Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

बुधवार, 18 सितंबर 2019

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

गठबंधन बनेगा इनेलो के गले की फांस !

जैसे कुलदीप की घर वापसी हुई, वैसे इनेलो की भाजपा वापसी संभव हो सकती है.

, naya haryana, नया हरियाणा

2 मई 2018



नया हरियाणा

इनेलो और बसपा गठबंधन को लेकर नेताओं ने  विभिन्न प्रतिक्रियाएं दी हैं. पर इन प्रतिक्रियाओं  से अलग हटकर इस गठबंधन के दूसरे पहलुओं पर गौर करें, तो इस समीकरण के नतीजे काफी घातक निकलते दिख रहे हैं. हालांकि राजनीति में यह एक तरह का कयास या अंदाजा भर है. होने को कुछ भी हो सकता है. इसलिए इसे अन्यथा न लेकर इस पहलू पर विचार भर करें.

हरियाणा में इनेलो और बसपा गठबंधन इनेलो के गले की फांस बन सकता है. आज देखने में भले ही बसपा हरियाणा में कमजोर और बिना बड़े चेहरे के लग रही हो, परंतु ये हालात बदलते देर नहीं लगेगी. अगर कांग्रेस और भाजपा से कुछ नामी चेहरे बसपा में आ जाते हैं तो बसपा इनेलो पर भारी पड़ जाएगी. तब इनेलो और बसपा में सीटों का बंटवारा 45-45 पर जाकर टिकेगा और बसपा की तरफ से मुख्यमंत्री अपनी पार्टी से बनाने की दावेदारी भी बढ़ेगी. ऐसे में इनेलो हाईकमान के गले यह बात कैसे उतरेगी, यह देखना दिलचस्प होगा.
ऐसे हालात में इनेलो की मजबूरी होगी बसपा की शर्तों को मानना. क्योंकि चुनाव के समय समझौता तोड़ना इनेलो के लिए भारी पड़ सकता है. वर्तमान समय में भले ही इनेलो  बसपा से गठबंधन करके बड़ा दाव खेलता हुआ दिख रही हो, परंतु इनेलो ने इस गठबंधन से हुड्डा खेमे की मायावती से होने वाले गठबंधन पर फिलहाल रोक लगा दी है. दूसरी तरफ यह गठबंधन कांग्रेस के लिए ज्यादा नुकसानदायक साबित होगा.
कहीं ऐसा न हो कि भाजपा ने जैसा कुलदीप बिश्नोई के साथ किया था, वैसा ही काम बसपा इनेलो के साथ न कर दे. ऐसे हालात में जैसे कुलदीप की घर वापसी हुई, वैसे इनेलो की भाजपा वापसी संभव हो सकती है.
राजनीति में समीकरण लगातार बदलते रहते हैं, इसीलिए भारतीय राजनीति क्रिकेट जितनी रोमांचक मानी जाती है. खैर मनोरंजन तो भरपूर करती ही है भारतीय राजनीति.

Tags:

बाकी समाचार