BSd0TSYiGpC7GSG9TpO6TpG7Td==

हरियाणा में कानून व्यवस्था और स्वास्थ्य सेवाओं का हुआ बंटाधार, आपसी टकराव में जुटे मुख्यमंत्री और गृह मंत्री- हुड्डा

HOODA


करनाल: बीजेपी-जेजेपी ने किसानों से एमएसपी व मुआवजा, युवाओं से रोजगार, गरीबों से सौ-सौ गज के प्लॉट जैसी कल्याणकारी योजनाएं, दलित और पिछड़ों से आरक्षण का लाभ छीनने का काम किया है। इसलिए किसान, मजदूर, कर्मचारी, व्यापारी, दलित, पिछड़े व महिलाओं समेत तमाम तबके मिलकर बीजेपी से सत्ता छीनने का काम करेंगे। यह कहना है पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा का, वे आज करनाल में कई सामाजिक कार्यक्रमों में शामिल हुए। 


इस दौरान हुड्डा ने बोनी मान के घर पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि एक बार फिर प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के नाम पर किसानों के साथ करोड़ों रुपए का घपला हुआ है। क्लस्टर-2 के 7 जिलों करनाल, अंबाला, हिसार, गुरुग्राम, जींद, महेंद्रगढ़ और सोनीपत के किसानों से बीमा प्रीमियम तो काट लिया गया लेकिन उनका बीमा ही नहीं किया गया। अब किसान मुआवजे के लिए कभी कंपनियों का मुंह ताक रहे हैं तो कभी सरकार का। लेकिन हमेशा की तरह उन्हें बीमा और मुआवजा के नाम पर धोखा ही मिल रहा है। 3 साल का करीब 1300 करोड़ रूपया किसानों का बकाया है। धान सीजन के दौरान आढ़ती और मजदूरों का करीब 500 करोड रुपया भी अभी तक सरकार ने नहीं दिया।


हुड्डा ने कहा कि जो हरियाणा 2014 से पहले प्रति व्यक्ति आय, प्रति व्यक्ति निवेश और रोजगार देने में नंबर वन था। उसे बीजेपी ने महंगाई, अपराध, नशे और बेरोजगारी में नंबर वन बना दिया है। यही वजह है कि हरियाणा के युवा अपना प्रदेश और देश छोड़कर पलायन करने को मजबूर हैं। क्योंकि उन्हें मौजूदा सरकार के कार्यकाल में भविष्य सुरक्षित नजर नहीं आता।


पूर्व मुख्यमंत्री ने याद दिलाया कि कांग्रेस कार्यकाल के दौरान गरीब परिवारों को करीब 4 लाख सो सो गज के मुफ्त प्लॉट दिए गए थे। लेकिन बीजेपी ने सत्ता में आते ही इस योजना को बंद कर दिया। इसी तरह गरीब, दलित और पिछड़ों के लिए चलाई गई कांग्रेस की कई योजनाओं पर इस सरकार ने ताला लगाने का काम किया है।


एनसीआरबी की ताजा रिपोर्ट से एक बार फिर स्पष्ट हो गया है कि यह सरकार लोगों को सुरक्षा देने में पूरी तरह नाकाम है। हरियाणा महिलाओं के लिए सबसे असुरक्षित राज्य बनकर उभरा है। सरकार में बैठे लोग आपसी टकराव में उलझे हुए और कानून व्यवस्था व स्वास्थ्य सेवाओं का बंटाधार हो चुका है। लेकिन प्रदेश के गृह और स्वास्थ्य मंत्री का मुख्यमंत्री के साथ टकराव जारी है। इसका खामियाजा आम जनता को भुगतना पड़ रहा है। इस मुद्दे को कांग्रेस जोर-जोर से विधानसभा में भी उठाएगी। जींद के बाद अब करनाल में भी छात्राओं के साथ यौन शोषण का मामला सामने आया है। कांग्रेस की मांग है कि ऐसे मामलों की जांच हाई कोर्ट के सिटिंग जज की निगरानी में सीबीआई द्वारा होनी चाहिए। 


भाजपा द्वारा किए जा रहे दावों के बारे में पूछे गए सवाल के जवाब में हुड्डा ने कहा कि बीजेपी-जेजेपी सरकार सिर्फ खोखले प्रचार और विज्ञापनों में नजर आती है। जबकि धरातल पर यह पार्टियों साफ हो चुकी हैं। सत्ताधारी दलों के नेता व कार्यकर्ता भी लगातार कांग्रेस की नीतियों में आस्था व्यक्त कर पार्टी ज्वाइन कर रहे हैं। अब तक करीब 30 पूर्व विधायक कांग्रेस में शामिल हो चुके हैं। गठबंधन दल जहां हवा हवाई अखबारी प्रचार में जुटे है, वहीं कांग्रेस अपने कार्यक्रमों के जरिए घर-घर तक पहुंचे चुकी है।  राजस्थान चुनाव पर टिप्पणी करते हुए हुड्डा ने कहा कि हरियाणा के साथ लगती ज्यादातर सीटों पर कांग्रेस ने जीत हासिल की।

Comments0