Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

शनिवार, 14 दिसंबर 2019

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

सीएम सिटी करनाल में छापा मारने गए बिजली कर्मियों को बनाया बंधक

इस गांव का लाइन लोस 50 प्रतिशत से ज्यादा बताया जा रहा है. गांव वाले कानून को हाथ में लेते नहीं घबराते.

 CM City Karnal, naya haryana, नया हरियाणा

28 मई 2018



नया हरियाणा

आखिर ऐसा क्यों होता है कि गांव वाले बिजली चोरी भी करें और सीना जोरी भी करें. आखिर उन्हें कानून को हाथ में लेते हुए डर क्यों नहीं लगता.

बिजली चोरी का छापा मारना और बिजली चोरी गांव में पकड़ना बिजली विभाग की टीम को  महंगा पड़ा. तड़के  5 बजे के करीब बिजली विभाग की टीम गांव शेखपुरा जागीर(करनाल) में छतों की दीवार कूदकर घरों में बिजली चोरी का छापा मारने गई थी लेकिन उन्हें क्या पता था यह कदम उठाना उन्हें महंगा पड़ जाएगा और उन्हें कमरे मै बंद होना पड़ेगा ! मामला करनाल के गाव शेखपुरा जागीर का है. जहां पर अभी तक बिजली कर्मी जाटों की चोपाल के कमरे में बंद है. बाहर पुलिस कर्मी है लेकिन वो भी मूकदर्शक बने हुए है क्यूंकि ग्रामीण भारी संख्या में मौके पर मौजूद है ! ग्रामीणों का आरोप है कि गाँव में पहले ही बिजली नहीं आती है, परसों रात को भी गांव में बिजली नहीं आई और यह बिजली कर्मी घरों की छत कूदकर घरों में छापा मारने पहुंच जाते हैं. हमारी भी कोई प्राईवेसी है ! हमारी टीम ने भी बहुत मुश्किल से यह खबर कवर की ग्रामीणों में भारी गुस्सा भरा हुआ था !

 वही बिजली विभाग के कर्मियों का  कहना है कि सूचना मिलने पर 5 बजे के करीब बिजली चोरी का छापा मारने गांव गए थे, हम यहां गांव में पहुंचे थे लेकिन हमें धक्का देकर पहले मारपीट कर इस कमरे में बंद कर दिया और हमारे फोन भी हमसे छीन लिए गए, हमने अपने एक फोन से कैसे तैसे करके अधिकारियों को फोन किया हुआ है और 3 घंटे होने वाले है कमरे में बंद को. इस गांव के लाइन लोस 50 परसेंट से ज्यादा है! 7 के करीब बिजली कर्मी अंदर कमरे में बंद है. जिसमें दो  जेई भी शामिल है ! अब ग्रामीणों के खौफ के मारे बिजली कर्मियों ने अब अंदर से कमरे को कुंडी लगाई हुई है ताकि हमारे साथ कोई अंदर घुसकर मारपीट ना हो सके. वही पुलिस भी मौके पर पहुंची हुई है लेकिन कुछ नहीं कर पा रही है ! जब यह वाक्या हुआ तब पुलिस के कुछ सिपाही भी बिजली विभाग की टीम के साथ थे लेकिन वह कुछ ना कर पाए, ग्रामीणों की माने तो ग्रामीणों का कहना है कि हम तो बाहर आने दे रहे है लेकिन यह खुद ही नहीं आ रहे बाहर. अंदर से कमरे को कुंडी लगाए हुए है !


बाकी समाचार