Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

शुक्रवार, 26 अप्रैल 2019

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

सरकार आंदोलन के दबाव में समझौता कर लेती है लेकिन उन्हें लागू नहीं करती: संगठनकर्ता बीरेंद्र सिंह डंगवाल

मुख्यमंत्री मनोहर लाल के साथ बातचीत के बाद 8 फरवरी से चल रही आंगनवाड़ी वर्कर्स और हेल्पर्स की हड़ताल खत्म हो गई है.

Government compromises under pressure of movement, but does not implement them, organizer Birendra Singh Dangwal, naya haryana, नया हरियाणा

8 मार्च 2019



नया हरियाणा

मुख्यमंत्री मनोहर लाल के साथ बातचीत के बाद 8 फरवरी से चल रही आंगनवाड़ी वर्कर्स और हेल्पर्स की हड़ताल खत्म हो गई है. सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा एवं सीटू से संबंधित आगनवाडी वर्कर एंड हेल्पर यूनियन हरियाणा के अध्यक्ष देवेंद्री शर्मा ने हड़ताल खत्म करने की घोषणा कर दी है. उनका कहना है कि अगर सरकार ने इस बार भी विश्वासघात किया, तो 51000 आंगनबाड़ी वर्कर्स आंदोलन करेंगे. देवेंद्री शर्मा ने बताया कि यूनियन के 10 सदस्य प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री से मुलाकात की. उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया है कि पिछले साल की गई और केंद्र सरकार की घोषणा शीघ्र ही लागू की जाएगी. सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के महासचिव सुभाष लांबा, मुख्य संगठन वीरेंद्र सिंह डंगवाल ने कहा कि सरकार आंदोलन के दबाव में समझौता कर लेती है लेकिन उन्हें लागू नहीं करती. जिसके कारण प्रदेश में बार-बार आंदोलन होते हैं. यूनियन के प्रदेश उपाध्यक्ष सरस्वती पांचाल ने सीएम को याद दिलाया कि 1 साल पहले 10 मार्च को उनकी 12 सूत्रीय मांगों को मंजूरी दी गई थी. लेकिन इन मांगों को मान लेने की अधिसूचना अब तक जारी नहीं की गई है. न तो आंगनवाड़ी कर्मियों को कुशल व अर्ध कुशल कर्मचारियों का दर्जा दिया गया है और न ही किराए के मकान में चल रहे आंगनबाड़ी केंद्रों का किराया बढ़ाया गया है. इन्होंने मानदेय में बढ़ोतरी की घोषणा को लागू करवाने की गुजारिश की.


बाकी समाचार