Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

शुक्रवार, 21 सितंबर 2018

पहला पन्‍ना English लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

कांग्रेस के नेताओं ने षड्यंत्र रचकर हरियाणा को जलाया और एक कौम को पूरी दुनिया में बदनाम किया : कैप्टन अभिमन्यु

समाज के गुनहगारों के चेहरों से नकाब उतरना जरुरी तभी समाज आगे बढेगा और भाईचारा मजबूत होगा.

Congress leaders burnt conspiracy in haryana, Captain Abhimanyu, Jat reservation, Rohtak, naya haryana, नया हरियाणा

14 जुलाई 2018

नया हरियाणा

हरियाणा के वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने कहा की फरवरी 2016 में रोहतक में हुए दंगों और लूटपाट में सीबीआई द्वारा स्पेशल कोर्ट में दायर की गई चार्जशीट को लेकर मीडिया में जो जानकारी आई है उससे साफ हुआ है ये दंगे सुनियोजित तरीके से हुए थे और इनके पीछे एक गहरा राजनीतिक षड्यंत्र था. इस षड्यंत्र में हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र हुड्डा के नजदीकी लोग और कांग्रेस पार्टी के नेता व कार्यकर्ताओं की संलिप्तता साफ़ दिख रही है. वित्त मंत्री चंडीगढ़ में मीडिया द्वारा सीबीआई की चार्जशीट पर पूछे गये सवालों पर प्रतिक्रिया दे रहे थे. उन्होंने कहा कि वे सच्चाई एवं न्याय के लिए प्रयास कर रहे हैं. सभ्य समाज में हिंसा का कोई स्थान नहीं होना चाहिए और किसी को भी क़ानून अपने हाथ में नहीं लेना चाहिए. देश में संविधान और क़ानून का राज है और समाज का भाईचारा बनाए रखना और इसे मजबूत करना हम सबकी जिम्मेदारी है. किसी भी सूरत में अराजकता की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए.

मीडिया से अनौपचारिक बातचीत में वित्त मंत्री ने कहा की समाचार पत्रों में चार्जशीट से जुड़ी खबरों से पता लगा है ये 2016 में हरियाणा के कई जिलों में हुए दंगों में कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं की भूमिका रही है. चार्जशीट से सामने आया है की हरियाणा की सत्ता पलटने के लिए कुछ नेताओं ने हरियाणा को जलाने का षड्यंत्र रचा था. ये वही लोग थे जिनकी कुर्सी 2014 में चली गई थी और इस वजह से ये लोग तिलमिलाए हुए थे और इसके लिए जनता से बदला लेना चाहते थे. चार्जशीट में आरोपियों के तौर पर जो नाम सामने आए हैं वे सीधे तौर पर पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा से जुड़े हुए लोग हैं. 

एक सवाल के जवाब में कैप्टन अभिमन्यु ने कहा की चार्जशीट में शामिल की गई टेलीफोनिक कन्वर्सेशन की ट्रान्सक्रिप्ट पढ़कर रोंगटे खड़े हो जाते हैं की कैसे योजनाबद्ध तरीके से हजारों लोगों की दुकान और मकान जलाए गए. लूटपाट की गई और कई दिनों तक पूरे शहर को बंधक बना लिया गया. किस तरह से एक षड्यंत्र के तहत उकसाई गई भीड़ ने कानून अपने हाथ में लिए और इस दौरान 32 लोगों की मौत भी हुई. यहाँ तक की उनके परिवार को भी जान से मारने की कोशिश की गई. हमारा आवास और परिवार पहले से ही निशाने पर थे इसका भी चार्जशीट में शामिल ऑडियो टेप से खुलासा हुआ है.

कैप्टन अभिमन्यु ने कहा की रोहतक में हुई हिंसा से आरक्षण आंदोलन से जुड़े रहे लोगों का कोई लेना देना नहीं है. इस हिंसा में शामिल लोग कभी भी आरक्षण आन्दोलन का हिस्सा नहीं रहे हैं. पिछले करीब 20 साल से चल रहे आरक्षण आन्दोलन की आड़ लेकर राजनीतिक षड्यंत्र के तहत हरियाणा का माहौल ख़राब किया गया और हिंसा करके जाट समाज को सवालों के घेरे में खड़ा किया गया. हम पूरे हरियाणा के लिए इन्साफ की लड़ाई लड़ रहे हैं और उम्मीद है की सच जल्दी ही सबके सामने आएगा. उन्होंने कहा की बड़े दुःख की बात है की आगजनी और लूटपाट के लिए आपराधिक तत्वों जिम्मेदार हैं जबकि इसकी वजह से पूरे समाज को बदनामी झेलनी पड़ी. समाज पर बदनामी का दाग लगाने वाले राजनीतिक लोग समाज के अपराधी हैं जिन्हें समाज कभी माफ़ नहीं करेगा.

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा की चार्जशीट में पूर्व सीएम हुड्डा के करीबी कृष्णमूर्ति हुड्डा के बेटे गौरव हुड्डा और उनके समय में एडिशनल एडवोकेट जनरल रहे अशोक बल्हारा समेत ऐसे तमाम लोगों के नाम सामने आये हैं जो कांग्रेस के पदाधिकारी रहे हैं. उन्होंने कहा की इस मामले में उनका किसी के भी प्रति कोई द्वेष ना पहले था और ना अब है. वे सिर्फ समाज के गुनाहगारों को बेनकाब करने की लड़ाई लड़ रहे हैं. समाज के भाईचारे के तोड़ने वालों की सच्चाई सभी के सामने आनी चाहिए इससे समाज और भाईचारे को मजबूती मिलेगी.


बाकी समाचार