Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

शुक्रवार, 23 अगस्त 2019

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

सरकार को मजबूर होकर मुझे रिहा करना ही पड़ेगा: ओम प्रकाश चौटाला

दुष्यंत पर निशाना साधते हुए अभय चौटाला ने कहा कि 17 की रैली इसीलिए स्थगित की गई थी कि कुछ लोग पार्टी सुप्रीमो के फरलो में अड़चन डाल रहे थे.

Being forced by the government, I will have to release, Om Prakash Chautala, naya haryana, नया हरियाणा

2 मार्च 2019



नया हरियाणा

इनेलो सुप्रीमो व पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला ने कहा कि लोकसभा चुनाव अप्रैल में होने जा रहे हैं और सरकार को मजबूर होकर उन्हें मार्च में ही छोड़ना पड़ेगा. उन्होंने कहा कि जब मैं आप लोगों के बीच आऊंगा, तब जो हमारे अच्छे साथी बहकाए गए हैं व जो साथी चौधरी देवीलाल की नीतियों में विश्वास रखते हैं, मैं उनको साथ लाने का कार्य करूंगा. चौटाला ने हांसी की नई सब्जी मंडी में जन अधिकार रैली को संबोधित करते हुए कहा कि अतीत आपके सामने हैं. हमारी सरकार लोगों के बीच जाकर उनकी समस्याओं का समाधान करती थी. लेकिन आज लोगों को सरकार के बीच में जाकर अपनी समस्याएं बतानी पड़ रही है. ओमप्रकाश चौटाला ने कहा कि प्रजातंत्र में अधिकार मांगने से नहीं मिलते, बल्कि उन्हें छीनना पड़ता हैं. इसके लिए संगठन का मजबूत होना आवश्यक है. इनेलो का संगठन सबसे मजबूत संगठन है हालांकि इसे अभी और अधिक मेहनत करने की जरूरत है. नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला ने कहा कि इनेलो आगामी लोकसभा चुनाव में सभी 10 सीटें जीतेगी और विधानसभा चुनाव में सरकार बनाएगी. अभय ने दुष्यंत चौटाला का नाम लिए बिना उस पर निशाना साधते हुए कहा कि जिन्होंने इनेलो की ताकत को कमजोर किया है उन षड्यंत्रकारियों को मुंह की खानी पड़ेगी और वे कभी भी विधानसभा और लोकसभा का मुंह तक नहीं देख पाएंगे. कांग्रेस पर षड्यंत्र रचकर इनेलो को कमजोर करने का आरोप लगाते हुए अभय चौटाला ने कहा कि हमारी रैली में पेड़ वर्करों का इस्तेमाल करवाकर अनुशासन तोड़ने का काम किया गया. 
दुष्यंत पर निशाना साधते हुए अभय चौटाला ने कहा कि 17 की रैली इसीलिए स्थगित की गई थी कि कुछ लोग पार्टी सुप्रीमो के फरलो में अड़चन डाल रहे थे. उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के बाद केंद्र में बनने वाली सरकार ने कोर्ट के आदेश के अनुसार यदि एसवाईएल का निर्माण नहीं कराया तो एक बार फिर आंदोलन किया जायेगा.


बाकी समाचार