Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

गुरूवार, 22 अक्टूबर 2020

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

दादरी विधानसभा का राजनीतिक इतिहास

दादरी विधानसभा क्षेत्र 1957 से वजूद में आया.

Political history of Dadri Legislative Assembly, Rajdeep Phogat, Sombir Singh, Surendra Singh, Dushyant Chautala, naya haryana, नया हरियाणा

8 अगस्त 2019



नया हरियाणा

दादरी विधानसभा क्षेत्र 1957 से वजूद में आया. पहले चुनाव में यहां से दो विधायक चुने गए. आश्चर्य की बात यह है कि दोनों विधायक जनसंघ के थे. सामान्य सीट से अतर सिंह और आरक्षित सीट से सीसराम का चयन हुआ.

इस सीट पर जाट नेताओं का दबदबा रहा है. 1977 में सामान्य सीट होने के बाद से जाट विधायक बनते आ रहे हैं. इनेलो के राजदीप फोगाट वर्तमान में जेजेपी पार्टी में हैं. जजपा नेता दुष्यंत चौटाला इस सीट से चुनाव लड़ने का मन बनाए हुए हैं.
1962 में दादरी एकल सीट हो गई और कांग्रेस की चंद्रावती विधायक चुनी गई. हरियाणा राज्य बनने के बाद 1967 में हुए चुनाव में यहां से कांग्रेस के गनपत राय चुने गए. उन्होंने सोशलिस्ट पार्टी के हरनाम सिंह को हराया था. 1968 व 1972 के चुनाव में भी गनपत राय ही विधायक निर्वाचित हुए और दोनों ही बार उन्होंने हरनाम सिंह को पराजित किया. अंतर सिर्फ इतना था कि 1972 में गनपत राय संगठन कांग्रेस के प्रत्याशी थे और हरनाम सिंह कांग्रेस प्रत्याशी थे. विजय की हैट्रिक लगाने वाले गनपत राय ने चौथा व आखिरी चुनाव 1977 में निर्दलीय लड़ा. लेकिन जनता पार्टी के मास्टर हुकुम सिंह ने उन्हें पराजित कर दिया. 1982 व 1987 के दोनों चुनाव लोकदल प्रत्याशी के रूप में हुकुम सिंह ने ही जीते. पहली बार उन्होंने कांग्रेस के जगजीत सिंह सागवान को हराया और फिर कांग्रेस के रिसाल सिंह को परास्त किया. तीन चुनाव जीतने के बाद हुकुम सिंह ने फिर चुनाव नहीं लड़ा. 1991 व 1996 में इस सीट पर हरियाणा विकास पार्टी की जीत दर्ज हुई. पहले धर्मपाल सिंह और फिर सतपाल सांगवान विधायक चुने गए. दोनों ने ही कांग्रेस के जगजीत सिंह सांगवान को शिकस्त दी. 2000 में जगजीत सिंह सांगवान चुनाव जीत गए लेकिन इस बार वे शरद पवार की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी से लड़े थे. उन्होंने इनेलो की शकुंतला को पराजित किया. 2005 में कांग्रेस के नृपेंद्र सिंह सांगवान ने निर्दलीय सतपाल सांगवान को पराजित किया. इनेलो प्रत्याशी विजय प्रकाश तीसरे स्थान पर रहे. 2009 में सतपाल सांगवान हरियाणा जनहित कांग्रेस से लड़े और उन्होंने इनेलो के राजदीप को पराजित किया. कांग्रेस के नृपेंद्र सांगवान तीसरे स्थान पर रहे. चुनाव जीतने के बाद सतपाल सांगवान हजका छोड़कर उठा के साथ चले गए और मंत्री बने. 2014 में इनेलो के राजदीप में भाजपा के सोमबीर को पराजित किया. आज का के सुरेंद्र सिंह तीसरे और कांग्रेस के पूर्व मंत्री सतपाल सांगवान चौथे स्थान पर रहे.

2014 विधानसभा का परिणाम

राजदीप फोगाट इनेलो 43400
सोमबीर बीजेपी 41790
सुरेंद्र सिंह हजकां 23140
सतपाल सांगवान कांग्रेस 15690
बख्शी सैनी आजाद 3456

2019 विधानसभा परिणाम

Haryana-Dadri
Result Status
O.S.N. Candidate Party EVM Votes Postal Votes Total Votes % of Votes
1 NITIN PAL JANGHU Indian National Lok Dal 914 5 919 0.73
2 MAJOR NIRPENDER SINGH SANGWAN Indian National Congress 7911 111 8022 6.34
3 BAKSHI SAINI Bahujan Samaj Party 7629 27 7656 6.05
4 BABITA KUMARI Bharatiya Janata Party 24502 284 24786 19.59
5 ANITA W/o Arvind Pal Bhartiya Shakti Chetna Party 460 6 466 0.37
6 LAKHAN SINGH Vikas India Party 170 0 170 0.13
7 SANJEEV GODARA Swaraj India 398 8 406 0.32
8 SATPAL SANGWAN Jannayak Janta Party 29319 258 29577 23.38
9 SURENDER SINGH Rashtriya Janta Party 8706 22 8728 6.9
10 ANITA D/o Sombir Independent 139 1 140 0.11
11 KULVIR Independent 401 0 401 0.32
12 NARESH KUMAR Independent 125 1 126 0.1
13 PYARE LAL Independent 102 0 102 0.08
14 BHASKAR VASHISHTHA Independent 119 1 120 0.09
15 RAJESH SINGH Independent 195 0 195 0.15
16 LALIT KUMAR Independent 246 0 246 0.19
17 SOMBIR Independent 43589 260 43849 34.66
18 NOTA None of the Above 589 4 593 0.47
  Total   125514 988 126502  
 

 


बाकी समाचार