Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

बुधवार, 24 अप्रैल 2019

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

सर्वोत्तम खेल नीति की बदौलत हरियाणा बना खेलों का हब : राज्यपाल

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में अनेक ऐसी योजनाएं लागू की हैं जो भारत को विश्व का अग्रणी देश बनाएंगी।

Thanks to the best sports policy, the hub of sports made by Haryana, sports minister Anil Vij, Governor Satyadev Narayan, naya haryana, नया हरियाणा

23 फ़रवरी 2019



नया हरियाणा

हरियाणा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने कहा कि अपनी सर्वोत्तम खेल नीति के कारण आज हरियाणा खेलों का हब बन गया है। यहां के बेहतरीन खिलाडिय़ों ने विश्व में भारत का नाम रोशन किया है। खिलाडिय़ों की इस उपलब्धि पर पूरा प्रदेश गौरवांवित है। महामहिम राज्यपाल ने यह बात आज महाबीर स्टेडियम में पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्मृति तृतीय अखिल भारतीय कबड्डी प्रतियोगिता के शुभारंभ अवसर पर खिलाडिय़ों व दर्शकों को संबोधित करते हुए कही। इस मौके पर खेल मंत्री अनिल विज, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष व टोहाना विधायक सुभाष बराला, राज्यसभा सांसद डॉ. डीपी वत्स, विधायक एवं एचबीपीई के चेयरमैन डॉ. कमल गुप्ता व खेल विभाग के प्रधान सचिव अशोक खेमका भी उपस्थित थे। 
 राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने दीप प्रज्ज्वलित कर तीन दिवसीय कबड्डी प्रतियोगिता का शुभारंभ किया और खिलाडिय़ों का परिचय लेते हुए उन्हें शुभकामनाएं दीं। उपायुक्त अशोक कुमार मीणा ने राज्यपाल व खेल मंत्री को पगड़ी पहनाकर उनका स्वागत व अभिनंदन किया। इस दौरान पुलवामा में शहीद हुए सैनिकों को 2 मिनट का मौन रखकर ङ्घाद्धांजलि अर्पित की गई। प्रतियोगिता में भाग लेने वाली टीमों ने भव्य मार्च पास्ट किया। खिलाडिय़ों को नशे से दूर रहते हुए खेल भावना से खेलने की शपथ दिलाई गई। इस दौरान कबड्डी खेल पर आधारित डॉक्यूमेंट्री फिल्म भी दर्शकों को दिखाई गई। उद्घाटन समारोह में प्रसिद्ध गायकों व कलाकारों ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए। हिसार में पहली बार आगमन पर हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय में राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य को पुलिस द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।
 कबड्डी प्रतियोगिता के शुभारंभ की घोषणा करते हुए राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने देशभर से आए खिलाडिय़ों का अभिनंदन किया। उन्होंने कहा कि यह हमारे लिए गौरव की बात है कि राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर की खेल प्रतियोगिता में हरियाणा के खिलाडिय़ों ने सर्वाधिक मेडल प्राप्त किए हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार ने 1166 खिलाडिय़ों को 33 करोड़ 25 लाख रुपये की राशि पुरस्कार के रूप में प्रदान की है। उन्होंने कहा कि कृषि व पशुपालन के साथ-साथ खेलों में भी हरियाणा नंबर वन है। खेलों से खिलाडिय़ों में टीम भावना व प्रतिस्पर्धा का विकास होता है जो उन्हें जीवन आगे बढ़ाता है। 
 उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में अनेक ऐसी योजनाएं लागू की हैं जो भारत को विश्व का अग्रणी देश बनाएंगी। सबका साथ-सबका विकास, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ तथा स्वच्छ भारत-स्वस्थ भारत जैसे सामाजिक अभियानों ने भी विश्व में भारत की रैंकिंग में सुधार किया है।  उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल के विशेष प्रयासों ने हरियाणा को खेलों, शिक्षा व अन्य क्षेत्रों में विकास के मामले में प्रथम राज्य बना दिया है। 
