Web
Analytics Made Easy - StatCounter
Privacy Policy | About Us

नया हरियाणा

मंगलवार, 23 जनवरी 2018

पहला पन्‍ना English देश वीडियो राजनीति अपना हरियाणा शख्सियत समाज और संस्कृति आपकी बात लोकप्रिय Faking Views समीक्षा

'बोल हरियाणा' का आयोजन सफल, बाधाएं पहुंचाने वाली शक्तियां हुई नाकाम

'बोल हरियाणा' हरियाणा का एक ऐसा मंच है, जो अपने प्रयासों से सांस्कृतिक जागरण का अग्रदूत बनकर उभर रहा है और युवाओं को एक मंच भी उपलब्ध करवा रहा है। जिससे खार खाए हुए बागड़-बिल्ले अपनी हरकतों के माध्यम से बाधाएं खड़ी करने लगे हुए हैं।


 bol haryana ke news vebsite ka hua saphal ayojan, badhaen pahunchane vali shaktiyan hue nakam, naya haryana

30 अक्टूबर 2017

नया हरियाणा

बोल हरियाणा : हरियाणा का एक ऐसा मंच है, जो अपने प्रयासों से सांस्कृतिक जागरण का अग्रदूत बनकर उभर रहा है और युवाओं को एक मंच भी उपलब्ध करवा रहा है। जिससे खार खाए हुए बागड़-बिल्ले अपनी हरकतों के माध्यम से बाधाएं खड़ी करने लगे हुए हैं।

बोल हरियाणा टीम सांस्कृतिक जागरण की ओर निरंतर कदम बढ़ाते हुए चल रही है। बोल हरियाणा रेडियो और बोल24 न्यूज वेबपोर्टल के माध्यम से हरियाणा की संस्कृति से विकसित करने का भरसक प्रयास कर रही है तथा इसके साथ-साथ युवा प्रतिभाओं को अपने मंच के माध्यम आगे बढ़ाने का काम भी कर रही है। इन्हीं प्रयासों की कड़ी में बोल24 न्यूज पोर्टल को लांच किया गया। जिसका आयोजन महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय के प्रांगण में किया गया। इस आयोजन में यूनीवर्सिटी से जुड़े हरियाणा के तथाकथित पदाधिकारियों ने प्रायोजित तरीके से आयोजन को असफल करने की तमाम कोशिशें की। जबकि पूरी टीम ने धैर्य के साथ तमाम बाधाओं को निपटारा किया। 

सूत्रों के हवाले से खबर मिली है कि इस साजिश के पीछे रोहतक के दो बड़े कलाकारों का हाथ है। पब्लिक स्पेस में वैसे ये दोनों एक-दूसरे के दुश्मन है, परंतु इस घटिया काम में दोनों एक हो गए। इनके इस घृणित कर्म की सोशल मीडिया पर काफी आलोचनाएं भी हो रही हैं। खबर की प्रामाणिक पुष्टि न होने के कारण हम नाम नहीं लिख रहे हैं।

 bol haryana ke news vebsite ka hua saphal ayojan, badhaen pahunchane vali shaktiyan hue nakam, naya haryana

 bol haryana ke news vebsite ka hua saphal ayojan, badhaen pahunchane vali shaktiyan hue nakam, naya haryana

 bol haryana ke news vebsite ka hua saphal ayojan, badhaen pahunchane vali shaktiyan hue nakam, naya haryana

बोल हरियाणा की टीम सांस्कृति जागरण की जिस मुहिम को लेकर चल रही है, उसे हरियाणा की सारी जनता का प्यार और समर्थन मिल रहा है। उसे कुछ लोग हजम नहीं कर पा रहे हैं। परंतु जनता का प्यार जिसके साथ हो, उन्हें कोई रोक नहीं सकता। आज भले ही उनका नाम कम लोग जानते हों, पर ऐसे संस्कृति के दुश्मनों को जनता जल्दी ही पहचान लेगी और उनकी इन गंदी हरकतों के लिए उन्हें शर्मिंदा करेगी. बोल हरियाणा की पूरी टीम को सफल आयोजन के लिए बधाई!

 bol haryana ke news vebsite ka hua saphal ayojan, badhaen pahunchane vali shaktiyan hue nakam, naya haryana

बोल हरियाणा संसार में हरियाणवी कला, संस्कृति और दैनिक जीवन की खुशहाली का आइना प्रस्तुत कर रहा है। इसके माध्यम से प्रदेश भर के अनेक कलाकार अपनी प्रतिभा विश्व पटल पर प्रदर्शित कर रहे हैं। ये कहना है सोनीपत से सांसद रमेश कौशिक का। वे रविवार को महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय में आयोजित बोल हरियाणा के सांस्कृतिक कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि बोल रहे थे। वहीं आम आदमी पार्टी के हरियाणा प्रदेश प्रभारी नवीन जयहिंद ने बोल हरियाणा को हरियाणवी सभ्यता का सशक्त माध्यम बताया। इस अवसर पर सांसद रमेश कौशिक ने बोल हरियाणा को 11 लाख रुपये पुरस्कार देने की घोषणा की। सांस्कृतिक  कार्यक्रम का शुभारंभ राम और लक्ष्मण दशरथ के बेटे लोकप्रिय नाटक से हुआ। जिसे बोल हरियाणा से जुड़ी गैर व्यवसायी महिला कलाकारों प्रोमिला सहारन, सुमन सेन और उनकी साथियों द्वारा प्रस्तुत किया गया। इसके बाद उभरते कलाकार हिंदू और योगेश वत्स ने शानदार रागनी प्रस्तुत की। हरियाणवी नृत्य की मनोरम प्रस्तुति धवल सैनी, अंकित, अनिल, नीरज, लोकेश, राहुल हुड्डा और आदर्श पाराशर के साथ प्राची, ज्योति, अदिति, मोनिका, ऋतु और पूजा ने दी।

 bol haryana ke news vebsite ka hua saphal ayojan, badhaen pahunchane vali shaktiyan hue nakam, naya haryana

करनाल से आए ईश्वर शर्मा और सुदेश शर्मा ने कर्णप्रिय रागनियां पेश की। वहीं सबिया भारती, गुलाब सिंह और सोमवीर की प्रस्तुति भी मनभावन रही। जींद से आए अमित ढुल और राममेहर मेहला के गीतों ने दर्शकों को नाचने पर बाध्य कर दिया। कार्यक्रम का निर्देशन अनिल बागड़ी ने किया। बोल हरियाणा से जुडे मनु पाराशर, जोगेंद्र बड़क और ऋतु ने युवा पीढ़ी को हरियाणवी संस्कृति से जुड़कर संसार भर में इसके प्रचार प्रसार के लिए प्रयत्नशील रहने की प्रेरणा दी। कार्यक्रम का सफलतापूर्वक संचालन भूमिका शर्मा और डा. आनंद शर्मा ने किया। कार्यक्रम में डा. जसफूल सिंह, डा. रणवीर दहिया, मुक्ता शर्मा, धर्मपाल मलिक, युद्धवीर मलिक, बिजेंद्र वशिष्ठ, राजबाला सांगवान, डा. सुनीता मल्हान और अन्य अनेक छात्र-छात्राएं उपस्थित रही।
 


बाकी समाचार