Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

रविवार, 22 जुलाई 2018

पहला पन्‍ना English लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

बहादुरगढ़ के नफे सिंह राठी शामिल हो सकते हैं इनेलो में

पूर्व विधायक नफे सिंह राठी एक बार लोकसभा चुनाव में भी रोहतक सीट से इलेक्शन लड़ चुके हैं।

Bahadurgarh, Nafe Singh Rathi, INLD, naya haryana, नया हरियाणा

9 जुलाई 2018

नया हरियाणा

बहादुरगढ़ से पूर्व विधायक नफे सिंह राठी एक बार फिर से इनेलो का दामन थाम सकते हैं। 12 जुलाई को विधायक नफे सिंह राठी ने अपने समर्थकों की एक बैठक बुलाई है। जिसके बाद आने वाले विधानसभा चुनाव में वे किस पार्टी में जाएंगे इसका फैसला लिया जाएगा। नफे सिंह राठी का कहना है कि प्रदेश की लगभग हर पार्टी के नेताओं से उनकी बात और मुलाकात हुई है। नफे सिंह राठी का यह भी कहना है कि भाजपा और कांग्रेस से उनके विचार नहीं मिलते। इसलिए इन पार्टियों में बिल्कुल नहीं जाएंगे। तो ऐसे में कयास यही लगाया जा रहा है कि नफे सिंह राठी अपनी घर वापसी कर रहे हैं। यानी नहीं नफे सिंह राठी एक बार फिर से इनेलो में शामिल होने जा रहे हैं। पिछले दिनों पूर्व विधायक नफे सिंह राठी कि इनेलो नेता अजय चौटाला और अभय चौटाला से मुलाकात भी हुई थी। हम आपको बता दें कि पूर्व विधायक नफे सिंह राठी हरियाणा की पूर्व विधायक एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष भी है। पिछले विधानसभा चुनाव में टिकट नहीं मिलने के कारण उन्होंने इनेलो छोड़कर बीजेपी का दामन थामा था। लेकिन जब भाजपा ने भी उन्हें टिकट नहीं दिया तो वे निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर मैदान में उतरे थे। जिसके बाद उन्हें करीब 21 हजार वोट बहादुरगढ़ हल्के से मिले थे। पूर्व विधायक नफे सिंह राठी बहादुरगढ़ हलके से लगातार दो बार विधायक रह चुके हैं।

नफे सिंह राठी एक बार जनता दल से और दूसरी बार इंडियन नेशनल लोकदल से विधायक बने थे। पूर्व विधायक नफे सिंह राठी एक बार लोकसभा चुनाव में भी रोहतक सीट से इलेक्शन लड़ चुके हैं। इतना ही नहीं नफे सिंह राठी दो बार बहादुरगढ़ नगर परिषद के चेयरमैन भी रह चुके हैं। नफे सिंह राठी के इनेलो में आने की संभावनाओं के चलते बहादुरगढ़ के इनेलो नेताओं में भी खलबली मची हुई है। अगर पूर्व विधायक नफे सिंह राठी इनेलो ज्वाइन करते हैं, तो स्थानीय इनेलो नेताओं के मुकाबले पार्टी के लिए एक बड़ा चेहरा बन कर सामने आ सकते हैं।

ऐसे में बहादुरगढ़ हल्के की राजनीति में एक बड़ा परिवर्तन देखने को मिल सकता है। पिछले विधनसभा चुनाव में बहादुरगढ़ हलके में जहाँ इनेलो पार्टी सबसे पिछले पायदान पर रही थी, वो नफे सिंह राठी के वापस आने से चुनाव में अन्य पार्टियों को कड़ी टक्कर देगी। लेकिन नफे सिंह राठी ने फैसला अपने समर्थकों पर छोड़ा है। 12 जुलाई को उनके समर्थक जैसा कहेंगे राठी वैसा ही करेंगे।


बाकी समाचार