Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

गुरूवार, 24 मई 2018

पहला पन्‍ना English लोकप्रिय राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात समाज और संस्कृति समीक्षा Faking Views

हरियाणा बजट 2018 : स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा के क्षेत्र की उपलब्धियां एवं योजनाएं

सरकार की प्रत्येक जिले में चिकित्सा विश्वविद्यालय खोलने की घोषणा कब पूरी होगी, ये गौर करने वाली बात है.

Haryana Budget 2018, Achievements and Schemes,  Health and Medical Education Sector,, naya haryana, नया हरियाणा

12 मार्च 2018

नया हरियाणा

हरियाणा विधान सभा के पटल पर वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने वर्ष 2018 का बजट प्रस्तुत किया. स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा के क्षेत्र में सरकार की उपलब्धियों एवं योजनाओं का लेखा जोखा इस प्रकार रहा है-
-प्रदेश में 60 अस्पतालों, 8 ट्रॉमा सेंटर, 3 बर्न यूनिट्स, 124 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों, 500 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों और 2,630 उप-स्वास्थ्य केंद्रों और 64 शहरी औषधालयों/पॉलीक्लिनिक्स के नेटवर्क के माध्यम से स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की जा रही हैं। 
-मुख्यमंत्री मुफ्त इलाज योजना सरकार का एक प्रमुख कार्यक्रम है, जिसके अंतर्गत 7 प्रकार की सेवाएं, नामतः सर्जरी, प्रयोगशाला परीक्षण, नैदानिक (एक्सरे, ईसीजी और अल्ट्रासाउंड सेवाएं), ओपीडी/इनडोर सेवाएं, दवाइयां, रेफरल ट्रांसपोर्ट और दंत चिकित्सा उपचार निःशुल्क उपलब्ध करवाई जा रही हैं। 
-सार्वजनिक-निजी भागीदारी पद्धति पर, सरकार द्वारा लोगों को सीटी स्कैन, एमआरआई, हेमोडायलिसिस और कैथ लैब सेवाएं उपलब्ध करवाई जा रही हैं। सीटी स्कैन सेवाएं 11 जिला नागरिक अस्पतालों (भिवानी, फरीदाबाद, पंचकूला, गुरुग्राम, कैथल, कुरुक्षेत्र, सोनीपत, यमुनानगर, पलवल, जींद और सिरसा) में उपलब्ध हैं तथा 5 और नागरिक अस्पतालों (हिसार, पानीपत, रोहतक, अम्बाला शहर और अम्बाला छावनी) तक इनका विस्तार किया जा रहा है। 
-एमआरआई सेवाएं 4 जिला नागरिक अस्पतालों (पंचकूला, फरीदाबाद, गुरुग्राम और भिवानी) में उपलब्ध हैं और नागरिक अस्पताल अंबाला छावनी में प्रक्रियाधीन हैं। हेमोडायलिसिस सेवाएं 7 नागरिक अस्पतालों (पंचकूला, गुरुग्राम, जींद, फरीदाबाद, सिरसा, हिसार और अम्बाला छावनी) में संचालित हैं और जल्द ही अन्य शेष जिलों के नागरिक अस्पतालों में संचालित कर दी जाएंगी। 
-नागरिक अस्पताल, पंचकूला और अम्बाला छावनी में हृदय चिकित्सा सेवाएं अर्थात कार्डियक कैथ लैब और कार्डियक केयर यूनिट्स और एंजियोग्राफी, एंजियोप्लास्टी जैसी सेवाएं तथा 20 बिस्तरों वाली कार्डियक केयर यूनिट्स शुरू हो गई हैं तथा फरीदाबाद और गुरुग्राम के नागरिक अस्पतालों में भी इनका विस्तार किया जाएगा। 
-शत-प्रतिशत नाम आधारित उच्च जोखिम गर्भावस्था के मामलों की पहचान करने के लिए ’उच्च जोखिम गर्भावस्था पोर्टल’ के नाम से एक अभिनव वेब एप्लिकेशन विकसित करने और लागू करने वाला हरियाणा देश का पहला राज्य है। 
-सरकार की परिकल्पना प्रत्येक जिले में सरकारी या निजी क्षेत्र में, चिकित्सा महाविद्यालय खोलने की है। इस श्रृंखला में, भिवानी और जींद में राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय खोलने की प्रक्रिया जारी है। महेन्द्रगढ़ में भी एक चिकित्सा महाविद्यालय खोलने का प्रस्ताव है। 
-राज्य सरकार द्वारा गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण, नगर निगम गुरुग्राम और श्री माता शीतला देवी पूजा स्थल बोर्ड, गुरुग्राम के सहयोग से गुरुग्राम में एक चिकित्सा महाविद्यालय स्थापित किया जाएगा। 
-झज्जर के गांव बाढसा में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के परिसर में राष्ट्रीय कैंसर संस्थान भी स्थापित किया जा रहा है, जो अप्रैल, 2018 से शुरू होने की संभावना है। 
-इसके अलावा, राज्य सरकार ने केंद्र सरकार से रेवाड़ी में भी एक अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान स्थापित करने का आग्रह किया है।
-स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण के लिए वर्ष 2018-19 में 4,769.61 करोड़ रुपये आवंटित करने का प्रस्ताव किया गया, जोकि संषोधित अनुमान 2017-18 के 3,815.07 करोड़ रुपये के परिव्यय से 25.02 प्रतिशत की वृद्धि है। 
-प्रस्तावित परिव्यय में स्वास्थ्य विभाग के लिए 2,964.54 करोड़ रुपये, चिकित्सा शिक्षा और अनुसंधान के लिए 1,344.14 करोड़ रुपये, आयुष के लिए 278.29 करोड़ रुपये, ईएसआई के लिए 160.01 करोड़ रुपये और खाद्य एवं औषध के लिए 22.63 करोड़ रुपये का परिव्यय शामिल है।
 




बाकी समाचार