Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

बुधवार, 21 नवंबर 2018

पहला पन्‍ना English लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

पंचकूला के बतौड़ गाँव में बनेगा ‘सैनिक शिक्षा केंद्र’ : कैप्टन अभिमन्यु

उन्होंने कहा कि सरकार ने जमीन दे दी है. जिसमें सैनिकों, पूर्व सैनिकों, शहीद सैनिकों के बच्चों को शिक्षा मिलेगी.

Panchkula, Bataur village, military education center, Capt Abhimanyu, naya haryana, नया हरियाणा

23 जुलाई 2018

नया हरियाणा

हरियाणा की भाजपा सरकार ने देश की रक्षा करने वाले वीर जवानों के बच्चों की शिक्षा को ध्यान में रखकर एक ऐतिहासिक कदम उठाते हुए ‘सैनिक शिक्षा केंद्र’ के निर्माण के लिए 10 एकड़ ज़मीन सेना की पश्चिम कमान को आवंटित करने का निर्णय लिया है. यह जानकारी देते हुए हरियाणा के राजस्व मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने बताया की मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के निर्देश पर इस ज़मीन का आवंटन किया गया है. इस शिक्षण केंद्र का निर्माण पंचकुला के गाँव बतौड़ में किया जाएगा और इसका संचालन सेना द्वारा ही किया जाएगा. शिक्षण केंद्र हेतू ज़मीन आवंटन के लिए हरियाणा सरकार को 29 जून 2018 को सेना की पश्चिमी कमान मुख्यालय, चंडीमंदिर की ओर से पत्र प्राप्त हुआ था. हरियाणा सरकार ने तत्परता से कार्रवाई करते हुए एक महीने से भी कम समय में दस एकड़ ज़मीन सेना को सौंपने का निर्णय लिया है.
हरियाणा के पंचकुला में जल्द सैनिक शिक्षा केंद्र की स्थापना होने जा रही है. यह केंद्र भारतीय सेना की पश्चिम कमान द्वारा संचालित किया जाएगा. इस केंद्र के लिए जरुरी 10 एकड़ भूमि को हरियाणा सरकार ने सेना के नाम ट्रांसफर कर दिया है. हरियाणा के राजस्व मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने बताया की चूँकि यह केंद्र पश्चिमी कमान के द्वारा संचालित होना है इसलिए जमीन पंचकुला के गाँव बतौड़ में आबंटित की गई है. उन्होंने बताया की शिक्षा केंद्र के लिए हरियाणा सरकार ने सेना को निशुल्क ज़मीन उपलब्ध करवाई है और केंद्र के निर्माण, रख रखाव एवं अन्य खर्चे सेना द्वारा सैनिक कल्याण कोष से किये जायेंगे. उम्मीद है कि इस शिक्षा केंद्र का निर्माण कार्य जल्द शुरू हो जाएगा.
राजस्व मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने बताया की मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के नेतृत्व में हरियाणा की भाजपा सरकार ने निरंतर सैनिकों, पूर्व सैनिकों और शहीद सैनिकों के हित में निर्णय लिए हैं. हरियाणा की भाजपा सरकार ने देश की सीमाओं की रक्षा करने वाले जवानों और उनके परिवारों के लिए लगातार नीतियाँ बना रही है और उन्हें राहत दे रही है. भाजपा सरकार ने युद्ध के दौरान शहीद हुए सेना के जवानों व अर्द्धसैनिक बल के जवानों की अनुग्रह राशि 20 लाख रुपये से बढ़ाकर 50 लाख रूपये और आई.ई.डी. बलास्ट के दौरान शहीद होने पर अनुग्रह राशि 2 लाख रुपये से बढ़ाकर 20 लाख रुपये तथा पुनः बढ़ाकर 50 लाख रूपये की है.

पुलिस कर्मियों की डयूटी के समय शहीद होने अनुग्रह राशि 10 लाख रुपए से बढ़ाकर 30 लाख रुपए की. युद्ध या आतंकवाद तथा अन्य घटना के दौरान घायल हुए सैनिकों को अनुग्रह अनुदान निःशक्तता के आधार पर 50 हजार रुपये की बजाय 5 लाख रुपये, 75 हजार रुपये की बजाय 10 लाख रुपये और एक लाख रुपये की बजाय 15 लाख रुपये की राशि की गई. युद्ध या आतंकवाद तथा अन्य घटना के दौरान घायल हुए अर्द्धसैनिक बलों के जवानों के लिए अनुग्रह अनुदान निःशक्ता के आधार पर 15 लाख रूपये, 25 लाख रूपये तथा 35 लाख रूपये की है. द्वितीय विश्व युद्ध के भूतपूर्व सैनिकों तथा विधवाओं को दी जाने वाली आर्थिक सहायता जो कांग्रेस के समय 3 हज़ार रूपये थी वह अब 10 हज़ार रूपये मासिक है. हरियाणा की भाजपा सरकार ने अक्टूबर 2014 से अब तक शहीद सैनिकों के 195 आश्रितों को अनुकम्पा के आधार पर नौकरी प्रदान की है.


बाकी समाचार