Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

शुक्रवार, 22 जनवरी 2021

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

सत्ता के लालच में किए गए गठबंधन कामयाब नहीं होते : सुभाष बराला

उन्होंनें राजकुमार सैनी को भाजपा का सांसद मानने से इंकार करते हुए कहा कि सैनी तकनीकि रूप से तो सांसद हैं, लेकिन उन्हें भाजपा का सांसद नहीं कहा जा सकता।

Alliance in power of greed, BSP lospa, are not successful, Subhash Barla, naya haryana, नया हरियाणा

9 फ़रवरी 2019



नया हरियाणा

भाजपा पार्टी कुरूक्षेत्र के सांसद राजकुमार सैनी को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाने की हिम्मत तो जूटा नहीं पा रही है, लेकिन प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला ने ये जरूर मान लिया है कि सैनी भाजपा के सांसद नहीं हैं और जो सैनी ने बसपा के साथ गठबंधन किया है वह अवसरवादिता का गठबंधन है और यह ज्यादा नहीं चल पाएगा। बराला रोहतक की जाट शिक्षण संस्थाओं में छोटूराम जयंति पर आयोजित कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे थे। 

 बराला ने कहा कि चौ. छोटूराम ने किसानों के हित के लिए काम किया था, उनके नाम से राजनीति तो बहुत लोग करते हैं, लेकिन भाजपा ही एक एसी पार्टी है, जिसने उनके सपनों को पूरा किया। किसानों के हित के लिए स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट की ज्यादातर हिदायते सरकार लागू कर चूकी है। किसानों की पैंशन पर भी काम चल रहा है। 

 वहीं आज उन्होंनें राजकुमार सैनी को भाजपा का सांसद मानने से इंकार करते हुए कहा कि सैनी तकनीकि रूप से तो सांसद हैं, लेकिन उन्हें भाजपा का सांसद नहीं कहा जा सकता। सैनी और बसपा के गठबंधन को बराला ने अवसवादिता का गठबंधन करार देते हुए कहा कि जनहित के गठबंधन कामयाब हो सकते हैं। लेकिन सत्ता के लालच में किए गए गठबंधन कामयाब नहीं होते, इस गठबंधन का भी यही हाल होना है। उन्होंने कहा कि जनादेश का सम्मान करना उनका लक्ष्य है। जिसे सोच कर जनता ने भाजपा को जनादेश दिया था, उसी को देखते हुए वे काम कर रहे हैं। 


बाकी समाचार