Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

गुरूवार, 21 नवंबर 2019

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

लालू प्रसाद यादव ने आपातकाल के एक्ट पर रखा बेटी का नाम मीसा!

उक्त कानून 1977 में मोरारजी देसाई के नेतृत्व वाली जनता पार्टी सरकार द्वारा निरस्त कर दिया गया था।

Lalu Prasad Yadav, Act of Emergency Misa, naya haryana, नया हरियाणा

25 जून 2018



नया हरियाणा

आपने लाू प्रसाद यादव की बेटी का नाम सुना होगा-मीसा. आइये आज आपको इस नाम के पीछे की कहानी बताते हैं. मीसा नाम वैसे ही नहीं रखा गया है. आपातकाल में लालू जब जेल में थे। उस समय उनकी बड़ी बेटी का जन्म हुआ था। इसी कारण लालू यादव ने अपनी बड़ी बेटी का नॉन मेंटेनेंस ऑफ इंटरनल सिक्योरिटी एक्ट (मीसा) रखा था क्योंकि लालू यादव इसी एक्ट के तहत जेल में कैद थे। हालांकि मीसा भारती के बारे में यह भी कहा जाता है कि जब उनका जन्म हुआ था तो बिहार के सबसे पहले मुख्यमंत्री श्रीकृष्ण सिंह ने उनका नाम मीसा भारती रखा था।

Maintenance of Internal Security Act 1971 - (MISA) आंतरिक सुरक्षा अधिनियम 1971-- उपरोक्त विवादास्पद कानून 1971 मे भारत की संसद में पारित कानून था। (श्रीमति इन्दिरा गांधी के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा पारित किया गया था) जिसमे व्यक्तियों की अनिश्चित कालीन निवारक बंदी (जेल में बन्द रखने) बिना वारंट खोज एवं संपत्ति की जप्ति, टेलीफोनिक वार्तालाप सुनने, रिकार्डिंग करने (वायरटेपिंग) के अधिकार शासन एवं पुलिस को दिये गए थे। भारतीय कानून प्रवर्तन एजेंसियो को सुपर शक्तियों के उपयोग की छूट थी । बिना न्यायालयीन परीक्षण किसी भी नागरिक को बंदी बनाने, अनिश्चित कालीन अवधि तक जेल मे बन्द रखने की छूट इस कानून के तहत दी गई थी ।

पुलिस बर्बरता, अत्याचारों के विरुद्ध आवाज उठाने की अनुमति नहीं थी। नागरिक स्वतन्त्रता समाप्त कर न वकील, न दलील, न अपील ऐसे प्रावधान किए गए । इस मीसा कानून एवं डिफेंस इंडिया रूल (DIR )का भीषण दुरुपयोग आपातकाल के दौरान 25 जून 1975 से 21 मार्च 1977 तक राजनैतिक असंतोष का दमन करने के लिए किया गया । इस दौरान मीसा कानून में अनेक संशोधन राजनीतिक स्वार्थो को पूरा करने के लिए किए गए ।

(नोट ? उक्त कानून 1977 में मुरारजी देसाई के नेत्रत्व वाली जनता पार्टी सरकार द्वारा निरस्त कर दिया गया।)


बाकी समाचार