Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

मंगलवार, 21 मई 2019

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

एससी- एसटी सीटों पर टिका है नरेंद्र मोदी की जीत का मंत्र

2014 में तो इन सीटों पर मोदी की लहर साफ दिखी थी।

2019 का लोकसभा चुनाव, नरेंद्र मोदी, एससी एसटी, naya haryana, नया हरियाणा

9 मार्च 2019



नया हरियाणा

पिछले आम चुनाव में भाजपा ने 543 सीटों में से 282 पर जीत हासिल की थी। एससी-एसटी के लिए आरक्षित 136 में से भाजपा ने 66 सीटें जीती। यह संख्या देश में 1991 के बाद किसी भी पार्टी द्वारा जीती गई आरक्षित सीटों में सबसे ज्यादा है। 543 सीटों में से 84 एससी और 47 सीटें एसटी के लिए आरक्षित है।
2004 से 2014 के बीच भाजपा ने कांग्रेस का परंपरागत वोट बैंक माने जाने वाले दलित वर्ग में अपनी ताकत 2 गुना तक बढ़ा ली। 2004 में 120 आरक्षित सीटों में से भाजपा के 33 अर्थात एससी 18 व एसटी की 15 सीटों पर जीत दर्ज की थी। तब कांग्रेस को 28 सीटें मिली थी। जिनमें 14 एससी और 14 एसटी मिली थी।
2009 के चुनाव में कांग्रेस ने दलितों के बीच अपनी ताकत फिर से बढ़ाते हुए 50 आरक्षित सीटों पर सत्ता में वापसी की। 2009 में भाजपा को 27 सीटें मिली।
2014 में मोदी लहर में भाजपा को दलित वोटरों का समर्थन मिला और वह 66 सीटें जीतने के साथ अकेले बहुमत तक पहुंची। इन चुनाव में कांग्रेस को महज 12 सीटों से संतोष करना पड़ा। तीन चुनाव में आरक्षित सीटों पर क्षेत्रीय दलों का दबदबा बना रहा। 2004 में 120 सीटों में से 59 सीटें जीती। 2009 में अन्य दलों को 54 सीट मिली। इन में सपा को 10 सीटें, सीपीएस को 6 और जदयू  को 4 मिली थी। 2014 में यह आंकड़ा 53 रहा था।

Tags:

बाकी समाचार