Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

रविवार, 22 सितंबर 2019

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

हरियाणा भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला ने लिया अपने बयान से यू टर्न!

सुभाष बराला के बयान पर कैबिनेट मंत्रियों के बीच हुआ विवाद

Haryana BJP President Subhash Barla, with his statement U Turn, naya haryana, नया हरियाणा

2 अप्रैल 2019



नया हरियाणा

हरियाणा भाजपा प्रदेशाध्यक्ष एवं टोहाना विधायक सुभाष बराला दो दिन बाद ही यू टर्न लेते दिखाई पड़े. हरियाणा में बड़े मंत्रियों के लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने का बयान देने पर पार्टी में हंगामा होने के बीच उन्होंने कहा कि किसे चुनाव लड़वाना है और किसे नहीं, यह फैसला केंद्रीय नेतृत्व का है. बराला ने कहा कि चुनाव कैबिनेट मंत्री भी लड़ सकते हैं और राज्य मंत्री भी.
कुछ दिनों पूर्व बराला ने बड़े कैबिनेट मंत्रियों के चुनाव लड़ने को लेकर सवाल के जवाब में कहा था कि कोई भी बड़ा मंत्री चुनाव नहीं लड़ेगा. उनके इस बयान का सीधा अर्थ था कि शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा, वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु और कृषि मंत्री ओपी धनखड़ लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे. प्रो. रामबिलास शर्मा करनाल से लोकसभा टिकट के लिए लॉबिंग कर रहे हैं. माना जा रहा है कि पार्टी में इस बयान को लेकर जो विवाद सामने आया उसके लिए बराला ने मीडिया को ही जिम्मेदार ठहरा दिया. उन्होंने कहा कि मेरे बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया है. मैंने यह नहीं कहा कि कैबिनेट मंत्री चुनाव नहीं लड़ सकते. चुनाव लड़ाने का फैसला अंततः पार्टी हाईकमान के हाथ में होता है.
बराला ने कहा कि पार्टी का कोई भी नेता या कार्यकर्ता चुनाव लड़ने की इच्छा जाहिर कर सकता है. किसी बड़े मंत्री या नेता को चुनाव लड़ने की किसी तरह की कोई बंदिश नहीं है. यह केंद्रीय नेतृत्व का अधिकार है कि किसी बड़े मंत्री या नेता या छोटे कार्यकर्ता किसी को भी चुनाव लड़ सकता है. पार्टी की तरफ से इस तरह की कोई शर्त नहीं लगाई गई कि कौन चुनाव लड़ेगा और कौन नहीं. केंद्रीय नेतृत्व के सामने टिकटों की बातें रखी जा चुकी हैं. अब नेतृत्व जब चाहेगा टिकटों की घोषणा कर दी जाएगी.


बाकी समाचार