Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

बुधवार, 24 अप्रैल 2019

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

हांसी की इनेलो रैली में उत्साह और जोश था सिरे से गायब, ओपी चौटाला नहीं फूंक सके जान

जेजेपी लगातार इनेलो को खोखली कर रही है।

In Hansi's Inelo rally, excitement and enthusiasm was missing from the end, OP Chautala could not burn, naya haryana, नया हरियाणा

1 मार्च 2019



नया हरियाणा

इनेलो सुप्रीमो ओपी चौटाला ने हांसी में जन अधिकार रैली में जनता को संबोधित करते हुए कहा कि देश की सरकार अब लोकसभा चुनाव करवाने को मजबूर है, लेकिन अभी तक वो संशय में है कि लोकसभा और विधानसभा के चुनाव इक्कट्ठे करवाए जाए। सरकार को अब मजबूर होकर मुझे छोड़ना पड़ेगा।  मार्च के महीने में मैं जनता के बीच आ जाउंगा और उस वक्त उन लोगों को भी साथ लाने का काम करुंगा जो किन्हीं कारणों से दूसरी जगह चले गए हैं।

ओपी चौटाला ने कहा कि देश में अप्रैल के महीने में हर हाल में चुनाव होंगे। लोकसभा चुनाव के लिए कभी भी चुनाव करवाने की घोषणा हो सकती है, ऐसे में प्रदेश का हर कार्यकर्ता तैयार रहे और प्रदेश में लोकसभा चुनाव में इनेलो का विशेष दर्जा होना चाहिए। ताऊ देवीलाल ने कहा था कि सरकार जनता के लिए होती है, लेकिन अब जो सरकार बनी हुई है वो जनता की नहीं है. इस सरकार का पतन करना जरुरी है. और इस पतन का जिम्मा अब इंडियन नेशनल लोकदल के कार्यकर्ताओं के हाथ में है। इंडियन नेशनल लोकदल पार्टी के जुझारू कार्यकर्ता अब इस सरकार से मुक्ति जनता को दिलवाने में अहम रोल निभाएंगे। उन्होने कहा कि कभी कांग्रेस का सूपड़ा साफ करने के लिए जेपी की अगुवाई में जनता पार्टी का गठन हुआ था और कांग्रेस पार्टी को हराया था। 1989 में फिर से ताऊ देवीलाल के साथ जनता दल का गठन किया गया था। आज 1898 के मुकाबले में जनता ज्यादा परेशान है। लेकिन लोगों को इक्कट्ठा करने वाला कोई नहीं है। लेकिन इंडियन नेशनल लोकदल के ये जूझारु कार्यकर्ता अब उस बदलाव को कर सकते हैं। ओपी चौटाला ने कार्यकर्ताओं से अपील करते हुए कहा कि अब हर प्रकार के आपसी भेदभाव भूलकर सभी को मनाओ और इनेलो को मजबूत बनाओ।

ओपी चौटाला ने कहा कि इस कृषि प्रधान देश को फिर से कुशल बनाया जाए। किसान की सारी समस्याओं का समाधान सिर्फ एक ही है कि हमारी सरकार बनते ही पहली कलम से स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू किया जाएगा। उन्होने कहा कि सरकार ने घोषणापत्र में यह दावा किया था, लेकिन सरकार बनने के बाद उन्होने इस रिपोर्ट को छेड़ा ही नहीं। ओपी चौटाला ने किसानों के लिए घोषणा करते हुए कहा कि स्वामीनाथन रिपोर्ट और तेलंगाना की तर्ज पर किसानों को पैसे देने का काम करेंगे। पहले किसान और व्यापारी का मेलजोल बहुत बढिया था, लेकिन कांग्रेस ने स्टेट ट्रैडिंग सिस्टम शुरु किया था जिसके बाद हमने किसान का बाजरा सरकारी रेट पर खऱीदा था. हमने किसान से महंगे दाम पर लिया था और कम दामों पर आगे बेचा था। हमारा एक ही उद्देश्य था कि किसानों को लाभ पहुंचाया जाए। पुलवामा में हमारे जवानों ने शहादत दी है, देश के लिए उनका सबसे बड़ा योगदान है। ओपी चौटाला ने घोषणा करते हुए कहा कि हमारी सरकार बनने के बाद सैनिकों को 100 गज का प्लाट मकान बनाने के लिए दिया जाएगा।

ओपी चौटाला ने कहा कि चौधरी देवीलाल ने बुढ़ापा पेंशन शुरु की गई थी। उस वक्त 100 रुपये महीने की शुरु की गई थी, लेकिन हमारी सरकार बनने के बाद रोजाना 100 रुपये पेंशन दी जाएगी। वहीं सैनिकों को 10 हजार रुपये की मासिक पेंशन हमारी सरकार की तरफ से दी जाएगी। अजीब हालात आज है. आज हम पाकिस्तान को पानी दे रहे हैं, लेकिन एसवाईएल का हमारे हिस्से का पानी नहीं दिया जा रहा है, सरकार की तरफ से इसमें लगातार अड़ंगा डाला जा रहा है. ओपी चौटाला ने कहा कि मेवात कैनाल को पहली कलम से चालू किया जाएगा। ओपी चौटाला ने कहा कि एसवाईएल के पानी के लिए हमें कितना भी संर्घष करना पड़े वो हम करेंगे लेकिन एसवाईएल का पानी लाकर रहेंगे। आखिर में कहा कि जो भी कार्यकर्ता आज नहीं पहुंच पाए उनको मेरी तरफ से राम राम कहना।

रैली में पहुंचे हुए लोगों के अनुसार हांसी में इनेलो की रैली में भीड़ कम ही रही और जो उत्साह इनेलो की रैली में होता है। वो भी देखने को नहीं मिला। दूसरी तरफ ओमप्रकाश चौटाला के भाषण में भी वो दमखम नजर नहीं आया। इनेलो के कार्यकर्ता भीतर से बिखरे हुए और टूटे हुए नजर आ रहे थे। कुल मिलाकर इनेलो के लिए भविष्य के संकेत सुखद नहीं लग रहे हैं। दूसरी तरफ राजनीतिक गलियारों में चर्चाएं हैं कि इनेलो में बचे हुए एमएलए भी विधानसभा चुनाव नजदीक आते-आते भाग खड़े होंगे. कई नामों की तो खुलेआम चर्चाएं चल रही हैं. जेजेपी लगातार इनेलो को खोखली कर रही है। ऐसे में इनेलो का दिन-प्रतिदिन ग्राफ घटता जा रहा है। इनेलो कार्यकर्ता किसी चमत्कार के भरोसे ज्यादा लंबे समय तक इनेलो में टिक नहीं पाएंगे. वो धीरे-धीरे जेजेपी, बीजेपी और कांग्रेस में शिफ्ट हो जाएंगे।


बाकी समाचार