Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

रविवार, 23 सितंबर 2018

पहला पन्‍ना English लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

हरियाणा नंबरदार एसोसिएशन ने कैप्टन अभिमन्यु को पगड़ी पहनाकर किया सम्मानित

हरियाणा नंबरदार एसोसिएशन के नवनिर्वाचित अध्यक्ष आजाद सिंह ने एसोसिएशन के जिला अध्यक्षों के साथ हरियाणा के राजस्व मंत्री कैप्टन अभिमन्यु के चंडीगढ निवास पर पगड़ी पहनाकर सम्मान किया.

Haryana Nambardar Association honored Capt Abhimanyu with Turban, naya haryana, नया हरियाणा

18 अप्रैल 2018

नया हरियाणा

हरियाणा नंबरदार एसोसिएशन के नवनिर्वाचित अध्यक्ष आजाद सिंह ने एसोसिएशन के जिला अध्यक्षों के साथ हरियाणा के राजस्व मंत्री कैप्टन अभिमन्यु के चंडीगढ निवास पर पगड़ी पहनाकर सम्मान किया.

<?= Haryana Nambardar Association honored Capt Abhimanyu with Turban; ?>, naya haryana, नया हरियाणा

गौरतलब है कि जिस प्रकार पहले के जमाने में नंबरदार प्रशासनिक अधिकारियों तक गांव की सूचनाएं पहुंचाते थे, अब दोबारा से  वहीं क्रिया लागू होगी। इसके लिए नंबरदारों को प्रशासन की तरफ से विशेष निर्देश दे दिए गए हैं।


दरअसल हरियाणा में नंबरदार की विशेष भूमिका होती है। ग्रामीण क्षेत्र की बात करें तो हर गांव में एक नंबरदार ज़रूर होता है। बात करें पहले के समय की तो, उस दौरान अगर गांव में कोई घटना इत्यादि या अन्य कोई बात होती थी तो उसकी जानकारी प्रशासन तक नंबरदार व पटवारी के माध्यम से पहुंचती थी। लेकिन समय के साथ धीरे-धीरे यह प्रथा भी बदलती गई। लेकिन अब दोबारा से हिसार जिले के विभिन्न क्षेत्रों में यह प्रक्रिया शुरू होने वाली है। यानि नंबरदार अब गांव की तमाम घटनाओं व अन्य महत्वपूर्ण जानकारियों से जिला के प्रशासनिक अधिकारियों को रूबरू करवाएंगे। हरियाणा नंबरदार एसोसिएशन द्वारा हिसार के पटवार भवन में रविवार को नंबरदार सम्मान सम्मेलन का आयोजन किया गया था। इस सम्मेलन में जिला के अतिरिक्त उपायुक्त (एडीसी) राज नारायण कौशिक भी पहुंचे थे। इसके अलावा एसडीएम अशोक कुमार बंसल भी मौजूद थे। अधिकारियों ने नंबरदारों को सम्मानित भी किया।

फिलहाल यह कार्य करते हैं नंबरदार-
बात करें नंबरदार की तो भारतीय प्रशासनिक व्यवस्था में नंबरदारों का अपना विशेष महत्व है। नंबरदार जनता व प्रशासन के बीच एक कड़ी के रूप में काम करता है। फिलहाल नंबरदारों द्वारा कृ़षि सिंचाई के लिए भरे जाने वाले शुल्क जिसे हरियाणा में आबियाना एवं माल भी कहा जाता है, की पर्ची वितरित करने तथा उसे एकत्रित करने के क्षेत्र में कार्य करता है। इसके अलावा ज़मीन इत्यादि की रजिस्ट्री के दौरान गवाह के तौर पर भी नबंरदार अपनी जिम्मेवारी का निवर्हन करता है।


1987 से पहले के आबियाने की सूचना भी देंगे नंबरदार-
नंबरदार को प्रशासन ने एक विशेष निर्देश यह भी दिया है कि क्षेत्र के किसी गांव में अगर 1987 से पहले का आबियाना बकाया है, तो नंबरदार इसकी सूचना तुरंत प्रशासन को देगा। ताकि लंबे समय से बकाया रहे आबियाना को खत्म करने की कार्रवाई प्रशासन शुरू कर सके।


बाकी समाचार