Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

मंगलवार, 17 सितंबर 2019

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

जो बेटा(कुलदीप) अपने पिता(भजनलाल) की इज्जत ना करता हो वो जनता की क्या करेगा? : मनोहर लाल खट्टर

कुलदीप बिश्नोई और मनोहर लाल के बीच जुबानी जंग अब भी जारी है.

manohar lal, kuldeep bishnoi, naya haryana, नया हरियाणा

29 जून 2018



नया हरियाणा

करनाल मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने करनाल में जनता दरबार लगाया. उन्होंने वहां 100 शिकायते सुनी. बाकी की शिकायतों का निपटारा करने के लिए अधिकारियो को आदेश दिए हैं. मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि मैने नहीं बोला कि कुलदीप बिश्नोई भजन लाल के सपूत नहीं कपूत है. मामला 2009 का था, जब उन्हें ऑफर दिया गया था. उनके पिता के नाम सेे यह समझौता चल सकता है लेकिन कुलदीप ने कहा था कि मुख्यमंत्री बनूंगा तो सिर्फ मै. इसलिए मैंने कहा कि जो बेटा अपने पिता की इज्जत ना करता हो वो जनता की क्या करेगा?

मुख्यमंत्री के बयान को लेकर कुलदीप बिश्नोई के परिवार ने मुख्यमंत्री पर हमला बोल दिया था. उसके बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अपने बयान को लेकर सफाई दी और गलत इंटरप्रेट करने की बात कही.

आमतौर पर अपने राजनीतिक विरोधियों पर व्‍यक्तिगत हमला करने से बचने वाले हरियाणा के मुख्‍यमंत्री मनोहर लाल ने कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्‍यमंत्री भजनलाल के बेटे कुलदीप बिश्‍नोई पर जोरदार हमला पिछले दिनों बोला। कुलदीप बिश्‍नोई के गढ आदमपुर में मुख्‍यमंत्री ने चौधरी भजनलाल को जननेता बताया वहीं कुलदीप बिश्‍नोई को अपने बाप की खिलाफत करने वाला बेटा घोषित कर दिया। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि कुलदीप बिश्‍नोई सपूत नहीं हैं। उनके इस हमले से कुलदीप समर्थक भले ही लाल-पीले हो रहे हों लेकिन हरियाणा कांग्रेस के किसी भी बड़े नेता को मुख्‍यमंत्री खट्टर के इस बयान से गुस्‍सा नहीं आया है।

कुलदीप पर मुख्‍यमंत्री के इस निजी हमले के कई अर्थ निकाले जा रहे हैं। कुछ राजनीतिक जानकारों का कहना है कि मुख्‍यमंत्री और भाजपा को यह पता था कि कुलदीप पर किए गए किसी भी निजी वार से कुलदीप को बचाने कांग्रेस का कोई भी बड़ा नेता नहीं आएगा। भाजपा कुलदीप समर्थकों को यह संदेश देना चाहती है कि कांग्रेस में कुलदीप अलग-थलग पड़ गए हैं। उनका कांग्रेस में जाने का फैसला गलत था और उन्‍हें वहां कुछ हासिल नहीं होगा।


बाकी समाचार