Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

बुधवार, 19 दिसंबर 2018

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

हरियाणा की पंचायतें बदलेगी हरियाणा की तसवीर : ओपी धनखड़

उन्होंने कहा कि बदलता हुआ हरियाणा देश ही नहीं, विश्व स्तर पर अपनी पहचान बदलेगा।

Haryana Panchayats, New Haryana, OP Dhankar, naya haryana, नया हरियाणा

19 जुलाई 2018

नया हरियाणा

हिसार की चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय में स्टार अलंकरण समारोह का आयोजन किया। स्टार अलंकरण समारोह में कृषि मंत्री ओपी धनखड़  मुख्य अतिथि तौर पर शिरकत की। स्टार अलंकरण समारोह में हिसार में 155 पंचायतों के  प्रतिनिधियों को सम्बोधित किया। स्टार अलंकरण समारोह के माध्यम से हरियाणा की 300 से अधिक  पंचायतों को स्टार गांव का दर्जा मिला है। अलंकरण समारोह में पांच और छः स्टार पाने वाली पंचायतों को महामहिम राज्यपाल ने सम्मानित किया। चार स्टार वाले गांवों को मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सम्मानित किया। एक से तीन स्टार पाने वाली पंचायतों को सम्मानित करने के लिए अम्बाला, गुरुग्राम, रोहतक और हिसार में स्वयं पंचायत मंत्री ओमप्रकाश धनखड वे अन्य मंत्रियों ने सम्मानित किया और इस योजना की सभी ने खुले मन से तारीफ की। इस योजना के पहले वर्ष में राज्य के 11 सौ से अधिक गांवों को स्टार मिले हैं। ये गांव अपने सचिवालय पर स्टार लगा सकेंगे। 7स्टार इंद्रधनुष योजना में स्टार पाने वाली पंचायतों को विकास के लिए अलग राशि, स्टार प्लेट प्रदान की गई हैं।

विकास एवं पंचायत तथा कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि गांव देश की सबसे गौरवांवित इकाई है। देश को असली हीरो गांव ही देते हैं और भारत की सच्ची आत्मा गांवों में निवास करती है। आज हरियाणा की 18 प्रतिशत पंचायतें सरकार द्वारा चलाई जा रही सेवन स्टार इंद्रधनुष योजना के तहत स्टार हासिल कर चुकी हैं। जिससे इनमें हो रहे सामाजिक बदलावों के स्पष्ट संकेत मिलते हैं। कृषि मंत्री ने यह बात आज हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के इंदिरा गांधी ऑडिटोरियम में सेवन स्टार इंद्रधनुष योजना के तहत आयोजित मंडल स्तरीय पुरस्कार समारोह को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने, हिसार, फतेहाबाद, सिरसा, जींद व कैथल जिले के 1, 2 व 3 स्टार हासिल करने वाले 149 गांवों को प्रमाण पत्र, शिल्ड व कप भेंट कर सम्मानित किया। कार्यक्रम के दौरान सेवन स्टार रेनबो स्कीम पर बनी डॉक्यूमेंटरी फिल्म भी दिखाई गई। विकास एवं पंचायत मंत्री ने कहा कि विकास की दौड़ में लोग शहरों में आकर बस तो गए लेकिन पिछले दिनों आई एक रागिनी इसकी असलीयत भी बताती है जिसके बोल हैं- सेक्टर आली कोठी मैं मेरा नहीं लागता जी। उन्होंने कहा कि हमें जीवन के लिए जरूरी व आधारभूत वस्तुएं गांव से ही मिलती हैं तथा देश को असली हीरो भी गांव ही देते हैं। उन्होंने उदाहरणों सहित बताया कि परमवीर विजेता, ओलंपिक विजेता, विश्व सुंदरी, बॉलीवुड स्टार और यहां तक कि हमारे सेना प्रमुख भी हमें गांवों से ही मिलते रहे हैं।

उन्होंने कहा कि आज हमें ऐसे शहरों का निर्माण करना होगा जिनमें गांवों की आत्मा बसती हो। श्री धनखड़ ने कहा कि आज हरियाणा की पंचायतें सबसे अधिक युवा, सबसे अधिक शिक्षित तथा सबसे अधिक प्रशिक्षित हैं। हमने अपनी इन संवेदनशील पंचायतों को सामाजिक सरोकारों से जोड़ने की मुहिम शुरू की है जिसके तहत विभिन्न मानकों पर खरा उतरने के लिए उल्लेखनीय कार्य करने वाली पंचायतों को अलग-अलग स्टार दिए जाते हैं। स्टार की संख्या के आधार पर पंचायत प्रतिनिधियों को राजभवन और मुख्यमंत्री निवास पर सम्मानित होने का गौरव तो मिलता ही है, साथ ही विकास कार्यों के लिए खुलकर धनराशि भी दी जाती है। उन्होंने बताया कि पहले पंचायतें गलियां व नालियां बनाने जैसे कार्य करने तक ही सीमित रहती थीं लेकिन हमने ढांचागत विकास के साथ-साथ पंचायतों को सामाजिक सरोकारों व आर्थिक संपन्नता से भी जोड़ा है।  उन्होंने स्टार रेटिड पंचायतों के पंच-सरपंचों से आह्वान किया कि वे अपने स्टारों की संख्या को बढ़ाने के लिए अन्य पहलुओं पर भी खरा उतरने की दिशा में कार्य करें और निश्चय करें कि अगली बार 5, 6 या 7 स्टार हासिल करते हुए राजभवन या मुख्यमंत्री आवास पर सम्मानित होने जाना है।

