Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

रविवार, 23 सितंबर 2018

पहला पन्‍ना English लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

सिविल सेवा दिवस के मौके पर सरकारी कर्मचारियों को 'मनोहर' तौफा

हरियाणा के वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु की देख रेख में यह कमेटी काम करेगी।

हरियाणा के कर्मचारी, सिविल सेवा दिवस, , naya haryana, नया हरियाणा

22 अप्रैल 2018

नया हरियाणा

 सिविल सेवा दिवस के अवसर पर राज्य के सरकारी कर्मचारियों को अनेक  तोहफे  देते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री  मनोहर लाल ने सातवें वेतन आयोग की तर्ज पर 9 भत्तों की दर बढ़ाने, निशक्त महिला सरकारी कर्मचारियों को चाइल्ड केयर के लिए नया विशेष भत्ता देना शुरू करने के अतिरिक्त स्वास्थ्य एवं पुलिस विभागों के लिए अनेक हरियाणा विशिष्ट भत्ते बढ़ाने की घोषणा की।  ये बढ़े हुए भत्ते 1 मई, 2018 से प्रभावी होंगे। 

 

मुख्यमंत्री ने एक नया भत्ता शुरू करने की भी घोषणा की, जिसके तहत निशक्त महिला सरकारी कर्मचारी को चाइल्ड केयर के लिए 1500 रुपये प्रति बच्चा दिए जाएंगे। राज्य मेें पहली बार ऐसा भत्ता शुरू किया गया है। बढ़े हुए भत्तों के कारण सरकारी खजाने पर 840 करोड़ रुपये का वित्तीय भार पड़ेगा। 

 

उन्होंने केन्द्र सरकार की तर्ज पर राज्य के सरकारी कर्मचारियों को देय आवास किराया भत्ता (एचआरए) संशोधित करने के लिए एक कमेटी गठित करने की भी घोषणा की। यह कमेटी वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु के मार्गदर्शन में कार्य करेगी और बढ़ाई जाने वाली दर और इन दरों को लागू करने की तिथि दोनों के बारे सिफारिश करेगी। कमेटी शीघ्रातिशीघ्र अपनी रिपोर्ट देगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार पहले ही अपने कर्मचारियों को सातवें वेतन आयोग के लाभ 1 जनवरी, 2016 से दे चुकी है। 

 

सातवें वेतन आयोग की तर्ज पर बढ़ाए गए 9 भत्तों में निर्धारित चिकित्सा भत्ता (500 रुपये से बढ़ाकर 1000 रुपये प्रतिमास), बाल शिक्षा भत्ता (750 रुपये से बढ़ाकर 1125 रुपये प्रतिमास), ग्रुप डी कर्मचारियों के लिए वर्दी एवं धुलाई भत्ता (240 रुपये से बढ़ाकर 440 रुपये प्रतिमास), डॉक्टरों के लिए एनपीए की दर को असंशोधित मूल वेतन के 25 प्रतिशत से संशोधित मूल वेतन का 20 प्रतिशत, साइकिल भत्ता (100 रुपये से बढ़ाकर 200 रुपये प्रतिमास), निशक्तजन के लिए वाहन भत्ते की दर को मूल वेतन का 8 प्रतिशत और अधिकतम सीमा 4000 रुपये, सफाई कर्मचारियों के लिए विशेष भत्ता (325 रुपये से बढ़ाकर 625 रुपये प्रतिमास), यात्रा भत्ता एवं पर्वतीय क्षेत्र मुआवजा भत्ता मूल वेतन का 2.5 प्रतिशत किया गया है, जिसकी न्यूनतम सीमा 200 रुपये एवं अधिकतम सीमा 400 रुपये से बढ़ाकर क्रमश: 350 रुपये और 700 रुपये किया गया है। बढ़े हुए भत्तों के कारण सरकारी खजाने पर 840 करोड़ रुपये का वित्तीय भार पड़ेगा। 

 