     खेल मंत्री अनिल विज ने पुलवामा में शहीद हुए सैनिकों व हिसार निवासी विंग कमांडर दिवंगत साहिल गांधी को ङ्घाद्धांजलि के साथ अपना संबोधन शुरू किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार परंपरागत खेलों को बढ़ावा देने के लिए कृत संकल्प है। इसीलिए हरियाणा में एक करोड़ रुपये इनाम वाली कबड्डी प्रतियोगिता और एक करोड़ रुपये इनाम वाले कुश्ती दंगल का शुभारंभ किया गया है। इनका प्रभाव यह हुआ कि अब गांव-गांव दोबारा अखाड़े शुरू हो गए और कुश्ती के दंगल होने लगे। उन्होंने बताया कि आज हिसार में शुरू हुई तृतीय अखिल भारतीय कबड्डी प्रतियोगिता के प्रथम विजेता को 1 करोड़़ के साथ-साथ द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाली टीम को 50 लाख रुपये, तृतीय स्थान प्राप्त करने वाली टीम को 25 लाख तथा चतुर्थ स्थान प्राप्त करने वाली टीम को 11 लाख रुपये का इनाम प्रदान किया जाएगा।
     खेल मंत्री ने कहा कि हरियाणा सरकार ने खेल और खिलाडिय़ों को प्रोत्साहन देेने के लिए देश ही नहीं, विश्व की बेहतरीन नीति बनाई है। ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतने वाले खिलाड़ी को यहां 6 करोड़ रुपये का इनाम और एचसीएस व एचपीएस की नौकरी दी जाती है। हरियाणा में पहले मां-बाप अपने बच्चे को कहते थे कि सारा दिन खेलता रहता है, थोड़ा पढ़ भी लिया कर। लेकिन प्रदेश सरकार की खेल नीति के कारण अब मां-बाप कहते हैं कि पढ़ाई में मन नहीं लगता तो कोई बात नहीं, खेल लिया कर। उन्होंने कहा कि सरकार ने अपने खिलाडिय़ों को प्रोत्साहन देने के लिए पारदर्शी खेल नीति बनाई जो खेल विभाग की वेबसाइट पर उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि ओलंपिक, एशियन, कॉमनवेल्थ व राष्ट्रीय खेलों में हरियाणा के खिलाडिय़ों ने हमेशा प्रदेश का परचम लहराया है। 
     उन्होंने बताया कि प्रदेश में प्राप्त हुए आवेदनों के आधार पर 15 अगस्त तक सभी खिलाडिय़ों को इनाम दिए जा चुके हैं। बचे हुए खिलाडिय़ों के आवेदन 22 फरवरी तक लिए जा रहे हैं। इसके एक सप्ताह बाद तक उनके बैंक खातों में इनाम की राशि भिजवाई जाएगी। उन्होंने कहा कि हमारा मानना है कि यदि हरियाणा के खिलाडिय़ों को मूलभूत सुविधाएं मिलें तो वे पूरे भारत की मेडलों की भूख को अकेले ही पूरा कर सकते हैं। खिलाडिय़ों के लिए प्रदेश के 10 जिलों में 25-25 करोड़ रुपये की लागत से मल्टीपर्पज हॉल बनाए जाने की योजना है। 
     खेल मंत्री ने कहा कि 1 करोड़ इनाम वाली पहली कबड्डी प्रतियोगिता सोनीपत में तथा दूसरी जींद में करवाई गई थी जबकि तृतीय प्रतियोगिता आज से हिसार में शुरू हुई है। उन्होंने सभी खिलाडिय़ों को शुभकामनाएं देते हुए बताया कि 1 करोड़ रुपये इनाम राशि वाली आगामी दंगल प्रतियोगिता पानीपत में आयोजित करवाई जाएगी। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार द्वारा शुरू की गई 1-1 करोड़ रुपये इनाम वाली कबड्डी व दंगल प्रतियोगिता विश्व की सबसे बड़ी इनामी प्रतियोगिता है। सरकार का मकसद है कि युवा अपने परंपरागत खेलों से जुड़ें और नशे की लत से दूर रहें।
     खेल प्रतियोगिता में हरियाणा, बिहार, महाराष्ट्र, उत्तराखंड, उत्तरप्रदेश, इंडियन रेलवे, सर्विसिज, सीआईएसएफ व ओएनजीसी की टीमों ने भागीदारी की। मास्टर सलीम सहित अनेक प्रसिद्ध कलाकारों व गायकों ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। रामनिवास शर्मा व आरजे रॉकी ने कार्यक्रम का संचालन किया।


बाकी समाचार