Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

शुक्रवार, 22 जनवरी 2021

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

जुबान के पक्के होते तो ये नेता ले चुके होते संन्यास

राजनीति में हांथी के दांत वाली कहावत सही होती दिखती है.

Kuldeepbishnoi, Dushyantchautala, Abhaysinghchautala, Captainabhimanyu, naya haryana, नया हरियाणा

26 अप्रैल 2018



नया हरियाणा

हरियाणा के 2014 के लोकसभा और विधान सभा चुनावों में दो बड़े नेताओं ने बड़ा बोल बोलते हुए संन्यास की घोषणा की थी.  परंतु इन दोनों नेताओं ने अभी तक राजनीति से संन्यास नहीं लिया है.
2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान कुलदीप बिश्रोई ने बयान दिया था अगर वह हिसार लोकसभा सीट से चुनाव हार गए तो राजनीति से संन्यास ले लेंगे। अब जब कुलदीप चुनाव हार चुके हैं, ऐसे में उन्हें अपने कहे अनुसार राजनीति छोड़ देनी चाहिए।

ये भी पढ़ें हरियाणा के कौन से विधायकों पर दर्ज हैं अपराधिक मामले दर्ज

दुष्यंत चौटाला 2014 लोकसभा चुनाव में हिसार सीट से जीते, जबकि कुलदीप बिश्नोई हार गए थे. फिर भी कुलदीप बिश्नोई ने संन्यास नहीं लिया. दुष्यंत चौटाला को 4,94,478 वोट आए थे और कुलदीप बिश्नोई को 4,62,631वोट आए थे.

<?= Kuldeepbishnoi, Dushyantchautala, Abhaysinghchautala, Captainabhimanyu; ?>, naya haryana, नया हरियाणा

अभय सिंह ने एक निजी चैनल को दिए बयान में कहा था कि अगर कैप्टन अभिमन्यु जीत गए तो मैं राजनीति से संन्यास ले लूंगा. कैप्टन अभिमन्यु नारनौंद विधान सभा से चुनाव लड़े थे और जीत दर्ज की थी. कैप्टन को 53,770 वोट मिले थे और राज सिंह मोर को 48,009 वोट मिले थे.

अगर ये दोनों नेता अपने बयानों पर अमल करने लगे तो हरियाणा से दो बड़े नेता राजनीति से संन्यास ले लेंगे. परंतु राजनीति में ऐसे नेता ही राजनीति के प्रति जनता की यह धारणा बनाते हैं कि नेता के खाने दांत दूसरे होते हैं और दिखाने के दूसरे दांत होते हैं.
 


बाकी समाचार