Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

शनिवार, 24 अक्टूबर 2020

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

जानिए हरियाणा की राजनीति में बन रहे नए समीकरण

सोशल मीडिया पर नए समीकरणों को लेकर काफी चर्चाएं हो रही हैं.

The new equation, JJP, BJP, AAP, INLD, BSP, Congress in Haryana's politics, naya haryana, नया हरियाणा

6 फ़रवरी 2019



नया हरियाणा

हरियाणा में चुनाव से पहले गठबंधन के कुछ नए समीकरण बनते दिखाई दे रहे हैं. इनेलो से बसपा का गठबंधन टूटने के बाद इस तरह के कयास लगाए जा रहे हैं कि कुछ औपचारिकताओं के बाद इसकी सार्वजनिक घोषणा कर दी जाएगी. कई बार सियासी दलों में गठबंधनों के माहौल से गुजर चुकी हरियाणा की सियासत में फिर एक नया गठबंधन दिखाई दे सकता है. केंद्र की तरह हरियाणा में सक्रिय सियासी दलों की निगाहें इस बार मिशन- 2019 पर टिकी है. यह दल लोकसभा में अच्छा प्रदर्शन करने के बाद अक्टूबर-2019 में ही प्रस्तावित विधानसभा चुनाव जीतकर सत्तासीन होने की लालसा रखते हैं. वर्ष 2014 में पहली बार हरियाणा में भाजपा ने अपनी सरकार अकेले अपने दम पर बनाई थी. जबकि 1999 में भाजपा तत्कालीन सत्तासीन इनेलो सरकार में उनका सहयोगी दल था. हरियाणा में भाजपा- 2019 में अकेले लड़ने का दम भर रही है. इस बार भी माहौल अलग है. सरकार पांचों नगर निगम चुनाव व जींद उपचुनाव जीतकर अति उत्साह में दिखाई दे रही है. साथ ही आगामी लोकसभा व विधानसभा चुनाव जीतने का दावा भी कर रही है. प्रदेश में भी भाजपा को रोकने के लिए विभिन्न सियासी दल अपनी अपनी मोर्चाबंदी में जुट गए हैं और गठबंधन की सियासत भी इसी मोर्चाबंदी का हिस्सा हो सकती है. वर्तमान राजनीतिक परिवेश में देखा जाए तो इनेलो-बसपा गठबंधन करीब 10 महीने में ही फेल हो गया. बसपा इस गठबंधन के टूटने के बाद दूसरी संभावनाएं तलाशेगी. उधर विघटन का दंश झेल रही इनेलो के लिए बसपा का भी दामन छूट जाना दुर्भाग्यपूर्ण होगा. ऐसे में जेजेपी के प्रत्याशी रह चुके दिग्विजय चौटाला ने भी गठबंधन के संकेत दे दिए हैं.


बाकी समाचार