मनोहर लाल ने ये घोषणाएं यहां निकट पंचकूला में 12वें सिविल सेवा दिवस के अवसर पर आयोजित राज्य स्तरीय समारोह में वरिष्ठ आईएएस, आईएफएस और आईपीएस अधिकारियों को सम्बोधित करते हुए की। उन्होंने कहा कि भत्तों में यह वृद्धि विभिन्न कर्मचारी संघों के साथ परामर्श करने के उपरांत की गई है। 

 

 

 

1. यात्रा भत्ता एवं दैनिक भत्ता (टीए/डीए)

 

क) दैनिक भत्ते की दरें निम्न प्रकार बढ़ाई गई हैं:-

 

 

भारत में दौरे के दौरान पूर्ण दैनिक भत्ता लेने की पात्रता 

 

क्रम

 

संख्या

 

ग्रेड/सरकारी कर्मचारी की श्रेणी का विवरण हरियाणा और चंडीगढ़ में दौरे के दौरान पात्रता का विवरण हरियाणा और चंडीगढ़ से बाहर दौरे के दौरान पात्रता का विवरण

 

1 2 3 4

 

वर्तमान दरें संशोधित दरें वर्तमान दरें संशोधित दरें

 

1 ग्रेड-1 में आने वाले सरकारी कर्मचारी 

 

एचजी स्तर 19 और इससे ऊपर के लिए 

 

एआईएस स्तर 15 और इससे ऊपर के लिए 500 रुपये 700 रुपये प्रतिदिन 600 रुपये 800 रुपये प्रतिदिन

 

2 ग्रेड-2 में आने वाले सरकारी कर्मचारी 

 

एचजी स्तर 16 से 18 तक के लिए 

 

एआईएस स्तर 14 के लिए 400 रुपये 600 रुपये प्रतिदिन 500 रुपये 700 रुपये प्रतिदिन

 

3 ग्रेड-3 में आने वाले सरकारी कर्मचारी 

 

एचजी स्तर 8 से 15 के लिए 

 

एआईएस स्तर 10 से 13 के लिए 300 रुपये 500 रुपये प्रतिदिन 400 रुपये 600 रुपये प्रतिदिन

 

4 ग्रेड-4 में आने वाले सरकारी कर्मचारी 

 

एचजी स्तर 5 से 7 के लिए 250 रुपये 400 रुपये प्रतिदिन 300 रुपये 500 रुपये प्रतिदिन

 

5 ग्रेड-5 में आने वाले सरकारी कर्मचारी 

 

एचजी स्तर 4 और इससे नीचे के लिए 

 

200 रुपये 300 रुपये प्रतिदिन 250 रुपये 400 रुपये प्रतिदिन

 

 

ख) टैक्सी/अपनी कार/आटोरिक्शा/स्कूटर से यात्रा करने की दर को गे्रड 1, 2 एवं 3 अधिकारियों के लिए 10 रुपये प्रति किलोमीटर से बढ़ाकर 16 रुपये प्रति किलोमीटर और ग्रेड 4 एवं 5  अधिकारियों/कर्मचारियों के लिए  6 रुपये प्रति किलोमीटर से बढ़ाकर 9 रुपये प्रति किलोमीटर किया गया है।

 

ग) भारत में एक स्थान से दूसरे स्थान पर स्थानांतरण होने पर कम्पोजिट स्थानांतरण अनुदान को अनुलग्नक 'कÓ के अनुसार 125 प्रतिशत तक बढ़ाया गया है। 

 

 

2. शारीरिक रूप से निशक्त सरकारी कर्मचारियों के लिए वाहन भत्ते (कन्वेअंस अलाउंस) को कर्मचारी के वेतन का 8 प्रतिशत किया गया है, जिसकी न्यूनतम सीमा 2000 रुपये प्रतिमास और अधिकतम सीमा 4000 रुपये प्रतिमास है, जबकि पहले कर्मचारी को मूल वेतन के 10 प्रतिशत के बराबर वाहन भत्ता दिया जाता था, जिसकी न्यूनतम सीमा 1000 रुपये प्रतिमास और अधिकतम सीमा 2000 रुपये प्रतिमास जमा डीए थी। 

