Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

रविवार, 15 सितंबर 2019

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

जानिए हरियाणा में किस पार्टी का कहां पर है आईटी सेल

राजनीति में आईटी सेल सभी पार्टियों की जरूरत बन गया है.

Where is the party of Haryana in the IT cell, BJP, JJP, Congress, INLD, naya haryana, नया हरियाणा

30 मार्च 2019



नया हरियाणा

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर सभी पार्टियों ने अपने अपने वार रूम स्थापित कर रणनीति बनाने का आगाज कर दिया है. यह वो वार रूम होते हैं जहाँ से विपक्षी दलों और इनकी गतिविधियों पर तीखी नजर रखी जाती है. जवाबी हमलों के लिए आंकड़े जुटाए जाते हैं, सियासी जंग के हथियार यानी चुनावी रैलियों में बोले जाने वाले भाषणों का पोस्टमार्टम व एनालाइज किया जाता है. पार्टी-संगठनों व कार्यकर्ताओं को दिशा-निर्देश देने का काम किया जाता है.
भाजपा ने अपना वार रूम हरियाणा की राजधानी चंडीगढ़ एमएलए होस्टल, पंचकूला सेक्टर 2 भाजपा दफ्तर, रोहतक मुख्यालय व एनसीआर गुरुग्राम में व्यवस्थित कर लिया है. भाजपा ने यहाँ से कामकाज संभालने की शुरुआत पहले ही कर दी है. टीवी चैनलों की डिबेट व सियासी कार्यक्रम पर नजर बना रखी है. प्रवक्ताओं को ब्यौरा उपलब्ध कराना, खास मुद्दे के लिए नीति सहित आंकड़े उपलब्ध कराना शुरू हो चुका है. विपक्षी दलों के प्रिंट व इलेक्ट्रॉनिक सूचनाओं पर भी पूरी फील्डिंग बिछा दी गई है. सोशल मीडिया को संभालने के लिए वोलेंटियर को भी प्रभावी तरीके से उतरने की योजना बना ली गई है. 
वहीं, इनेलो चंडीगढ़ प्रदेश ऑफिस और एनसीआर में पार्टी के लिए वार रूम तैयार कर रही है. सोशल मीडिया जैसे मजबूत मंच को संभालने के लिए लोकदल के पास अनुभवी व प्रशिक्षित टीमें तैयार है. 
जननायक जनता पार्टी ने अपना वार रूम चंडीगढ़ एमएलए होस्टल फ्लैट नम्बर 17 में स्थापित किया है. एनसीआर में अपनी पकड़ बनाये रखने के लिए गुरुग्राम व पश्चिमी हरियाणा हिसार में अपने ऑफिस स्थापित किये हैं. जननायक जनता पार्टी के मीडिया कोऑर्डिनेटर दीपकमल सहारण का कहना है कि वार रूम से हर सियासी हालात पर नजर रखी जाएगी. नई पार्टी होने के कारण चुनौतियाँ ज्यादा हैं, इसलिए उन नेताओं पर खास नजर रखी जायेगी जो नेता पार्टी से मेल खाते हो.
कांग्रेस के पास चंडीगढ़ से लेकर एनसीआर तक सोशल मीडिया के लिए आईटी विंग तैयार है, जो इस दिशा में पहले से ही अग्रसर है. आईटी सैल के खाली पदों को भी भरा जा चुका है.
लोकतंत्र सुरक्षा मंच और बसपा भी इस सोशल मीडिया के फील्ड में उतर चुके हैं.


बाकी समाचार