Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

रविवार, 23 सितंबर 2018

पहला पन्‍ना English लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

हरियाणा के छोटे दस्तकार और लुहारों को मिलेगा लाखों का रोजगार

मुख्यमंत्री मनोहरलाल मंगलवार को करेंगे इसकी शुरुवात

haryana government, manohar lal khattar, naya haryana, नया हरियाणा

30 अप्रैल 2018

नया हरियाणा

रोजगार देने की दिशा में मनोहर लाल की बड़ी पहल, अब बिजली विभाग से जुड़े लोहे की दस्तकारी का काम स्थानीय दस्तकार करेंगे, दो लाख तक होगी कमाई।

नौकरियां मेरिट पर देने की शुरुआत करने के बाद दूसरा  बड़ा लक्ष्य  मुख्यमंत्री ने तय किया है कि स्थानीय स्तर पर नौकरियां ज्यादा से ज्यादा पैदा हों. नौकरियां पैदा होने के साथ साथ मुख्यमंत्री का जोर इस बात पर है कि कम पढ़े लिखे या बिना पढ़े-लिखे युवाओं को भी तेजी से रोजगार के दायरे में लाया जाए।
 
इसी कड़ी में मुख्यमंत्री के विज़न को साकार करने के लिए बिजली विभाग ने एक बड़ी पहल की है। अब बिजली विभाग ट्रांसफार्मर प्लेटफॉर्म बनाने, कलैम्पस बनाने, वेल्डिंग और ड्रिलिंग जैसे काम  गांवों में या छोटे शहरों में रहने वाले ऐसे दस्तकार जो लोहे की दस्तकारी का काम करने वालों से ही करवायेगा । यानी बड़ी कंपनियों की जगह अब सरकार का पैसा स्थानीय दस्तकारों की जेब में जाएगा। लोकल लेवल पर ही काम मिलने का असर ये होगा कि बड़े शहरों की तरफ पलायन रुकेगा और गावों के लोगों के जीवन स्तर में सुधार होगा।

इस योजना से जुड़ने के लिए दस्तकारों का रजिस्ट्रेशन सब डिवीज़न लेवल पर ही होगा और कागज़ी प्रक्रिया को भी बेहद आसान रखा जाएगा।  बिजली विभाग से जुड़े ये काम करने के लिए दस्तकारों को कच्चा माल भी विभाग की ओर से ही मुहैया कराया जाएगा। स्थानीय जे.ई कच्चे माल और काम का हिसाब रखेगा।

लोहे के काम का भुगतान 20 रुपये प्रति किलो के हिसाब से होगा, जो पहले के रेट 15 रुपये प्रति किलो से ज्यादा है।  एक दस्तकार को साल में 2 लाख रुपये से ज्यादा का काम नहीं दिया जाएगा ताकि बड़े ठेकेदार स्थानीय दस्तकारों का हक़ ना मार पाएं। दस्तकार को सारा पेमेंट बैंक खातों के माध्यम से की जाएगी और जी.एस. टी जैसे टैक्स से भी फ्री होगा। बिजली विभाग की ओर से लोहे के दस्तकारों को काम देने की योजना की घोषणा मुख्यमंत्री मंगलवार को करेंगे।

साल 2018 में सरकारी और प्राइवेट सेक्टर मिला कर दो लाख नौकरियां युवाओं को देने का लक्ष्य मुख्यमंत्री ने रखा है, वो भी पूरी ईमानदारी से. सरकार स्वरोजगार को बढ़ावा दे रही है ताकि गाँव में रहने वाले और कम पढ़े-लिखे युवक-युवती भी अपने पैरों पर खड़े हो सकें. । सरकार स्थानीय दस्तकारों को रोजगार देने के लिए और भी कई योजनाओं पर विचार कर रही है जिसकी घोषणा आने वाले दिनों में की जा सकती है। इसके साथ ही  हरियाणा सरकार बी.पी.एल महिलाओं और स्कूल जाने वाली बच्चीयों के लिए फ्री सेनेटरी नैपकिन की स्कीम शुरू करने जा रही है।  नैपकिन ज्यादा से ज्यादा महिलाएं ही बनाएंगी.  महिलाओं के सेल्फ हेल्प ग्रुप्स से ही सरकार नैपकिन खरीदने को पहली प्राथमिकता देगी।


बाकी समाचार