 

 

3. बाल शिक्षा भत्ते को 750 रुपये प्रतिमास से बढ़ाकर 1125 रुपये प्रतिमास किया गया है, जो केवल पहले दो बच्चों के लिए दिया जाता है। 

 

 

4. निशक्त महिला सरकारी कर्मचारी को चाइल्ड केयर के लिए विशेष भत्ते के रूप में 1500 रुपये प्रति पात्र बच्चा प्रतिमास दिए जाएंगे। यह भत्ता अधिकतम दो बड़े बच्चों के लिए उनके दो वर्ष की आयु होने तक दिया जाएगा। 

 

 

5. निर्धारित चिकित्सा भत्ते को 500 रुपये प्रतिमास से बढ़ाकर 1000 रुपये प्रतिमास किया गया है।

 

6. मोरनी हिल्स क्षेत्र में नियुक्त सरकारी कर्मचारियों को देय पर्वतीय क्षेत्र मुआवजा भत्ता उनके मूल वेतन का 2.5 प्रतिशत होगा। इसकी वर्तमान न्यूनतम सीमा 200 रुपये प्रतिमास और अधिकतम सीमा 400 रुपये प्रतिमास को बढ़ाकर क्रमश: 350 रुपये प्रतिमास और 700 रुपये प्रतिमास की गई है। 

 

7. साइकिल भत्ता ग्रुप डी कर्मचारियों को दिया जाता है और इसे 100 रुपये प्रतिमास से बढ़ाकर 200 रुपये प्रतिमास किया गया है। 

 

8. दोहरी या दो से अधिक शब्दावली वाले ग्रुप डी के सरकारी कर्मचारियों की कुछ श्रेणियों के लिए विशेष भत्ते को 60 रुपये प्रतिमास से बढ़ाकर 120 रुपये प्रतिमास किया गया है।

 

9. सफाई कर्मचारियों (स्वीपर) के विशेष भत्ते को 350 रुपये प्रतिमास से बढ़ाकर 625 रुपये प्रतिमास किया गया है।

 

10. ग्रुप डी के सरकारी कर्मचारियों के लिए वर्दी एवं धुलाई भत्ते को 240 रुपये प्रतिमास से बढ़ाकर 440 रुपये प्रतिमास किया गया है।

 

11. नॉन प्रैक्टिसिंग अलाउंस (एनपीए) स्वास्थ्य/चिकित्सा शिक्षा विभाग में नियुक्त एमबीबीएस/बीडीएस की न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता वाले डॉक्टरों, पशुपालन एवं डेरी विभाग में नियुक्त बैचलर आफ वेटनरी सांईस एंड एनिमल हस्बेंडरी की न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता वाले वेटनरी डॉक्टरों और आयुष विभाग में नियुक्त बीएएमएस/बीएचएमएस/बीयूएमएस  की न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता वाले डॉक्टरों को दिया जाता है। एनपीए संशोधित मूल वेतन के 20 प्रतिशत की दर से दिया जाएगा और यह 2,24,550 रुपये से अधिक नहीं होगा, जबकि वर्तमान दर असंशोधित मूल वेतन का 25 प्रतिशत है। इस प्रकार, एनपीए में 200 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि की गई है। 

 

विभाग विशिष्ट भत्ते 

 

1. स्वास्थ्य विभाग 

 

 

क) ग्रामीण स्वास्थ्य भत्ते को 500 रुपये प्रतिमास से बढ़ाकर 900 रुपये प्रतिमास किया गया है।

 

ख) नर्सिंग स्टाफ के लिए वर्दी एवं धुलाई भत्ते को 700 रुपये प्रतिमास से बढ़ाकर 1250 रुपये प्रतिमास किया गया है।

 

ग) नर्सिंग स्टाफ के लिए डाइट भत्ते को 200 रुपये प्रतिमास से बढ़ाकर 350 रुपये प्रतिमास किया गया है। यह भत्ता नर्सिंग स्टाफ या ऐसे ही नियुक्त सभी सरकारी कर्मचारियों को दिया जाता है। 

