानसून की गतिविधि में बदलाव हो सकता है, जिससे हरियाणा में बारिश की मात्रा में बदलाव हो सकता है।

हरियाणा में बारिश की मात्रा का महत्व

हरियाणा में बारिश की मात्रा का कृषि, सिंचाई और जल संसाधनों के लिए महत्वपूर्ण महत्व है। हरियाणा में कृषि मुख्य रूप से वर्षा पर निर्भर है। यदि हरियाणा में अच्छी बारिश होती है, तो फसलों की अच्छी पैदावार होती है। सिंचाई के लिए भी बारिश का पानी महत्वपूर्ण है। यदि हरियाणा में अच्छी बारिश होती है, तो सिंचाई के लिए पानी की कमी नहीं होती है। जल संसाधनों के लिए भी बारिश का पानी महत्वपूर्ण है। यदि हरियाणा में अच्छी बारिश होती है, तो जल संसाधनों में वृद्धि होती है।

Comments0