Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

शुक्रवार, 20 सितंबर 2019

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

कांग्रेस राहुल गांधी को ढ़ोने को विवश है लेकिन देश विवश नहीं: सुभाष बराला

उन्होंने कहा कि कांग्रेस की विचारधारा में जवान, किसान से लेकर चौकीदार तक नफरत का पात्र है.

Congress is forced to move Rahul Gandhi, but the country is not constrained, Subhash Barla, naya haryana, नया हरियाणा

30 मार्च 2019



नया हरियाणा

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर सेना के जवानों के साथ अन्याय करने और देश के नागरिकों को बरगलाने का आरोप लगाया. बराला ने कहा कि 10 साल राफेल के मुद्दे को आगे नहीं बढ़ाकर राहुल गांधी ने अमेठी की कोरबा ऑर्डिनेंस फैक्टरी पर भी भ्रम की स्थिति बनाई रखी. इससे देश में हथियार बनाने के प्रोजेक्टों में देरी हुई. 
राफेल पर उठाए गए राहुल गांधी के सवालों पर बराला ने कहा कि कांग्रेस की विचारधारा में जवान, किसान से लेकर चौकीदार तक नफरत का पात्र है. गांधी परिवार की तीसरी पीढ़ी आज भी उन्हीं मुद्दों को लेकर चुनाव में उतरती है, जो इनके परिवार के समय से चले आ रहें हैं. राफेल समझौता कांग्रेस के 10 साल के शासन में अटका रहा, क्योंकि यह उनकी शर्तों के अनुकूल नहीं हो पा रहा था. देश की सुरक्षा और देश के जवानों की जान की कीमत तय नहीं हो पा रही थी.
बराला ने कहा कि राहुल गांधी के दिमाग की कन्फ्यूजन को देश के जवानों को शहादत देकर भुगतनी पड़ रही है. 72000 रुपये की बात करने वाले राहुल गांधी कितने संवेदनहीन और अज्ञान हैं, यह इसी घोषणा से पता चल जाता है. कांग्रेस खुद उनको ढ़ोने को विवश है लेकिन देश विवश नहीं. देश की जनता को तय करना है कि उन्हें मजबूत प्रधानमंत्री के हाथों अपने देश की बागडोर सौपनी है या मजबूर प्रधानमंत्री के हाथों.


बाकी समाचार