Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

रविवार, 21 अप्रैल 2019

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

सर छोटूराम को लेकर दिए गए आपत्तिजनक बयान पर जलाया दुष्यंत चौटाला व रामकुमार गौतम का पुतला

छोटूराम सर्व समाज की बात करते थे और वे किसानों के मसीहा थे।

Given the objectionable statement given to Sir Chhoturam, Dushyant Chautala and Ramkumar Gautam effigy, naya haryana, नया हरियाणा

27 मार्च 2019



नया हरियाणा

दीनबंधु सर छोटूराम के प्रति आपत्तिजनक बयान देने के रोष स्वरूप जाट धर्मशाला के पूर्व प्रधान जगजीत सिंह सिंधु ने जाट धर्मशाला कार्यकारिणी के सदस्य व अपने समर्थकों के साथ आज फव्वारा चौक पर सांसद दुष्यंत चौटाला व पूर्व विधायक रामकुमार गौतम का पुतला जलाया। इस अवसर पर जगजीत सिंह सिंधु ने कहा कि सांसद चौटाला व रामकुमार गौतम इस बयान के लिए जनता के बीच जाकर सार्वजनिक रूप से माफी मांगे।
सिंधु ने कहा कि दुष्यंत चौटाला को उनका सगा दादा तो देशद्रोही और गद्दार बोलता और दुष्यंत चौटाला एक तथाकथित दादा की बात का समर्थन करके रहबरे आजम दीनबंधु सर छोटूराम को गद्दार बताता है। पूर्व प्रधान ने कहा कि  पूरे देश के सभी वर्गों के लिए सम्मान के पात्र सर छोटूराम के प्रति ओच्छी बात कहकर इन्होंने उनका अपमान किया है और भारी गलती की है। जब तक उक्त दोनों नेता सार्वजनिक रूप से माफी नहीं मांगते उनका विरोध जारी रहेगा। इससे पूर्व सभी कार्यकतार्ओं ने दीनबंधु सर छोटूराम की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें नमन किया। 
सिंधु ने पूर्व विधायक व सांसद की कड़े शब्दों में आलोचना करते हुए कहा कि सर छोटूराम के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले लोगों को इतिहास का ज्ञान नहीं है। सर छोटूराम सर्व समाज की बात करते थे और वे किसानों के मसीहा थे। सर छोटूराम ने अनेक विकास परियोजनाओं को सिरे चढ़ाने का काम किया। वे पंजाब प्रांत के सम्मानित नेताओं में से थे और उन्होंने 1937 के प्रांतीय विधानसभा चुनावों के बाद अपने विकास मंत्री के रूप में कार्य किया। उन्हें नैतिक साहस की मिसाल और किसानों का मसीहा माना जाता था। उन्हें दीनबंधु भी कहा जाता है। सर छोटूराम का किसान और देश में काफी अहम योगदान है। आज भी सर छोटूराम व सेठ छाजूराम का नाम बड़े आदर-सम्मान के साथ लिया जाता है। सर छोटूराम व सेठ छाजूराम के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले नेताओं को जनता कभी माफ नहीं करेगी ।

<?= Given the objectionable statement given to Sir Chhoturam, Dushyant Chautala and Ramkumar Gautam effigy; ?>, naya haryana, नया हरियाणा

इस मौके पर जगजीत सिंह सिंधु पूर्व प्रधान जाट धर्मशाला सभा हिसार की अध्यक्षता में जंगू पहलवान मतलोडा, नफे सिंह, विनोद सिंधु, अनिल महता, विजय नैन, पवन जाखड़, विजय बाली, विपिन कैमरी, रविंद्र पानू, विक्की, कुलदीप बालावास, संदीप जाखड़, रिंकू देव वर्मा, अनुज सिंह, संजय कोच सहित सैकड़ों साथी मौजूद थे।


बाकी समाचार