Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

गुरूवार, 19 सितंबर 2019

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

बीजेपी नेता पवन बेनीवाल ने लिखा अभय चौटाला को खुला पत्र

2014 में पवन बेनीवाल ने अभय चौटाला के खिलाफ चुनाव लड़ा था।

पवन बेनीवाल, अभय चौटाला, naya haryana, नया हरियाणा

10 सितंबर 2019



नया हरियाणा

अभय चौटाला द्वारा कल भाजपा नेता पवन बेनीवाल पर लगाये आरोपो पर पवन  बेनीवाल का पलटवार।

पूर्व नेता प्रतिपक्ष व विधायक जी आजकल ईलैक्शन सीज़न शुरू होते ही ऐलनाबाद की धरती पर अवतरित हो गये हैं। इलेक्शन से एक महीना पहले आकर अनाप शनाप बकने वाली राजनीति का अंत अब हो चुका है। मेरी शिक्षा एक अच्छे स्कूल में हुई है, मैं आपकी तरह सुबे के मुख्यमंत्री के लिये तू- तड़ाक की भाषा का इस्तेमाल नहीं करता। आपको मुख्यमंत्री जी से माफ़ी माँगनी चाहिये। आपकी इसी वाकपटुता के कारण इनैलो में आज कार्यकर्ता और नेता दूरबीन लेकर ढूँढने से भी नहीं मिल रंहे हैं। सारा कारवाँ लुट चुका है, अब भी समझ जाइये की लोगों के बीच में विनम्र रहकर काम करने से राजनीति चलती है। 

सारे हरियाणा के साथ-साथ आपके परिवार की माननीय महिला नेता ने भी आपको गुण्डा बोला फिर भी आपका यह अतिआत्मविशवास है जो आपको माइक पकड़कर कभी मेरे गाँव की बेटियों के बारे में तो कभी मेरे बारे में बिना सोचे समझे बोलने पर मजबूर करता है। सारा हरा कारंवा आपके इसी 100 फ़ीसदी वाले अतिआत्मविश्वास ने लूटा है। आज मैं श्री दुष्यंत चौटाला जी की एक बात से सहमत हूँ कि आप सीरियस राजनेता नहीं हैं । आप अपनी हार मान चुके हैं, इसीलिये अनर्गल ब्यानबाजी करके सिर्फ़ ये दिखाना चाह रहे हैं कि आपके लिये यह विचारधारा या विकास की नहीं ब्लकि एक व्यक्तिगत लड़ाई बन चुकी है।

मैंने ऐलनाबाद के लिये क्या किया इसकी पूरी फ़ेहरिस्त किसी भी भाई को पंचायत घर से लेकर DC कार्यालय तक मिल जायेगी, आपने जनता के लिये क्या किया उन काले कारनामों की पूरी फ़ेहरिस्त CBI, ED, CID, high court, Supreme Court और तिहाड़ जेल तक मिल जायेगी।जो नेता अपने ही संगठन की सम्मान दिवस रैली में अपना सम्मान ना बचा पाया हो, उसे किसी और के सम्मान पर बात करने से पहले दस बार सोचना चाहिये। 

हर कोई आपसे सवाल पूछना चाहता है कि ऐलनाबाद में  4 बार अपनी रैलीयों का निमंत्रण देने के अलावा आप पिछले 5 साल में कब आये ?  जनता अब आपकी वर्षों की झूठ की ज़ंजीरों से बाहर आकर अपने उज्जवल भविष्य के बारे में सोच रही है। एक बार फिर मैं ऐलनाबाद की जनता से कहना चाहता हूँ, किसी मेहमान नेता के बहकावै में ना आएँ , ये वो बरसाती मेंढक हैं जो चुनाव ख़त्म होते ही फिर से पाँच साल फ़ार्म हाउस पर आराम फ़रमायेंगे। 

इन्हें आपसे या आपकी समस्याओं से कोई लेना देना नहीं है। जब भी ये आपके बीच आयें, इनसे एक सवाल ज़रूर पूछें, आप ऐलनाबाद की जनता के बीच पिछले पाँच साल में कितनी बार आये , और यहां की जनता के लिये क्या किया। नक़ली खेलरत्न जाकर किसी फ़ेडरेशन के लिये तिकड़म लगाइये, आपकी विधायकी वाली हांडी इस बार जनता चढ़ने नहीं देगी। मेरे उपर लगाये झूठे आरोपों की या तो जाँच करवाइये या फिर जनता आपको इन बचकाने मनंगढंत  ब्यानों का जवाब 100 ही फ़ीसदी कमल का बटन दबाकर देगी। 
.
“खटकता तो मैं उनको हूँ साहब, 
  जहाँ मैं झुकता नहीं, 
  बाक़ी जिनको मैं अच्छा लगता हूँ, 
  वो कहीं झुकने भी नहीं देते".

Tags:

बाकी समाचार