Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

बुधवार, 13 नवंबर 2019

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

राजनीति में राहुल गांधी का राहु काल!

राजनीति में मोदी को भी कोई पद 52 साल की उम्र में मिला था।

Rahul gadhi birthday, naya haryana, नया हरियाणा

19 जून 2018



अमित चतुर्वेदी

14 साल की उम्र में अपनी दादी की हत्या और 21 साल की उम्र में अपने पिता के चीथड़े देखने वाले राहुल गांधी चाहते तो UPA-2 के कार्यकाल में ही प्रधानमंत्री बन सकते थे, वो अगर राजनीति में न भी आते तो भी देश के सबसे ताक़तवर लोगों में शुमार होते, लेकिन उन्होंने राजनीति में आना चुना क्योंकि वो जानते थे कि अगर गांधी न होंगे तो कोंग्रेस भी नहीं बचेगी..आप उनसे असहमत हो सकते हैं, उनके आलोचक हो सकते हैं, लेकिन वो एक सौम्य व्यक्ति हैं इस बात से असहमत नहीं हो सकते...

राजनीतिक प्रतिद्वंद्विता अपनी जगह है, वो शायद राजनैतिक रूप से अभी उतने परिपक्व भी नहीं, उनकी पार्टी अभी तक के सबसे ख़राब दौर से गुज़र रही है, या कह सकते हैं कि अपना बुरा समय गुज़ार रही है, लेकिन जैसे किसी भी लिक्विड का बेस वॉटर होता है, वैसे ही इस देश की राजनीति का आधार कोंग्रेस है, जब कुछ नहीं था तो कोंग्रेस थी, और लोग जब सभी को आज़मा चुके होंगे तो भी कोंग्रेस ही होगी।

राहुल के पास अभी उम्र है, 19 भी अगर हार गए तो 2024 में भी वो 54 साल के ही होंगे और राजनीति में 54 साल एक तरह से कम उम्र ही कहलाती है..मोदी जी भी पहली बार किसी पद पर 52 साल की उम्र में ही पहुँचे थे...

इसीलिए तमाम राजनैतिक बंधनों से परे हटकर आज राहुल गांधी को उनके 48 वें जन्मदिन की बधाई एवं शुभकामनाएँ दीजिए...

 


बाकी समाचार