 

घ ) स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचालित संस्थानों से नर्सिंग कोर्स कर रहे विद्यार्थियों को दी जाने वाली छात्रवृति को 500 रुपये प्रतिमास से बढ़ाकर 1000 रुपये प्रतिमास किया गया है।

 

ड़ ) निर्धारित यात्रा भत्ते की दर को 500 रुपये प्रतिमास से बढ़ाकर 900 रुपये प्रतिमास किया गया है। यह भत्ता बहुउद्देश्यीय स्वास्थ्य कार्यकर्ता (एमपीएचडब्ल्यू), महिला एवं पुरूष दोनों को दिया जाता है, जिसमें एमपीएचडब्ल्यू के सुपरवाइजर भी शामिल हैं। 

 

 

2. पुलिस विभाग 

 

क) पुलिस कर्मियों को वर्दी भत्ता निम्न प्रकार से दिया जाएगा 

 

 

वर्दी भत्ते के लिए पात्रता

 

क्रम

 

संख्या सरकारी कर्मचारी की श्रेणी का विवरण वर्तमान दरें वर्दी भत्ते की संशोधित दरें 

 

1 2 3

 

1 वर्दीधारी सेवा के राजपत्रित अधिकारी 2880 रुपये वार्षिक एकमुश्त 5000 रुपये वार्षिक 

 

2 वर्दीधारी सेवा के गैर राजपत्रित अधिकारी (एएसआई से पुलिस निरीक्षक तक) 1920 रुपये वार्षिक एकमुश्त 3000 रुपये वार्षिक

 

3 वर्दीधारी सेवा के गैर राजपत्रित अधिकारी (कांस्टेबल से हैड कांस्टेबल तक) 1200 रुपये वार्षिक एकमुश्त 2500 रुपये वार्षिक

 

 

 

ख) वाहन भत्ता 

 

 

पुलिस विभाग में वाहन भत्ते के लिए पात्रता

 

क्रम

 

संख्या सरकारी कर्मचारी की श्रेणी का विवरण वर्तमान दर वाहन भत्ते की संशोधित दर 

 

1 2 3

 

1 पुलिस निरीक्षक 450 रुपये 800 रुपये प्रतिमास 

 

2 पुलिस उप निरीक्षक (एसआई) 360 रुपये 650 रुपये प्रतिमास

 

3 सहायक पुलिस उप निरीक्षक (एएसआई)

 

 

300 रुपये 540 रुपये प्रतिमास

 

4 हैड कांस्टेबल 120 रुपये 220 रुपये प्रतिमास

 

5 कांस्टेबल 120 रुपये 220 रुपये प्रतिमास

 

 

ग) पुलिस कांस्टेबल को देय स्पेशल हार्डशिप अलाउंस को 100 रुपये से बढ़ाकर 180 रुपये प्रतिमास किया गया है। 

 

 

घ) राशन भत्ता 

 

 

पुलिस विभाग में राशन भत्ते के लिए पात्रता

 

क्रम संख्या सरकारी कर्मचारी की श्रेणी का विवरण वर्तमान दर राशन भत्ते की संशोधित दर 

 

1 2 3

 

1 ग्रुप डी श्रेणी के कर्मचारी और एचएपी एवं भारतीय रिजर्व बटालियन (आईआरबी) की इकाइयों में कार्यरत पुलिस कांस्टेबल से पुलिस उप अधीक्षक तक 840 रुपये 1100 रुपये प्रतिमास 

 

2 पुलिस विभाग की सभी इकाइयों और  एचएपी एवं भारतीय रिजर्व बटालियन (आईआरबी) की इकाइयों में कार्यरत पुलिस कांस्टेबल से पुलिस उप अधीक्षक तक के कर्मचारी 600 रुपये 1100 रुपये प्रतिमास

 

3 एचएपी मधुबन में कार्यरत ग्रुप डी श्रेणी के कर्मचारी 250 रुपये 450 रुपये प्रतिमास

 

 

