Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

शनिवार, 23 जून 2018

पहला पन्‍ना English लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

10 वीं का रिजल्ट : लड़कियां लड़कों से रही आगे, सरकारी स्कूलों से आगे रहे प्राइवेट स्कूल

शिक्षा मंत्री राम बिलास शर्मा ने की रिजल्ट की घोषणा.

10th result, Haryana Board, , naya haryana, नया हरियाणा

21 मई 2018

नया हरियाणा

 हरियाणा विद्यालय विद्यालय शिक्षा बोर्ड की मार्च-2018 में संचालित सैकेण्डरी (शैक्षिक) परीक्षा का परिणाम 51.15 फीसदी रहा है तथा स्वयंपाठी (प्राईवेट) परीक्षार्थियों का परिणाम 66.72 फीसदी रहा है। लड़कियों ने 55.34 प्रतिशत परिणाम देकर लडक़ों से बाजी मारी जिनका उत्तीर्ण प्रतिशत 47.61 रहा है। इस परीक्षा में प्रथम स्थान पर कार्तिक, नव दुर्गा व.मा.वि. जींद ने 498 अंक अर्जित करके प्राप्त किया है। सेलीना यादव, जीवन ज्योति व.मा.वि., सोनाली, सरस्वती उ.वि. सिरसा व हरीओम, बाल विद्या निकेतन व.मा.वि. पलवल इन तीनों विद्यार्थियों ने 495 अंक प्राप्त करके द्वितीय स्थान हासिल किया है। तृतीय स्थान रिया, एस.एम.बी. गीता व.मा.वि. अम्बाला, प्रिती, पारस व.मा.वि. महेन्द्रगढ़ व जिज्ञासा, टैगोर स्कूल देवी मूर्ति कालोनी, पानीपत ने 494 अंक अर्जित करके पाया है। हरियाणा सरकार का बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ संदेश एक जन-आंदोलन बन गया है और बेटियों ने प्रदेश को गौरवान्वित किया है।
    ये उद्गार प्रो. रामबिलास शर्मा, शिक्षा मंत्री, हरियाणा सरकार ने आज यहाँ 2:00 बजे बोर्ड मुख्यालय इस परीक्षा के परिणाम की घोषणा करते हुए व्यक्त किए। इस अवसर पर बोर्ड अध्यक्ष डॉ. जगबीर सिंह व अन्य अधिकारी मौजूद थे।
    उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार प्रदेश में शिक्षा का स्तर ऊँचा करने, गुणवत्तापूर्ण शैक्षिक वातावरण बनाने और हरियाणा के बच्चों को सभी प्रकार की शैक्षिक व इससे इतर प्रतिस्पर्धाओं/प्रतियोगिताओं में उत्कृष्ट स्थान पर लाने के लिए दृढ़-प्रतिज्ञ हैं। इसी के चलते पहले सीनियर सैकेण्डरी व अब सैकेण्डरी परीक्षाओं के परिणाम पूर्णतया पारदर्शी रूप से तैयार किए गए हैं। उन्होंने कहा कि जैसा बच्चों ने परीक्षा में प्रदर्शन किया है, उसे ही उनके सम्मुख लाया गया है। मैरिट में आने वाले बच्चों व अभिभावकों को अच्छे परिणाम के चलते ढेरों बधाईयां दी।
    डिजीटल लॉकर के विषय में बोलते हुए प्रो. रामबिलास शर्मा ने कहा कि शिक्षा बोर्ड प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के डिजीटल इंडिया बनाने के सपने के दृष्टिगत उठाए गए कदम काबिले तारीफ हैं। एक अभूतपूर्व पहल के तहत बोर्ड द्वारा पहली बार प्रमाण-पत्र व रिजल्ट डिजीटल लॉकर में सुरक्षित रखने का निर्णय प्रशंसनीय है जिससे परीक्षार्थी आवश्यकता पडऩे पर रिजल्ट व प्रमाण-पत्र बोर्ड की वैबसाईट से डाउनलोड कर सकेंगे। इसके साथ-साथ वर्ष 2004 से लेकर अब तक के सभी परीक्षार्थियों के प्रमाण-पत्र व रिजल्ट डिजीटल लॉकर पर लोड करेगा। उन्होंने परीक्षा परिणामों को हाई-टैक करने की बोर्ड प्रशासन की भूरि-भूरि प्रशंसा की।
उन्होंने कहा कि डिजीटल लॉकर की कड़ी परीक्षार्थी का आधार कार्ड के साथ-साथ मोबाईल नम्बर निर्धारित है। डिजीटल लॉकर के जरिए कोई भी भर्ती एजेंसी या किसी भी तरह की प्रमाण-पत्रों का रिजल्ट की जांच आसानी से कर सकेगी। इस निर्णय के बाद सभी सैनिक बोर्ड व एच.एस.एस.सी. व एच.पी.एस.सी. को कोड जारी कर दिया जाएगा जिससे अभ्यार्थी की सभी मार्कशीट को देखा जा सकेगा। इसी तरह किसी कम्पनी या सरकारी नौकरी के लिए वहीं पर बैठे-बैठे अधिकारी आवेदक वैरिफिकेशन कर सकेंगे। इससे न तो किसी प्रकार का फर्जीवाड़ा होगा और न ही समय की बर्बादी होगी।
