Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

शुक्रवार, 21 सितंबर 2018

पहला पन्‍ना English लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

सांसद दुष्यंत चौटाला 20 लाख के खर्च से बांटेंगे वेस्ट डिकॉम्पोजर

पराली जलाने की जरूरत नहीं। खेत में इस दवा के छिड़काव से उसे खाद में बदला जा सकेगा.

dushyant chautala, waste decomposer, member of Parliament hisar, naya haryana, नया हरियाणा

11 अप्रैल 2018

नया हरियाणा

हिसार के सांसद दुष्यन्त चौटाला ने किसानों के हित के लिए एक अच्छी पहल शुरू की है. अक्सर मीडिया में प्रदूषण के लिए किसानों को जिम्मेदार बताकर उन्हें खलनायक बनाया जाता रहा है. जबकि दूसरी तरफ सरकार ने पराली आदि वेस्ट को जलाने के लिए किसानों पर जुर्माना लगाने का काम किया. ऐसे में सांसद ने अपने संसदीय क्षेत्र में अपनी सांसद निधि से 20 लाख रुपये खर्च करके लगभग 2 लाख एकड़ जमीन पर नेशनल सेन्टर फ़ॉर आर्गेनिक फार्मिंग द्वारा विकसित वेस्ट डिकॉम्पोज़र दवा का वितरण  करने का फैसला लिया है. जो उस क्षेत्र के किसानों के लिए किसी क्रांति से कम नहीं होगा.

दरअसल खरीफ और रबी की फसलों के बाद अक्सर किसान खेतों में फानों को आग लगा देते हैं, जिससे प्रदूषण भी होता है और खेतों की उर्वरक क्षमता को नुकसान पहुंचता है. किसानों के पास इसका कोई समाधान न होने या जानकारी के अभावों में कोई विकल्प नहीं था. दुष्यंत चौटाला ने अपनी सांसद निधि से 20 लाख रुपये खर्च करके वेस्ट डिकॉम्पोज़र की 1 लाख शीशियां किसानों को वितरित करेंगे जिसका उपयोग किसान अपने खेतों में करके आग लगाने से बचेंगे और अपनी भूमि की उर्वरकता को बचाएंगे.

वेस्ट डिकॉम्पोज़र भारत सरकार द्वारा विकसित एक बहुत कामयाब तकनीक है जिसमें 1 शीशी में दिए गए मटेरियल को एक ड्रम में रखे 200 लीटर पानी मे मिलाया जाता है, जिसमें गुड़ और बेसन मिलाया गया होता है. शीशी में मौजूद सूक्षम जीव 200 लीटर के घोल वाले ड्रम में पनप जाते हैं और जिन्हें सिंचाई के माध्यम से खेतों में छोड़ा जाता है. फसल अवशेष मिट्टी में मिल जाते हैं और किसान को बहुत लाभ मिलता है. हिसार के सांसद की पहल अनूठी है और अनुकरणीय है. सरकार का पैसा सरकार के पास फ़ायदा प्रदेश के किसानों को मिलेगा. इस पहल का अनुकरण प्रदेश और देश के सभी सांसदों और विधायकों को करना चाहिए.


बाकी समाचार