Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

मंगलवार, 23 जुलाई 2019

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

भाजपा ने किसानों को 6-6 हजार रुपये देने का झुंझना थमाया : सांसद दुष्यंत

उन्होंने कहा कि फसल बीमा योजना अंग्रेजों के जजिया कर से भी बड़ा कर है.

BJP gave Rs 6-6 thousand to farmers, quarreled, MP Dushyant Chautala, Prime Minister Crop Insurance, naya haryana, नया हरियाणा

23 फ़रवरी 2019



नया हरियाणा

भिवानी पहुंचे सांसद दुष्यंत चौटाला ने भाजपा और अपने चाचा पर जमकर निशाना साधा। जहां एक तरफ उन्होंने किसानों को दिए जाने वाले 6-6 हजार रूपये को झुंझना करार दिया, वही फसल बीमा योजना को अंग्रेजों के जजिया कर से भी बड़ा कर बताया। साथ ही उन्होंने कहा कि नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला को साढ़े तीन माह में ना तो एसवाईएल याद रही ना भाजपा का भ्रष्टाचार। दुष्यंत ने चुटली की ली ठग-ठोरी करने वाले अब केवल इनेलो में रह गए हैं। शुक्रवार को देवीलाल सदन में जेजेपी की जिला कार्यकर्ता बैठक का आयोजन किया गया। इस बैठक में मुख्य रूप से सांसद दुष्यंत चौटाला पहुंचे। इस अवसर पर उन्होंने कार्यकर्ताओं को लोकसभा और संभव हुए तो विधानसभा चुनावों के लिए तैयार रहने को कहा। इसके लिए उन्होने संगठन मजबूत करने को भी कहा। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि जींद उपचुनावों में साबित हो गया है कि प्रदेश में मुख्य विपक्षी दल जेजेपी है। उन्होंने भाजपा को बहुत चालाक पार्टी बताया और कहा कि जींद उपचुनाव के बाद हमारे बारे में गलत प्रचार शुरू कर दिया है। भाजपा कहती है कि छोटा वोट दुष्यंत को और बड़ा वोट मोदी को दो। उन्होंने कार्यकर्ताओं को कहा कि भाजपा के झांसे में नहीं आना है। छोटा और बड़़ा दोनों वोट जेजेपी को देने हैं। साथ ही उन्होंने दावा किया कि प्रदेश में भाजपा के सात सांसदों ने सदन में मेरे मुकाबले आधी आवाज उठाई हो तो मैं चुनाव नहीं लङूंगा। उन्होंने कहा कि इस बार भाजपा को कुश्ती के दांव धोबी पछाड़ की तरह पछाङने की जरूरत है। दुष्यंत ने कहा कि भाजपा ने किसानों को सालाना 6-6 हजार रूपये देने का झुंझना दे दिया है। उन्होंने कहा कि 6-6 हजार रूपये देने वाले किसानों को फसल बीमा के 3-3 हजार क्यों नहीं दे देते। सासंद ने कहा कि फसल बिमा योजना अंग्रेजों के जजिया कर से भी बड़ा कर है। क्योंकि अंग्रेज फसल खराब होने पर कर नहीं लेते थे, लेकिन भाजपा बिजाई के साथ ही कर ले लेती है। उन्होने कहा कि नोर्थ इंडिया की एक रिपोर्ट से तय हो गया है कि सरकार ने फसल बीमा के नाम पर एक साल में किसानों से 2300 करोड़ रुपये वसूले हैं जबकि किसानों को मुआवजे के तोर पर मात्र 183 करोड़ रुपये दिये हैं। उन्होने कहा कि प्रदेश सरकार ग्रुप डी की नौकरियों का ठिंठोरा पिट रही है लेकिन जल्द ही इसकी हकिकत भी सामने आएगी। वहीं मीडिया से रुबरु हुए सासंद दुष्यंत चौटाला ने आप से गठबंधन के सवाल पर कहा कि इस बारे में नेशनल एक्जीक्यूटिव कमेटी तय करेगी। साथ ही उन्होंने कहा कि अभी कौन कहां से कौन सा चुनाव लड़ेगा ये तय नहीं है, लेकिन मेरी इच्छा हिसार से लोकसभा चुनाव लङने की है। साथ ही उन्होने अपने चाचा अभय चौटाला पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि अभय को पिछले साढ़े तीन माह में ना तो एसवाईएल याद रही ना ही भाजपा के घोटाले। वो केवल हमें याद रखते हैं और कभी हमें पैसे लेने वाले तो कभी पैसे बांटने वाले कहते हैं। कुछ रोज पहले अभय द्वारा चरखी दादरी में अपने ही पदाधिकारियों को ठगी-ठोरी करने वाले कहने पर दुष्यंत ने कहा कि ऐसे लोग हमने नहीं लिए, वो केवल इनेलो में रह गए। उन्होंने पुलवामा हमले पर कहा कि पाक व आतंक को खत्म करने के लिए एक्साईज ड्यूटी बढ़ाने या पानी रोकने की धमकी देने से काम नहीं चलेगा। केन्द्र सरकार को चाहिए कि वो दो दिन का ज्वाईंट सत्र बुलाए और धारा-370 खत्म करे।


बाकी समाचार