Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

मंगलवार, 21 मई 2019

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

गैंग रेप नाबालिग छात्रा ने आरोपियों के डर से छोड़ी पढ़ाई

पीड़िता ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं कि पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार करने की जगह फैसला करने का बना रही है दबाव.

, naya haryana, नया हरियाणा

11 मई 2018



नया हरियाणा

प्रदेश सरकार भले ही महिलाओं की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सुरक्षा को लेकर मुस्तेद दिख रही हो और महिलाओ अपराध पर लगाम लगाने के लिए प्रदेश में जगह जगह महिला थाने भी खोल रही है। लेकिन इन महिला थानों में महिलाओं को कितनी सुरक्षा मिल रही है।इसका ताजा उदाहरण सोहना से सटे गाव आटा में देखने को मिला है जिनका महिला थाना नूह मेवात में आता है।

 सोहना के समीपवर्ती गांव आटे मे एक नाबालिग दसवीं कक्षा में पढ़ने वाली छात्रा के साथ गांव के ही पांच अमीरजादों ने अगवा कर छात्रा के साथ गैंग रेप कियाl मेवात पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर अप्रैल माह में जाच उपरांत मामला तो दर्ज कर दिया लेकिन पुलिस इस मामले में आज तक मात्र एक ही आरोपी को गिरफ्तार कर पाई है,बाकी चार आरोपी खुलेआम गांव में घूम रहे हैं l आरोपी पैसे के दम पर छात्रा व उसके पिता पर फैसले का दबाव बना रहे हैं lडर के कारण छात्रा ने अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़ दी वहीं 2 दिन पहले फैसला नही करने पर आरोपियों ने छात्रा के पिता को बुरी तरह पीट पिट कर घायल कर दिया lपीड़ित परिवार पूरी तरह डर के साए में जीने को मजबूर है।आरोपियो के डर से पीड़ित परिवार अब छिपता हुआ घूम रहा  हैl शिकायत करने पर भी पुलिस पीड़ित की शिकायत पर ध्यान नहीं दे रही है बल्कि उनके ऊपर फैसला करने का दबाव बना रही है l

मामला 29 मार्च 2018 का है जहां पर  गांव के ही पाँच युवको ने रात के समय छत पर सो रही नाबालिग छात्रा को पहले अगवा किया और उसके बाद बारी बारी सामूहिक बलात्कार कियाl इस मामले में मेवात में स्थित महिला थाने में छात्रा के बयान पर गांव के 5 लोगों के खिलाफ मामला तो दर्ज कर लिया lलेकिन पुलिस ने मात्र एक ही आरोपी की गिरफ्तारी के बाद अन्य चार आरोपियों को अभी तक गिरफ्तार नही किया है। पीड़िता छात्रा का कहना है कि डर के कारण मैने अपनी पढ़ाई अधर में छोड़ दीl क्योकि मुझे डर है कि आरोपी दोबारा भी इस तरह की वारदात को अंजाम दे सकते है।छात्रा के इस बयान ने बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ ओर बेटी पढ़ाओ वाले बयान की पोल खोल कर रख दी है।

Tags:

बाकी समाचार