Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

मंगलवार, 23 जुलाई 2019

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

दूसरों की भलाई के लिए प्रेरित करती हैं संतों की शिक्षा : कृषि मंत्री धनखड़

कृषि मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ ने बादली में संत रविदास भवन की आधारशिला रखी.

Inspire others for the good of others, education of saints, agriculture minister Omprakash Dhankar, naya haryana, नया हरियाणा

20 फ़रवरी 2019



नया हरियाणा

संतों की शिक्षा मानव को दूसरों की भलाई के लिए प्रेरित करती है , इसलिए हमे संतों के बताए सद्ïमार्ग को जीवन में आत्मसात करते हुए आगे बढऩा चाहिए। प्रदेश के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री औम प्रकाश धनखड़ ने मंगलवार को संत शिरोमणि गुरू रविदास की जंयती के पावन पर्व पर बादली में संत रविदास भवन की आधारशिला रखने उपरांत लोगों को संबोंधित करते हुए ये उदगार व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि गुरू रविदास 15 वीं सदी के महान समाज सुधारक, दार्शनिक, कवि तथा अध्यात्मिक विभूति थे, ऐसे महान संत के नाम बनने वाले भवन का शिलान्यास करते हुए गौरवान्वित महसूस करता हूं। कार्यक्रम में पंहुचने पर संत रविदास जन कल्याण समिति पदाधिकारियों ने कृषि मंत्री  धनखड़ का जोरदार स्वागत किया।
    कृषि मंत्री  धनखड़ ने कहा कि प्रदेश सरकार ने पिछले सवा चार साल में संत-महात्माओं की शिक्षाओं का अनुसरण करते हुए गरीब,मजदूर, दुकानदार, किसान आदि के जीवन स्तर को सुधारने के निरंतर ईमानदारी से प्रयास किए हैं। संत रविदास, संत कबीरदास, बाबा साहेब अंबेडकर, महर्षि बाल्मीकी की शिक्षाओं को जन-जन तक पंहुचाने के उदेश्य के साथ इन महापुरूषों की जयंती राजकीय स्तर पर मनाने का निर्णय हमारी सरकार ने लिया । इससे सामाजिक सदभाव बढ़ता है और युवाओं को नई चेतना व उर्जा मिलती है। उन्होंने कहा कि संत शिरोमणि गुरू रविदास ने संपूर्ण जीवन सदाचार,सादगी और कर्मयोग का संदेश दिया। हरियाणा सरकार उनके इस संदेश पर चलते हुए अंतोदय की भावना को पूरी तरह से अमल में ला रही है। 
    पंचायत मंत्री  धनखड़ ने इस उपरांत बामडौला में आयोजित संत शिरोमणि रविदास जयंती समारोह में शिरकत की । उन्होंने कहा कि गुरू रविदास की रचनाओं की विशेषता लोकवाणी रही है, जिसने जनमानस को बहुत प्रभावित किया। उन्होंने सामाजिक भेदभाव की कुरीतियों को दूर करते हुए सबको परस्पर मिलजुल रहने का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि  हमें गुरू रविदास की शिक्षाओं का अनुसरण , सद्ïभाव व भाईचारे की कडिय़ों को और मजबूत करते हुए प्रदेश के चहुमुखी विकास में अपनी सकारात्मक व रचनात्मक भूमिका अदा करने का सकंल्प लेना चाहिए।


बाकी समाचार