Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

बुधवार, 23 मई 2018

पहला पन्‍ना English लोकप्रिय राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात समाज और संस्कृति समीक्षा Faking Views

'48 साल बनाम 48 महीने' ये होगी भाजपा की चुनावी टैग लाइन

मोदी सरकार 'रास्ता सही, मंजिल अभी है बाकी' के साथ उतरेगी चुनाव में।

Narendra modi, Amit shah, bjp, congress, 48 साल बनाम 48 महीने,  रास्ता सही है, मंजिल अभी बाकी है, rahul gandhi, , naya haryana, नया हरियाणा

14 मई 2018

नया हरियाणा

भाजपा राष्ट्रीय पदाधिकारी बैठक में ग्राम स्वराज अभियान पर होगी खास चर्चा, 20000 दलित पिछड़ा बहुल्य गांव में भेजे जनप्रतिनिधियों की रिपोर्ट पर भी चर्चा होगी।  12 अप्रैल से 12 मई के बीच जनप्रतिनिधि इन गांवों में पहुंचे थे। केंद्र सरकार के 4 साल पूरे  होने वाले कार्यक्रमों की रूपरेखा तय होगी।

लोकसभा चुनावों में जाने से पहले मोदी सरकार अपनी चौथी वर्षगांठ का जश्न देशभर में बड़े स्तर पर मनाएगी। सरकार ने इसके लिए विज्ञापनों और प्रचार के लिए अलग अलग टैगलाईन और थीम तैयार किया है जिसके माध्यम से सरकार की चार साल की उपलब्धियों को जनता तक ले जाया  जाएगा। 

बुलेट ट्रेन को रेल मंत्रालय के एचीवमेंट के केंद्र में रखा जाएगा। सरकार अपने प्रचार अभियान में बुलेट ट्रेन को शो केस करेगी। बुलेट ट्रेन को 'तेज गति ,तेज प्रगति और तेज टेक्नॉलॉजी के माध्यम से तेज परिणाम लाने वाला साबित किया जाएगा। बुलेट ट्रेन को सुविधा, सुरक्षा के साथ ही रोजगार और रफ्तार लाने वाला प्रोजेक्ट बताया जाएगा।
48 साल बनाम 48 महीने' 

अपने चार साल के काम को लोगों तक पहुंचाने के लिए सरकार आक्रामक प्रचार अभियान चलाएगी जिसके निशाने पर कांग्रेस और उसका शासन रहेगा। यही वजह है कि मोदी सरकार के 48 महीने बनाम कांग्रेस के 48 साल की तुलना करने की तैयारी है।  प्रचार के केंद्र में मोदी सरकार के 48 महीने की उपलब्धियों की तुलना कांग्रेस की पिछली सरकारों के 48 साल के शासन और उपलब्धियों से की जाएगी। जाहिर है जहां बीजेपी सरकार विकास और करप्शन के मुद्दे पर अपनी पीठ ठोकेंगी तो वहीं कांग्रेस को विकास विरोधी और भ्रष्ट साबित करने की कोशिश करेगी। 

मोदी सरकार की उज्ज्वला योजना ने बीजेपी को कई राज्यों में चुनावी सफलता दिलाई है और अब सरकार 2019 के लोकसभा चुनाव में भी इसको भुनाना चाहती है। सरकार गरीब परिवारों को गैस कनेक्शन देकर महिलाओं को धुंए और बीमारी से बचाने की दिशा में मील का पत्थर बताती है। इसलिए सरकार पेट्रोलियम मंत्रालय की एचीवमेंट्स को ' चार करोड़ गरीब परिवारों को गैस कनेक्शन, 5 करोड़ गरीब परिवारों तक गैस पहुंचाना बाकी है' के टैगलाईन से बेहतर भविष्य का सपना दिखाएगी। 

'रास्ता सही है, मंजिल बाकी है'

सरकार इस थीम के जरिए अपने सभी मंत्रालयों की उपलब्धियों को जनता को बताएगी कि उनके कार्यकाल में कैसे गरीब कल्याण योजनाओं का फायदा देश की आम जनता तक पहुंचाया है।  सरकार ये बताने की कोशिश करेगी कि आमजनता के हित में लिए जा रहे फैसलों का रास्ता सही दिशा में जा रहा है, और मंजिल भी नजदीक है।

बिजली गांव गांव तक पहुंचाई है, घर घर पहुंचाना बाकी है'
मोदी सरकार ने उन 18000 गांवों तक बिजली पहुंचाने का टार्गेट पूरा किया है जहां 2014  तक बिजली नहीं पहुंची थी। सरकार अब गांवों से हर घर तक बिजली पहुंचाने के मिशन में लगी है। इस टैगलाईन के जरिए सरकार ऊर्जा मंत्रालय की उपलब्धियों की फेहरिस्त जनता के सामने रखेगी।

सड़क परिवहन मंत्रालय ने जिस तरह से देश भर में सड़को का जाल बनाने में तेजी लाई है, ये भी सरकार की टॉप उपलब्धियों में गिनाया जाएगा। ' प्रतिदिन 27 किमी सड़क बन रही है, इसको 50 किमी तक पहुंचाना है' के थीम से सड़क परिवहन मंत्रालय का लेखा जोखा जनता के बीच रखा जाएगा।  
इसके अलावा सरकार और भी कई टैगलाईन और थीम तैयार कर रही है जिसके जरिए मंत्रालयों के कामकाज को जनता के बीच ले जाया जाएगा। 

 सरकार चार साल में सृजित हुए नौकरियों का डेटा भी जारी करेगी।

साथ ही सभी मंत्रालयों की बड़ी एचीवमेंट पर वीडियों और विज्ञापन जारी किए जाएेगे

सभी मंत्री अलग अलग राज्यों में जाकर प्रेस कांफ्रेंस, पब्लिक मीटिंग और कार्यक्रमों के जरिए जनता से सीधे संवाद कर उपलब्धियों को बताएंगे

 गौरतलब है कि पीएमओ ने सरकार की चार साल के वर्षगांठ के कार्यक्रमों की रुपरेखा तय करने और पार्टी से समन्वय के लिए नीतिन गडकरी, स्मृति ईरानी, पीयूष गोयल और धर्मेंद्र प्रधान की एक कमिटी बनाई है।




बाकी समाचार