Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

गुरूवार, 24 मई 2018

पहला पन्‍ना English लोकप्रिय राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात समाज और संस्कृति समीक्षा Faking Views

मेरे हलक में हाथ डाल कर मेरे पीने का पानी छीनने वाले SYL को लेकर घड़ियाली आंसू ना बहाएं -दक्षिण हरियाणा 

दक्षिण हरियाणा के साथ पानी की राजनीति को लेकर जवाहर यादव ने सरकार और विपक्ष दोनों की नीतियों को उजागर किया है.

south haryana politics, syl water , naya haryana, नया हरियाणा

5 मार्च 2018

जवाहर यादव

मैं दक्षिण हरियाणा इनेलो राज की अपनी व्यथा सुना रहा हूं। 
राज्य के एक राजनीतिक दल को रह-रहकर मेरे पानी की याद आती है। लेकिन मेरे लिए यह बड़ी हैरानी की बात है कि दशकों से जिन लोगों ने मेरे पानी पर डाका डाला है, आज वे मेरे हिमायती बन रहे हैं।

सत्ता से बाहर रहते टाइम ये मेरे पानी की कमी के ज़ख़्म हरे करते हैं और सत्ता में आते ही उन ज़ख़्मों पर नमक डालने का काम करते हैं। मेरे यहां पहुंचने वाले पीने के पानी का भी इनेलो की सरकारों में मुंह मोड़ दिया गया। जिस नरवाना ब्रांच नहर के जरिए भाखड़ा का पानी मध्य हरियाणा से होते हुए दक्षिण को आना था, उसके पानी को मेन भाखड़ा ब्रांच के जरिए कुछ विशेष लोगों तक पहुंचाया गया। अपने खेत लबालब भरने के लिए मेरे बच्चों के पीने के पानी पर भी डाका मारा। क्योंकि ये मानते हैं कि लोगों  को बहकाना चाहिए, परंतु देना नहीं चाहिए । परंतु इनेलो भूल गयी कि मेरे मेहनतकश बच्चे अब बड़े हो गये हैं। वो एक परिवार की तरफ़ ना देख कर अपना हक़ लेना जान गए हैं। मनोहर सरकार की ‘हरियाणा एक हरियाणवी एक’ , ‘सबका साथ सबका विकास’ नीति के तहत ।

यह वही इनेलो है जिसकी सरकार में पंजाब की सरकार ने जल समझौते तोड़ दिए थे। उस वक्त भाजपा विधायकों ने इस्तीफा दे दिया, लेकिन इनेलो के विधायक सत्ता का लालच नहीं छोड़ पाए और मुंह पर ताला लगाए बैठे रहे।

ये मेरे वो गुनेहगार हैं जिन्होंने मुझसे बस वोट लिये। ना मुझे कभी बराबर का राजनीतिक प्रतिनिधित्व दिया, ना कभी यहां के विकास की सोची। मेरे बच्चों की SYL को लटका कर केवल पीने का पानी ही नहीं छीना गया, यहां के उद्योगपति भी डरे-डरे रहने लगें।  सरकारी नौकरियां तो मेरिट पर देना उनको आता ही नहीं था, ( जिसकी पुष्टि स्वयं न्यायलय भी कर चुका है ) निजी क्षेत्र वाला रोजगार भी नहीं छोड़ा। ऐसे लोग मेरे शुभचिंतक कभी नहीं हो सकते। अगर अब वे कोई ढोंग कर भी रहे हैं तो उस पर अब मेरे बच्चे यकीन नहीं करने वाले। 
SYL के नाम पर राजनीति कर रहा ये दल अपने इतिहास को भूल गया है और गलतफहमी में है कि लोगों की याददाश्त कमजोर है। इस दल के राजनीतिक भेदभाव को दक्षिण हरियाणा भूला नहीं है और उनके ढोंग से अच्छी तरह वाकिफ है।


मेरे लोगों की प्यास बुझाई है इस दौर की भाजपा सरकार ने। जिसने नहरों की उन 300 टेल में से 293 टेल पर पानी पहुंचा दिया जहां 25-30 सालों से पानी नजर नहीं आया था। रास्ते में ही जो पानी चोरी हो जाता था, अब वो भी सही हकदार किसानों तक पहुंच रहा है।
इनेलो के इन नेताओं को लोगों की आंखों में धूल झोंकने से बाज आना चाहिए और घड़ियाली आंसू बहाने बंद कर देने चाहिए। इनको जवाब देना चाहिए जब मनोहर सरकार मुझे पानी दे सकती है तो चौटाला सरकार और हुड्डा सरकार ने क्यों नही दिया ?




बाकी समाचार