Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

बुधवार, 19 सितंबर 2018

पहला पन्‍ना English लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

कुलदीप की पीठ में छुरा घोंपकर दुर्घटनावश मुख्यमंत्री बने मनोहरलाल : रेणुका बिश्नोई

रेणका बिश्नोई ने कहा कि सपूत, कपूत की बात करना परिवार वालों को शोभा देता है.

Manohar Lal, Kuldeep bishnoi,  Renuka Bishnoi, naya haryana, नया हरियाणा

25 जून 2018

नया हरियाणा

अपने असफल कार्यकाल की हो रही जग हंसाई, आगामी चुनावों में भाजपा के दिख रहे सफाए से बौखलाए हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर अनाप-शनाप झूठी बयानबाजी और निजी हमलों की तुच्छ राजनीति पर उतर आए हैं। बगैर इतिहास की जानकारी रखे वे तथ्यहीन बातें कर रहे हैं, जिससे साबित हो गया है कि वे कितनी घबराहट में हैं। भाजपा के साथ हजकां का गठबंधन 2011 में चौ. भजनलाल के स्वर्गवास के बाद हुआ था और 2014  लोकसभा चुनावों तक भाजपा के हर बड़े नेता ने कुलदीप बिश्नोई को सीएम प्रोजेक्ट किया था। कुलदीप बिश्नोई की मेहनत और हजकां संगठन के सहारे भाजपा प्रदेश की सत्ता पर तो काबिज हो गई, लेकिन धोखेबाजी के अपने इतिहास को ही आगे बढ़ाते हुए उन्होंने प्रदेश की जनता के साथ भी धोखा किया, जिस कारण आज प्रदेश के हर कौने और 36 बिरादरी में उनकी सरकार के खिलाफ भारी रोष है। जनता के आक्रोश और कुलदीप बिश्नोई से दिख रहे संभावित खतरे को भांपकर ही वे आदमपुर में आकर ऐसी ओच्छी बयानबाजी कर रहे हैं। मुख्यमंत्री को वे इतना ही कहना चाहती हैं कि अपने नाम के आगे से खट्टर हटाकर वे चौ. भजनलाल की बराबरी नहीं कर सकते। यह बात विधायक रेनुका बिश्नोई ने मुख्यमंत्री के जवाब में आदमपुर में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कही। 

       रेनुका बिश्नोई ने कहा कि कुलदीप बिश्नोई की पीठ में छुरा घोंपकर राजनीतिक दुर्घटनावश मुख्यमंत्री बन बैठे मनोहर लाल खट्टर जान लें कि जो उन्हें सत्ता में लाना जानते हैं, वही व्यक्ति उनको उतारना भी जानते हैं। आगामी चुनावों में कांग्रेस पार्टी व कुलदीप बिश्नोई जनता के आशीर्वाद से भाजपा का प्रदेश से सफाया करेंगे। जो व्यक्ति मुख्यमंत्री रहकर भी अगला चुनाव जीतने के लिए दूसरा हलका तलाश रहा हो, वह कुलदीप बिश्नोई की क्या बराबरी करेगा, जिन्होंने अपने संघर्ष, ईमानदारी व सिद्धांतों की राजनीति से दो लोकसभा, तीन विधानसभा चुनाव जीतकर राज्य की राजनीति में अपने आपको स्थापित किया है। प्रदेश की जनता और वे इस बात की गवाह हंै कि कुलदीप बिश्नोई ने विधानसभा, लोकसभा से लेकर हर मंच से आदमपुर, हिसार समेत पूरे हरियाणा की आवाज उठाई है और आगामी सत्र में तथ्यों के साथ कुलदीप बिश्नोई मनेाहर लाल से विभिन्न मुद्दों पर जवाब मांगेगे। रेनुका ने कहा कि मनोहर लाल खट्टर हरियाणा में अब तक के सबसे असफल मुख्यमंत्री साबित हुए हैं। उन्हें हरियाणा के सामाजिक, राजनीतिक और भूगोल का कोई ज्ञान नहीं है। 4 वर्षों में उन्होंने आदमपुर, हिसार सहित हरियाणा का न विकास किया और न ही युवाओं को रोजगार दिया। हर वर्ग उनकी सरकार के खिलाफ आंदोलनरत है। इसलिए उनके पास बोलने को कुछ नहीं था। असल मुद्दों से जनता का ध्यान हटाने के लिए वे इस तरह की बयानबाजी कर रहे हैं। उनके कार्यकाल में तीन बार हरियाणा को जलाया गया, जिसमें सैंकड़ों लोग मारे गए और भारी आर्थिक हानि जनता की हुई। मुख्यमंत्री को अगर इतनी ही हिसार जिले की चिंता है तो उनकी सरकार में हो रहे भेदभाव को दूर करके यहां की गई घोषणाओं को पूरी करवाए। मुख्यमंत्री ने आदमपुर में पिछले दौरे के दौरान 180 करोड़ रूपए की घोषणाएं की थी, जिनमें से 10 प्रतिशत भी पूरी नहीं हुई और कल एक बार फिर से झूठी घोषणाओं का अंबार लगाकर वे चले गए। 

       रेनुका बिश्नोई ने कहा कि प्रदेश भर से कराए गए सर्वे में जब मुख्यमंत्री को दिखा कि सभी 10 लोकसभा सीटों व विधानसभा से भाजपा का सफाया होने जा रहा है तो वे इतने बौखला गए कि निजी हमलों पर उतर आए। सपूत, कपूत की बात करना परिवार वालों को ही शोभा देता है, मुख्यमंत्री जैसे गरिमामयी पद पर होते हुए आदमपुर की महान धरती पर आकर ऐसी बयानबाजी मनोहर लाल खट्टर के मानसिक दिवालियएपन का सबूत है। ये प्रदेश की जनता का दुर्भाग्य है कि उन्हें ऐसा मुख्यमंत्री मिला है जो इतिहास व तथ्यों की जानकारी न रखने वाला मंदबुद्धि है। उन्होंने कहा कि जो ज्ञानी होता है, उसे समझाया जा सकता है। जो अज्ञानी होता है, उसे भी समझाया जा सकता है, लेकिन मंदबुद्धि को कोई कैसे समझाए।


बाकी समाचार