Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

रविवार, 22 जुलाई 2018

पहला पन्‍ना English लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

विकास में नहीं अपराध में नम्बर 1 हो गया है हरियाणा : दीपेंद्र हुड्डा

प्रदेश में बढ़ती आपराधिक घटनाएं जनता की चिंताओं को बढ़ा रही हैं।

Manohar lal, deependra singh hooda, naya haryana, नया हरियाणा

20 जून 2018

नया हरियाणा

 

 
कलानौर और सांपला में हुई जघन वारदात और प्रदेश में बेकाबू हो चुके अपराध और अपराधियों के बढ़े हुए मनोबल पर गहरी चिंता जताते हुए सांसद दीपेन्द्र हुड्डा ने कहा कि बेख़ौफ़ घूम रहे अपराधी एक के बाद एक दर्दनाक और दिल दहला देने वाली वारदातों को अंजाम देकर पूरी मानवता को कलंकित करने का काम कर रहे हैं और असहाय सरकार केवल लकीर पीटने का काम कर रही है। सांसद ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि पुलिस प्रशासन तुरंत अपराधियों को गिरफ्तार करे। उन्होंने बताया कि हुड्डा सरकार में अपराधी हरियाणा से उत्तरप्रदेश पलायन करते थे अब उत्तरप्रदेश से हरियाणा में पलायन कर रहे है। कमजोर और नकारा सरकार के कारण रिकार्डतोड़ अपराध से समाज का हर वर्ग दहशत में।

सांसद ने कहा प्रदेश में खत्म हो चुकी कानून-व्यवस्था और लोगों में सुरक्षा की भावना को दोबारा स्थापित करने के लिये अपराध और अपराधियों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई करे। हरियाणा में आये दिन हो रही हत्या, लूट और बलात्कार की बढ़ती घटनाओं से भय का माहौल है। अपराध को अंजाम देने वाले अपराधी किसी भी सूरत में बचने नहीं चाहिए और उनको कानून के तहत ऐसी कठोरतम सजा मिलनी चाहिए। सांसद ने कहा कि अपनी कमजोर इच्छा शक्ति और दूरदर्शिता की कमी की वजह से यह सरकार नागरिक को सुरक्षा देने में पूरी तरह नाकाम साबित हुई है।

हुड्डा सरकार के समय बदमाशों का सफाया कर दिया गया था, बदमाश हरियाणा से पलायन कर गये थे और हरियाणा विकास के मामलों में दिन प्रतिदिन देश में नये आयाम स्थापित कर रहा था लेकिन भाजपा सरकार के पिछले चार सालों के कार्यकाल में विकास तो हुआ नहीं, अपराध में हरियाणा नम्बर वन हो गया। हरियाणा में एक के बाद एक हो रही जघन्य वारदातों ने बुरी तरह से चरमरायी कानून-व्यवस्था की पोल खोल कर रख दी है और इसके चलते समाज के हर वर्ग में दहशत का माहौल है। नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के जारी आंकड़ों में केंद्र सरकार ने खुद माना है कि अब हरियाणा में कानून-व्यवस्था के हालात बेपटरी हो चुके हैं और अपराध रिकॉर्ड स्तर पर है। जबकि प्रदेश सरकार बढ़ते अपराध और बिगड़ती कानून-व्यवस्था के प्रति आंखे मूंद कर बैठी है। नाकाम सरकार की निष्क्रियता का खामियाजा प्रदेश के भोले भाले लोगों को भुगतना पड़ रहा है।

दीपेन्द्र ने यह भी कहा कि लगातार हो रही आपराधिक घटनाओं से साबित होता है कि प्रदेश में सरकार नाम की कोई चीज नहीं है। सरकार के धुल-मुल रवैये से एसा लगता है सरकार से अपराधी नहीं, सरकार अपराधियों से डरी हुई है और अपराधियों के सामने एक तरह से नतमस्तक हो गई है। प्रदेश में जंगलराज का आलम है। ऐसा कोई दिन नहीं जाता जब अखबारों के पन्ने हत्या, बलात्कार, अपहरण, लूट, रंगदारी और दबंगई की खबरों से न पटे हों। हमारे प्रदेश में आज बच्चे न तो स्कूल में सुरक्षित हैं, न ही अपने घरों में सुरक्षित हैं। सरकार की जिम्मेदारी बनती है कि वो अपने नागरिकों को सुरक्षा दे लेकिन भाजपा सरकार इस जिम्मेदारी को निभा पाने में बुरी तरह से नाकाम साबित हुई है। बढ़ते अपराध सरकार की प्रशासनिक विफलता और कानून-व्यवस्था सुदृढ़ करने के प्रति कमजोर इच्छा शक्ति को दर्शाते हैं।


बाकी समाचार