Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

मंगलवार, 17 सितंबर 2019

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

तंवर ने दिए संकेत, हुड्डा खेमे की कट सकती हैं टिकट!

कांग्रेस की खेमेबाजी का असर टिकट वितरण पर पड़ना तय लग रहा है.

Ashok Tanwar, Bhupindra Hooda, Kumari Selja, Randeep Surjewala, Kuldeep Bishnoi, Haryana Congress, naya haryana, नया हरियाणा

29 जून 2018



नया हरियाणा

हरियाणा की कांग्रेस इकाई ने लोकसभा और विधानसभा चुनाव को लेकर तैयारियां शुरू कर दी है।वीरवार को चंडीगढ़ में पार्टी प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर ने सभी 90 हलकों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर चुनावी रणनीति के खाके पर चर्चा की। हालांकि इस बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा व उनका खेमा गैरहाजिर रहा। इतना ही नहीं कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी व कांग्रेस के तमाम दूसरे धड़े भी बैठक में दिखाई नहीं दिए। डॉ अशोक तंवर ने कहा कि पार्टी ने 7 मानक तय किए हैं उन पर खरा उतरने वाले ही टिकट के हकदार होंगे।

लोकसभा और विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस की हरियाणा इकाई ने रणनीति पर काम शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर ने वीरवार को चंडीगढ़ में सभी 90 हलकों से प्रमुख कार्यकर्ताओं की बैठक ली। इस बैठक में संभावित उम्मीदवारों या टिकटार्थियों को ही आमंत्रित किया गया था। हालांकि इस मौके पर भी कांग्रेस की गुटबाजी साफ तौर पर नजर आई। प्रदेश कांग्रेस के विधायक बैठक से नदारद रहे और पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के खेमे का कोई भी नेता बैठक में नजर नहीं आया। इसके अलावा कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी कांग्रेस नेता कुलदीप बिश्नोई रणदीप सुरजेवाला के लोग बैठक में दिखाई नहीं दिए। इस बैठक में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष डॉ अशोक तंवर के समर्थक ही नजर आए। इस बैठक में उन्होंने प्रदेश भर से आए पार्टी नेताओं के साथ लंबी चर्चा की।

बेशक लोकसभा और विधानसभा चुनाव 2019 में होने हो लेकिन कांग्रेस को आशंका है कि सरकार इन चुनावों को मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ और राजस्थान के विधानसभा चुनाव के साथ भी करवा सकती है पार्टी प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर अशोक तवर ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी राहुल गांधी के नेतृत्व में चल रहे जलजले से डर गई है इसलिए इन तीनों राज्यों के विधानसभा चुनाव में हार को देखते हुए भाजपा अक्टूबर में भी लोकसभा के चुनाव करवा सकती है ।डॉक्टर अशोक तवर ने कहा कि बड़ी संख्या में लोग कांग्रेस में शामिल होने के लिए तैयार हैं भाजपा और इंडियन नेशनल लोकदल के कई पूर्व विधायक और पूर्व सांसद उनके संपर्क में है जैसे ही पार्टी प्रभारी का नाम तय होगा उन्हें पार्टी में शामिल करवाया जाएगा ।डॉ अशोक तंवर ने कहा कि लोगों का कांग्रेस के प्रति विश्वास बढ़ा है उन्होंने 4 साल तक लोगों के बीच जाकर संघर्ष किया है ।अशोक तंवर ने आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी के विधायकों को एक-एक करोड़ों रुपए इकट्ठे करने का लक्ष्य दिया गया है ।उन्होंने आरोप लगाया कि इंडियन नेशनल लोकदल की शैली में उद्योगपतियों और व्यापारियों से इकट्ठा किया जाएगा अशोक तंवर ने भाजपा और इनेलो दोनों को निशाने पर लेते हुए कहा कि कांग्रेस ही लोगों की समस्याओं का समाधान कर सकती है ।उन्होंने कहा कि पार्टी ने टिकट के लिए 6-7 क्राइटेरिया तय किए हैं जो इन पर खरा उतरेगा उन्हीं को टिकट दिए जाएंगे सूरजकुंड में होने वाली बैठक में इस पर व्यापक चर्चा होगी। डॉक्टर अशोक तवर ने लगे हाथ यह भी कह डाला भ्रष्टाचार कांग्रेस रोकेगी और भ्रष्टाचार को अंजाम देने वालों को जेल भेज जाएगा।

उधर हाल में कांग्रेस का दामन थामने वाले पूर्व आईएएस अधिकारी प्रदीप कासनी ने अशोक तंवर की जोरदार पैरवी करते हुड्डा खेमे पर निशाना साधा और कहा कि जो लोग दिल से प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर को को मान्यता नहीं देते उन्हे संगठन में रहने का कोई अधिकार नहीं है।कांग्रेस ने चंडीगढ में हुई बैठक के साथ ही चुनावी बिगुल फूंक दिया हैलेकिन कांग्रेस की बड़ी चुनौती दूसरे विरोधी दलों के साथ साथ खुद कांग्रेस के अंदर से है ।अगर धड़ों में बंटी कांग्रेस जल्द एक मंच पर नहीं आई तो फिर चाहे पार्टी कितना ही जोर लगा ले चुनाव जीतना आसान नहीं होगा।

अशोक तंवर ने संकेत दिए हैं कि हुड्डा खेमे की टिकट कटने की संभावनाएं हैं। अशोक तंवर और हुड्डा खेमे के बीच कई बार मारपीट तक की नौबत आ चुकी है, ऐसे में हुड्डा खेमे के टिकट के दावेदारों की टिकट कटने की संभावना अधिक है।


बाकी समाचार