Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

रविवार, 25 अगस्त 2019

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

हरियाणा में अब चौधरियों की नहीं सेवकों की जरूरत है - कृष्ण बेदी

बेदी ने कहा आज बीजेपी का मुकाबला किसी के साथ नहीं है। 

Politics of Haryana, not Chowdary, not the needs of the servants, Bhupendra Hooda, Om Prakash Chautala, Krishna Bedi, naya haryana, नया हरियाणा

7 जून 2019



नया हरियाणा

हरियाणा के राजयमंत्री कृष्ण बेदी ने भूपेंद्र सिंह हुड्डा के बयान पर निशाना साधते हुए कहा कि हुड्डा के बयान तेल देखो और तेल की धार देखो बयान के बाद देखना होगा की हुड्डा चौटाला की पार्टी में शामिल होंगे या चौटाला परिवार हुड्डा में शामिल होगा । बेदी ने कहा कि अभी तेल देख रहे है जिस दिन तेल की धार पड़ेगी उस दिन देखेंगे की तेल की धार कहाँ पड़ रही है और किसके साथ मुकाबला होगा। बेदी ने कहा आज बीजेपी का मुकाबला किसी के साथ नहीं है। 

बेदी ने कहा कि मायावती ने राजकुमार सैनी को उसकी औकात बता दी पिछले दिनों चौटाला को उसकी औकात बता दी थी वो किसके साथ जाएगी या नहीं ये गर्भ में है । वहीं बेदी ने कहा की इन लोगो ने जिस तरह की विचार धारा को लोगो के सामने परोसने का काम किया है चौधर लेकर आएंगे और चौधर की लड़ाई लड़ रहे है जबकि प्रधानमंत्री प्रथम सेवक और  मुख्यमंत्री खुद को हरियाणा का प्रथम सेवक बताते हैं। 

बेदी ने कहा कि हम सेवा की बात करते हैं ये चौधर की बात करते हैं, रोहतक और बांगर की चौधर लाने की बात करते हैं लेकिन बाकी हरियाणा कहाँ जायेगा। बेदी ने कहा की हरियाणा की जनता चौधर को  स्वीकार करने के मूड में नहीं है, न कोई चौधरी नजर आता  है। बेदी ने कहा कि अब चौधरियों की नहीं सेवको की जरूरत है और सेवा करने के लिए मुख्यमंत्री 24 घंटे मौजूद है ।

इसके अलावा कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में जो हुआ उस पर चुटकी लेते हुए बेदी ने कहा कि वर्किंग कमिटी में कोंग्रेसी नेताओ को चेकिंग करके जाने देना जाना चाहिए, जूते चप्पल भी निकलवा देने चाहिए। बेदी ने कहा ये ध्यान रखना चाहिए कि कोई हथियार लेकर न चला जाये और गोलियां न चला देंं। बेदी ने कहा  जयतीर्थ दहिया कई बार धमकी दे चुके है कि पार्टी छोड़ देंगे, बेदी ने सलाह दी है की बेगरत की जिंदगी जीने से अच्छा पार्टी छोड़ देनी चाहिए या कोई और रास्ता देख लेना चाहिए। बेदी ने कहा की हुड्डा में स्वाभिमान नजर नहीं आ रहा, केंद्रीय नेतृत्व के सामने  नीचा दिखाया जा चूका है।


बाकी समाचार