Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

बुधवार, 11 दिसंबर 2019

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

रेवाड़ी के पुष्पांजलि हॉस्पिटल की लापरवाही, 25 वर्षीय युवक की इलाज के दौरान मौत

परिजनों ने लगाया अस्पताल पर इलाज में लापरवाही का आरोप

Pushpanjali Hospital Rewari, naya haryana, नया हरियाणा

22 मई 2018



नया हरियाणा

रेवाड़ी के अस्पतालों में लापरवाही के आरोप लगने के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। आए दिन किसी न किसी अस्पताल पर परिजनों द्वारा इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगना अब आम बात हो गई है। हाल ही में शहर के कैप्टन नंदलाल हॉस्पिटल का मामला थमा भी नहीं था कि आज फिर पुष्पांजलि अस्पताल पर परिजनों ने लापरवाही बरतने का आरोप जड़ दिया।

दरअसल हुआ यूं कि जिले के गांव खंडोड़ा निवासी 26 वर्षीय एक युवक निजी कंपनी की गाड़ी चलाता था। दिल्ली-जयपुर हाईवे स्थित कसौला चौक के समीप किसी तेज रफ्तार ट्राला ने टक्कर मार दी, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। परिजन पहले तो उसे रेवाड़ी के ट्रामा सेंटर लेकर पहुंचे, लेकिन वहां उसकी हालत बिगड़ती देख परिजनों ने उसे पुष्पांजलि अस्पताल में भर्ती करा दिया।

परिजनों का आरोप है कि वहां मौजूद चिकित्सक घायल का इलाज करने की बजाय स्ट्रेचर पर पड़े घालय युवक की मोबाइल से तस्वीरें लेने लगे। काफी देर तक जब इलाज शुरू नहीं किया गया तो मरीज की हालत बिगडऩे लगी। तब कहीं जाकर उसे इलाज के लिए हॉस्पिटल के अंदर ले जाया गया, लेकिन कुछ देर बाद ही उसकी मौत हो गई। उनका आरोप है कि अस्पताल में पूरी तरीके से इलाज में लापरवाही बरती गई है। अगर समय पर घायल का इलाज शुरू कर दिया जाता तो उसकी जान बच सकती थी। अब परिजनों ने लापरवाही की बरतने की शिकायत पुलिस को दे दी है।

अब इसे लेकर अस्पताल के चिकित्सक जहां इसे छोटी-मोटी घटना बताकर अपनी सफाई दे रहे हैं। वहीं पुलिस का कहना है कि वे तो घटना के मुताबिक कार्यवाही कर रहे हैं। जहां तक इलाज में लापरवाही का सवाल है तो अस्पताल उनके थाना क्षेत्र में नहीं आता। इसलिए इस बारे में वे कोई कार्यवाही नहीं कर सकते।

हम आपको बता दें कि इस अस्पताल का यह कोई पहला मामला नहीं है, जब परिजनों ने अस्पताल पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है। इससे पहले भी कई बार यह अस्पताल ऐसे मामलों को लेकर सुर्खियों में रहा है, लेकिन आज तक अस्पताल पर कोई कार्यवाही नहीं हुई है। अगर कार्रवाई हुई होती तो आए दिन लोग इस तरह के आरोप नहीं लगाते।


बाकी समाचार