शिक्षा मंत्री ने आगे बताया कि परीक्षार्थी अपने परीक्षा परिणाम आज 21 मई को सायं 5:00 बजे बोर्ड की वेबसाईट www.bseh.org.in एवं www.indiaresults.com पर देख सकते हैं। उन्होंने बताया कि यह परिणाम बोर्ड द्वारा तैयार करवाई गई मोबाईल एप पर भी देखा जा सकता है। इस मोबाईल एप को गूगल प्ले स्टोर में जाने के बाद "Education Board Bhiwani Haryana" सर्च करते हुए डाऊनलोड किया जा सकता है। 
सैकेण्डरी परिणाम से सम्बन्धित जानकारी देते हुए बोर्ड अध्यक्ष डॉ. जगबीर सिंह ने बताया कि सैकेण्डरी (शैक्षिक) परीक्षा में 3,64,800 परीक्षार्थी प्रविष्ठ हुए थे, जिनमें से 1,86,586 उत्तीर्ण हुए एवं 15,526 परीक्षार्थियों की कम्पार्टमेंट आयी है तथा 1,62,688 परीक्षार्थी अनुत्तीर्ण रहे हैं। इस परीक्षा में 1,97,873 लडक़े बैठे थे, जिनमें 94,202 पास हुए तथा 1,66,927 प्रविष्ठ लड़कियों में से 92,384 पास हुई।
डॉ. सिंह ने आगे बताया कि इस परीक्षा में राजकीय विद्यालयों की पास प्रतिशतता 44.38 रही तथा प्राईवेट विद्यालयों की पास प्रतिशतता 59.87 रही है। इस परीक्षा में ग्रामीण क्षेत्र के विद्यार्थियों की पास प्रतिशतता 51.72 रही है, जबकि शहरी क्षेत्र के विद्यार्थियों की पास प्रतिशतता 49.65 रही है। 
उन्होंने बताया कि सैकेण्डरी परीक्षा के स्वयंपाठी (प्राईवेट) परीक्षार्थियों का परिणाम 66.72 प्रतिशत रहा है। इस परीक्षा में 11,864 परीक्षार्थी प्रविष्ठ हुए जिनमें से 7,916 पास हुए।
उन्होंने बताया कि यह परिणाम आज 21 मई को सायं 5:00 बजे से संबंधित विद्यालयों/संस्थाओं द्वारा बोर्ड की वेबसाईट पर जाकर अपनी यूजर आईडी व पासवर्ड द्वारा लॉगिन करते हुए डाऊनलोड भी किया जा सकेगा। कोई विद्यालय अगर समय पर परिणाम प्राप्त नहीं करता है तो इसके लिए वह स्वयं जिम्मेवार होगा।
डॉ. सिंह ने बताया कि इंटरनेट व हैल्पलाईन तथा मोबाईल एप (Mobile App) इत्यादि की सुविधा परीक्षार्थियों को परीक्षाफल तुरंत उपलब्ध करवाने के लिए दी जा रही है, इसमें किसी भी प्रकार की तकनीकी खराबी/त्रुटि के लिए बोर्ड कार्यालय जिम्मेवार नहीं होगा। उन्होंने बताया कि स्वयंपाठी परीक्षार्थियों के साथ-साथ विद्यालयी परीक्षार्थियों का परिणाम अनुक्रमांक के आधार पर लिया जा सकता है। विद्यालयों द्वारा अपने परीक्षार्थियों का परिणाम यूजर आईडी व पासवर्ड द्वारा लॉगिन करते हुए डाउनलोड भी किया जा सकता है।
अध्यक्ष ने आगे बताया कि इन परीक्षा परिणामों के आधार पर जो परीक्षार्थी अपनी उत्तरपुस्तिकाओं की पुन: जाँच अथवा पुनर्मूल्यांकन करवाना चाहते हैं तो वे ऑनलाईन आवेदन कर सकते हैं। पुन: जाँच/पुनर्मूल्यांकन निर्धारित शुल्क सहित परिणाम घोषित होने की तिथि से 20 दिन तक ऑनलाईन आवेदन कर सकते हैं। 
उन्होंने बताया कि इस परीक्षा के परिणाम के आधार पर आगामी पूरक परीक्षा जुलाई-2018 के लिए स्वयंपाठी (प्राईवेट) छात्रों हेतु ऑनलाईन आवेदन करने के लिए 700/- रू० सामान्य शुल्क के साथ पंजीकरण की अंतिम तिथि 25 मई, 2018 से 13 जून, 2018 निर्धारित की गई है। उन्होंने आगे बताया कि विलम्ब शुल्क 100/- रू० के साथ पंजीकरण तिथि 14 जून, 2018 से 18 जून, 2018 रहेगी। इसी प्रकार 300/- रू० विलम्ब शुल्क सहित पंजीकरण तिथियाँ 19 जून, 2018 से 23 जून, 2018 तथा 1000/- रू० विलम्ब शुल्क सहित पंजीकरण तिथियाँ 24 जून, 2018 से 30 जून, 2018 निर्धारित की गई है।


बाकी समाचार