Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

शुक्रवार, 20 सितंबर 2019

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

केजरीवाल मेरे बड़े भाई समान व अभय को है घोड़ा-गाड़ी का लालच: दुष्यंत चौटाला

दुष्यंत केजरीवाल से गठबंधन चाहते हैं हो जाये।

आप, केजरीवाल, दुष्यंत चौटाला, naya haryana, नया हरियाणा

5 मार्च 2019



नया हरियाणा

कल तक आप पार्टी के साथ गठबंधन की बात को नकारते सांसद दुष्यंत चौटाला ने अब स्वंय आप पार्टी के साथ गठबंधन के संकेत दे दिए हैं. राजनीति में कब क्या करना और कहना पड़ जाये इसकी सम्भावनायें बनाकर चलनी पड़ती है. दरअसल सारा मसला इनेलो को पीछे छोड़ने और भाजपा को सत्ताविहीन करने से जुड़ा है. कांग्रेस तो सत्ता की दौड़ से कब की बाहर हो चुकी है. ऐसे में, जेजेपी नेता व हिसार सांसद दुष्यंत चौटाला ने कल कहा, कि अरविंद केजरीवाल मेरे बड़े भाई समान हैं. केजरीवाल ने हमारे संघर्ष के समय बड़े भाई के रूप में हमारा साथ दिया है. जहाँ तक आप पार्टी के साथ जेजेपी के गठबंधन का सवाल है तो जेजेपी गठबंधन को लेकर आज भी सकारात्मक है. गठबंधन का फैसला हमारी राष्ट्रीय कार्यसमिति के तीन अनुभवी नेताओं द्वारा लिया जाएगा. 
इनेलो सुप्रीमो व अपने दादा ओमप्रकाश चौटाला को लेकर बात करने से दुष्यंत ने साफ इंकार कर दिया. उन्होंने कहा कि अब हमारे राजनीतिक रास्ते अलग हो चुके हैं तो मैं उनकी राजनीति पर कोई बात करना नहीं चाहता. लेकिन मैं यह बताना चाहता हूँ कि मैं झूठा नहीं हूँ. जेजेपी के गठन के बाद मैं उनसे 3 बार मिला हूं. वहीं चाचा अभय चौटाला पर निशाना साधते हुए दुष्यंत ने कहा कि जब वो मुझे पार्टी से बाहर निकल सकते हैं तो नैना चौटाला, राजदीप फौगाट, अनूप धानक व पिरथी नम्बरदार को क्यों नहीं इनेलो से बाहर करते. असल बात तो यह है कि उन्हें प्रतिपक्ष की कुर्सी और घोड़ा-गाड़ी का लालच है, इसलिए वे जेजेपी समर्थित विधायकों को अपनी पार्टी से निकालने की हिम्मत नहीं कर पा रहे हैं.
हिसार से पूर्व सांसद व स्व. भजनलाल व पूर्व सांसद कुलदीप बिश्नोई पर व्यंग्य कसते हुए दुष्यंत ने कहा कि भजनलाल के कोटे के लैप्स हुए 80 लाख और कुलदीप के कोटे के लैप्स हुए 2.70 करोड़ के अलावा अपने 5 साल के कार्यकाल की 25 करोड़ की ग्रांट विकास के काम में खर्च की गई. ट्रैक्टरों को कमर्शियल वाहन की श्रेणी से बाहर लाने एक बड़ी उपलब्धि है.

Tags:

बाकी समाचार