ड़) इंस्ट्रक्शनल अलाउंस 

 

 

पुलिस विभाग में इंस्ट्रक्शनल अलाउंस के लिए पात्रता

 

क्रम संख्या सरकारी कर्मचारी की श्रेणी का विवरण वर्तमान दर संशोधित दर 

 

1 2 3

 

1 पुलिस उप अधीक्षक 600 रुपये 1100 रुपये प्रतिमास 

 

2 पुलिस निरीक्षक 600 रुपये 1100 रुपये प्रतिमास

 

3 पुलिस उप निरीक्षक 500 रुपये 900 रुपये प्रतिमास

 

4 पुलिस सहायक उप निरीक्षक 500 रुपये 900 रुपये प्रतिमास

 

5 हैड कांस्टेबल 450 रुपये 800 रुपये प्रतिमास

 

6 कांस्टेबल 350 रुपये 625 रुपये प्रतिमास

 

 

च) जोखिम भत्ता (सामान्य) पुलिस विभाग में कांस्टेबल से निरीक्षक तक के पद पर नियुक्त सरकारी कर्मचारियों को दिया जाता है। यह भत्ता 5000 रुपये प्रतिमास रहेगा। 

 

 

छ) जोखिम भत्ता (कमाण्डो) 

 

पुलिस विभाग में जोखिम भत्ता (कमाण्डो) के लिए पात्रता

 

क्रम संख्या सरकारी कर्मचारी की श्रेणी का विवरण वर्तमान दर संशोधित दर 

 

1 2 3

 

1 पुलिस विभाग में कमाण्डो की इकाइयों में 

 

पुलिस निरीक्षक, पुलिस उप निरीक्षक और  सहायक पुलिस उप निरीक्षक के पद के सरकारी कर्मचारी 240 रुपये 425 रुपये प्रतिमास 

 

2 पुलिस विभाग में कमाण्डो की इकाइयों में 

 

हैड कांस्टेबल 200 रुपये 350 रुपये प्रतिमास

 

3 पुलिस विभाग में कमाण्डो की इकाइयों में 

 

कांस्टेबल 160 रुपये 280 रुपये प्रतिमास

 

ज) जोखिम भत्ता (भारतीय रिजर्व बटालियन) पुलिस कांस्टेबल से पुलिस उप अधीक्षक के पद के सरकारी कर्मचारियों और भारतीय रिजर्व बटालियन की इकाइयों में कार्यरत पुलिस विभाग के ग्रुप डी श्रेणी के सरकारी कर्मचारियों को दिया जाता है। इस भत्ते को 500 रुपये से बढ़ाकर 700 रुपये प्रतिमास किया गया है। 

 

झ) डाइट भत्ता (कमाण्डो) 

 

 

पुलिस विभाग में डाइट भत्ता (कमाण्डो) के लिए पात्रता

 

क्रम संख्या सरकारी कर्मचारी की श्रेणी का विवरण वर्तमान दर संशोधित दर 

 

1 2 3

 

1 पुलिस विभाग में कमाण्डो की इकाइयों में 

 

पुलिस निरीक्षक, पुलिस उप निरीक्षक, सहायक पुलिस उप निरीक्षक, हैड कांस्टेबल और कांस्टेबल के पद के सरकारी कर्मचारी 40 रुपये 70 रुपये प्रतिदिन  

 

2 पुलिस विभाग में कमाण्डो की इकाइयों में ग्रुप डी श्रेणी के कर्मचारी 20 रुपये 35 रुपये प्रतिदिन  

 

 

3. वन एवं वन्य जीव विभाग 

 

क) वर्दी भत्ता 

 

वन एवं वन्य जीव विभाग में वर्दी भत्ते के लिए पात्रता

 

क्रम संख्या सरकारी कर्मचारी की श्रेणी का विवरण वर्तमान दर संशोधित दर 

 

1 2 3 4

 

1 रेंज अधिकारी, डिप्टी रेंजर और फोरेस्टर 2833 रुपये एकमुश्त 3000 रुपये वर्षिक  

Tags:

बाकी समाचार