Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

शुक्रवार, 20 जुलाई 2018

पहला पन्‍ना English लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

भाजपा सरकार पर आरोप लगाने से पहले अपने गिरेबां में झांके भूपेन्द्र हुड्डा: कैप्टन अभिमन्यु

हाल ही में भूपेंद्र हुड्डा ने मानेसर जमीन घोटाले में पंचकूला सीबीआई कोर्ट से जमानत ली थी.

Captain Abhimanyu, Bhupender Singh Hooda, bjpharyana, , naya haryana, नया हरियाणा

3 मई 2018

नया हरियाणा

हरियाणा के वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि जिन भूपेन्द्र हुड्डा को किसानों का हक़ छिनकर बिल्डरों को देने के मामले में अदालत से जमानत लेनी पड़ी हो उन्हें खुद को किसान हितैषी बताने से पहले अपने गिरेबान में झाँक लेना चाहिए. हरियाणा में कांग्रेस के दस साल के कुशासन के दौरान तत्कालीन मुख्यमंत्री ने किसानों, जवानों और खिलाडियों का नहीं बल्कि सिर्फ बिल्डरों और अपने नजदीकियों का भला किया. किसानों के जमीन को सरकार के डर दिखाकर एक्वायर किया गया और फिर उसे बिल्डरों को दे दिया गया. कॉमनवेल्थ खेलों के नाम पर कांग्रेस पार्टी ने खिलाडियों का नहीं बल्कि खुद का भला किया और करोड़ों के घोटाले किये और जवानों को 40 साल तक एक रैंक एक पेंशन से वंचित किया. वर्तमान केंद्र और राज्य में भाजपा सरकारों ने जवानों, किसानों और खिलाडियों के लिए जितने काम किये हैं उतने आज़ादी के बाद से कभी नहीं हुए थे.
पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र हुड्डा के ब्यान पर पलटवार करते हुए वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि हरियाणा की निवर्तमान कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में जमीनों के घोटाले किए गए. सर्वोच्च न्यायालय भी अपने एक फैसले में यह कह चुका है कि तत्कालीन सरकार और उसके मुख्यमंत्री भूपेन्द्र हुड्डा ने मानेसर की 680 एकड़ जमीन अधिग्रहण का डर दिखाकर बिचौलियों के साथ मिलकर किसानों को उनकी जमीन औने-पौने दामों पर बेचने को मजबूर किया. जमीन घोटाले के एक मामले में भूपेन्द्र हुड्डा खुद अदालत से जमानत पर हैं और कई घोटालों के सीबीआई जांच का सामना कर रहे हैं. कैप्टन अभिमन्यु ने कहा की जहाँ हुड्डा सरकार में किसानों को हजारों एकड़ जमीन को अधिग्रहण का डर दिखाकर छीनने का पाप किया वहीँ भाजपा सरकार ने आज तक किसानों की इच्छा के विरुद्ध एक इंच भी जमीन का अधिग्रहण नहीं किया. आपदा की स्थिति में किसानों को 3 हजार करोड़ से ज्यादा का मुआवजा दिया जा चुका है. यहाँ तक की कांग्रेस राज का मुआवजा भी हमारी सरकार ने बांटा. उन्होंने कहा की भाजपा सरकार ने प्राकृतिक आपदा से खराब हुई फसलों की मुआवजा राशि 10 हज़ार रू से बढ़ाकर 12 हजार रु. प्रति एकड़ की गई. और जिन क्षेत्रों में फसलें 50% से अधिक खराब हुई वहां एक वर्ष के लिए किसानों के कृषि के बिल शत-प्रतिशत माफ किये गये. समय पर कर्ज की अदायगी करने वाले किसानो को बिना व्याज पर ऋण उपलब्ध करवाया जा रहा है.
कैप्टन अभिमन्यु ने कहा की भूपेन्द्र हुड्डा किस मुंह से जवानों के हित की बात करते हैं? वे क्यूँ भूल रहे हैं की उनकी पार्टी कांग्रेस ने ही जवानों को एक रैंक एक पेंशन से 40 साल तक वंचित रखा और यह सुविधा तब बंद की थी जब जवानों ने देश को 1971 के युद्द में जीत का तोहफा दिया था. हरियाणा में भी उनकी सरकार में जवानों के लिए कुछ नहीं किया जबकि भाजपा सरकार जवानों, उनके परिवारों को देश के लिए अपनी जान देने वाले अमर शहीदों के परिजनों के लिए लगातार नीतियाँ बना रही है और उन्हें राहत दे रही है. भाजपा सरकार ने युद्ध के दौरान शहीद हुए सेना के जवानों व अर्द्धसैनिक बल के जवानों की अनुग्रह राशि 20 लाख रुपये से बढ़ाकर 50 लाख रूपये और आई.ई.डी. बलास्ट के दौरान शहीद होने पर अनुग्रह राशि 2 लाख रुपये से बढ़ाकर 20 लाख रुपये तथा पुनः बढ़ाकर 50 लाख रूपये की है. युद्ध/आतंकवाद तथा अन्य घटना के दौरान घायल हुए सैनिकों को अनुग्रह अनुदान निःशक्तता के आधार पर 50 हजार रुपये की बजाय 5 लाख रुपये, 75 हजार रुपये की बजाय 10 लाख रुपये और एक लाख रुपये की बजाय 15 लाख रुपये की राशि की गई. युद्ध/आतंकवाद तथा अन्य घटना के दौरान घायल हुए अर्द्धसैनिक बलों के जवानों केलिए अनुग्रह अनुदान निःशक्ता के आधार पर 15 लाख रूपये, 25 लाख रूपये तथा 35 लाख रूपये की है. द्वितीय विश्व युद्ध के भूतपूर्व सैनिकों तथा विधवाओं को दी जाने वाली आर्थिक सहायता जो कांग्रेस के समय 3 हज़ार रूपये थी वह अब 10 हज़ार रूपये मासिक है. हरियाणा की भाजपा सरकार ने अक्टूबर 2014 से अब तक शहीद सैनिकों के 195 आश्रितों को अनुकम्पा के आधार पर नौकरी प्रदान की है. 
कैप्टन अभिमन्यु ने कहा की खुद को खिलाडियों को हितैषी बताने वाले भूपेन्द्र हुड्डा को यह नहीं भूलना चाहिए की उनके समय घोषित खिलाडियों की इनाम राशि को भी भाजपा की सरकार आने पर जारी किया गया. अब हरियाणा में वह सरकार है जो पदक जीतकर घर लौटे खिलाडियों को हरियाणा की जमीन पर कदम रखते ही इनाम राशि उसके खाते में पहुंचा देती है. उन्होंने कहा की जितनी सुविधाएं और सम्मान आज हरियाणा में खिलाडियों को मिल रहा है उतना पहले कभी नहीं मिला. वित्त मंत्री ने कहा की भूपेन्द्र हुड्डा को कोई दावा करने से पहले थोडा होम वर्क कर लेना चाहिए और सिर्फ ब्यान देने की राजनीति से बचना चाहिए. वित्त मंत्री ने कहा की उन्हें निम्न स्तर की राजनीति ना करके पश्चाताप करना चाहिए और हरियाणा के लोगों से अपनी सरकार के दस साल के कुकर्मों  के लिए माफ़ी मांगनी चाहिए.


बाकी समाचार