उन्होंने कहा कि आपने अपने गांव की सेवा करके पूरे प्रदेश में सम्मान प्राप्त किया है। यह आपकी मेहनत व पुरुषार्थ है जिसके चलते आज आपके गांव को नई पहचान मिली है। आपको इस गौरव को और बढ़ाना है। उन्होंने कहा कि पंचायतों को प्रत्येक स्टार के बदले एक लाख रुपये मिलेंगे जिनका उपयोग पंचायतें किसी भी विकास कार्य पर कर सकेंगी। धनखड़ ने कहा कि प्रदेश के सभी गांवों की स्टार स्थिति को ऑनलाइन किया जाएगा। इसके बाद जब कोई व्यक्ति अपनी बेटी का रिश्ता किसी गांव में करेगा तो बेटी पहले ही देख लेगी कि उस गांव को कितने स्टार मिले हैं और किस मामले में उल्लेखनीय कार्य करने पर मिले हैं। बेटियां अपने पिता को कहेंगी कि हमारी शादी उस गांव में करना जिसे ज्यादा स्टार मिले हों। पंचायत मंत्री ने कहा कि गांवों में गौरव का भाव जगाने के लिए सरकार द्वारा हर गांव में गौरव पट्ट लगवाए जा रहे हैं और यह कार्य 15 अगस्त तक पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खरीफ फसलों के समर्थन मूल्य बढ़ाने की घोषणा के माध्यम से देश के किसानों को 3350 करोड़ रुपये की सौगात दी है जिनमें से हरियाणा के किसानों को कम से कम 150 करोड़ रुपये मिलेंगे। इससे किसानों की जेब में और अधिक पैसा आएगा और देश की खुशहाली का मार्ग प्रशस्त होगा।

उन्होंने कहा कि बदलता हुआ हरियाणा देश ही नहीं, विश्व स्तर पर अपनी पहचान बदलेगा। इसके लिए उन्होंने पंचायतों से सहयोग करने और सभी क्षेत्रों में उपलब्धियां हासिल करने का आह्वान किया। विकास एवं पंचायत विभाग के निदेशक संजय जून ने अतिथियों का स्वागत करते हुए सेवन स्टार इंद्रधनुष योजना के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि जानकारी व समय के अभाव में संभवतः कुछ पंचायतें इस वर्ष भागीदारी न कर पाई हों लेकिन अगले वर्ष और अधिक पंचायतें उत्साह के साथ इस प्रतियोगिता में भाग लेंगी।  विकास एवं पंचायत मंत्री ओपी धनखड़ ने 3 स्टार प्राप्त करने वाली फतेहाबाद की 8, हिसार की 9, जींद व कैथल की 1-1 तथा कैथल की 6 पंचायतों को, 2 स्टार प्राप्त करने वाली फतेहाबाद की 4, हिसार की 12, जींद की 17, कैथल की 11 तथा सिरसा की 8 पंचायतों तथा 1 स्टार प्राप्त करने वाली हिसार की 13, जींद की 7, कैथल की 3, सिरसा की 49 ग्राम पंचायतों को सम्मानित किया।
 
जिस मुद्दे को लेकर भूपेंद्र हुड्डा रथ पर चढ़े थे, प्रधानमंत्री ने फसलों के मूल्य बढ़ाकर उस मुद्दे को ही खत्म कर दिया कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि अब भूपेंद्र सिंह हुड्डा अपने रथ से उतर जाएं क्योंकि जिस मुद्दे को लेकर वो रथ पर चढ़े थे, उस मुद्दे को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फसलों के समर्थन मूल्य में 50 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी करके खत्म कर दिया है। वर्तमान सरकार ने स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों से भी आगे बढ़कर किसानों के हित में फसलों के समर्थन मूल्य मे वृद्धि की है। वे आज यहां इंदिरा गांधी ऑडिटोरियम में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। कृषि मंत्री ने कहा कि ये वही हुड्डा हैं जो केंद्र व प्रदेश में कांग्रेस सरकार के दौरान उस कमेटी के अध्यक्ष थे जिसे स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू करना था। उस समय तीन प्रदेशों के मुख्यमंत्री इस कमेटी के सदस्य थे, परंतु इसके बावजूद स्वामीनाथन आयोग के सुझावों को लागू करने में भूपेंद्र हुड्डा ने कोई रूचि नही दिखाई।श्री धनखड़ ने पत्रकारों द्वारा इनेलो पार्टी के साथ कथित अंदरूनी गठबंधन की सुगबुगाहट के संदर्भ मे पूछ गए एक अन्य प्रश्न के उत्तर मे कहा कि भाजपा के पास 52 विधायक हैं और आगे होने वाले चुनावो मे हम फिर से अपने बूते सरकार बनाने में सक्षम होंगे। हमने लोगों के लिए इतने काम किये हैं कि लोगों में भाजपा के प्रति भारी उत्साह है। हमें किसी के साथ गठबंधन करने की आवश्यकता नहीं है।


बाकी समाचार