Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

रविवार, 26 मई 2019

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

राजकुमार सैनी की औकात क्या है : अभय सिंह चौटाला

राजकुमार सैनी जाट समाज पर उलटी सीधी टिप्पणियां करने के कारण सुर्खियों में रहते हैं.

Abhay Singh Chautala, Rajkumar Saini, , naya haryana, नया हरियाणा

3 मई 2018



नया हरियाणा

जीवनआधार डॉट कॉम के हवाले से खबर मिली है कि नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने आज फतेहाबाद में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कुरुक्षेत्र से सांसद राजकुमार सैनी के बारे में कहा कि मीडिया को सैनी का फोबिया हो गया है. उन्होंने अपने गुस्से का इजहार करते हुए कहा कि सैनी की क्या औकात है? सैनी केवल भाजपा के सांसद है और वे जनता को गुमराह और उनमें भ्रम पैदा करवे का काम करते हैं. दरअसल पत्रकारों के बार-बार सैनी को लेकर पूछे जाने वाले सवालों से खिन्न होकर अभय सिंह को कड़क जवाब देने पर मजबूर होना पड़ा.
दरअसल राजकुमार सैनी जाट आंदोलन के समय से अपने विवादास्पद बयानों के लिए सुर्खियों में रहते हैं. एक तरफ जाट समाज जिसके कारण भाजपा और सैनी दोनों से खफा रहता है, दूसरी तरफ इसके कारण समाज में जाट और गैर जाट की राजनीति को समय-समय पर हवा देने का आरोप भाजपा पर लगता रहा है. इसकी सबसे बड़ी वजह यह भी मानी जाती है कि भाजपा ने कभी सैनी के खिलाफ कोई ठोस कदम नहीं उठाया.
अभय सिंह चौटाला ने एसवाईएल के मुद्दे पर कहा कि इनेलो के विधायक, राज्य स्तरीय पदाधिकारी, जिला पदाधिकारी और अन्य सीनियर नेता जेल भरो आंदोलन का हिस्सा बनेंगे.
गौरतलब है कि नेता विपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने भाजपा सांसद राजकुमार सैनी के उस बयान की कड़े शब्दों में निंदा की थी जिसमें सैनी ने किसानों के मसीहा दीनबंधु सर छोटू राम के प्रति अनैतिक शब्दावली का इस्तेमाल किया था।

इनेलो नेता ने कहा था कि सांसद सैनी को हरियाणा के इतिहास और महापुरुषों के संघर्ष का थोड़ा सा भी ज्ञान होता तो वो इस तरह की बात न करते। किसानों को बंधुआ मजदूरी और कर्जे के बोझ से निजात दिलाने वाले महापुरुष को गलत बोलना उन्हें शोभा नहीं देता। सर छोटू राम गरीबों और किसानों के मसीहा थे। उन्होंने हमेशा समाज के हित में कार्य किए हैं और गरीब का शोषण करने वाले पूंजीपतियों के खिलाफ रहे हैं।

महापुरुषों का अपमान करने की परम्परा एक विचारधारा विशेष की पार्टी और उसके लोगों में शुरू से रही है। नेता विपक्ष ने बताया कि सांसद सैनी जातिगत राजनीति कर रहे हैं और जाति विशेष को निशाना बनाकर भाईचारे को तोडऩे का काम कर रहे हैं। हरियाणा में जाट आरक्षण आंदोलन में हिंसा भडक़ाने का जो कार्य सैनी ने किया था, प्रदेशवासी उसे अभी तक नहीं भूले हैं। सैनी को सांसद की गरिमा का ख्याल रखते हुए अपना बयान वापिस लेते हुए प्रदेशवासियों से माफी मांगनी चाहिए।


बाकी समाचार