Web
Analytics Made Easy - StatCounter
Privacy Policy | About Us

नया हरियाणा

शनिवार, 24 फ़रवरी 2018

पहला पन्‍ना English देश वीडियो राजनीति अपना हरियाणा शख्सियत समाज और संस्कृति आपकी बात लोकप्रिय Faking Views समीक्षा

प्रेमपत्र : फौजी का आपणी कसूत्ती फौजण तै

सुनीता करोथवाल हरयाणवी भाषा में लगातार लिखती रहती हैं. उन्होंने इस बार फौजी के पत्नी के प्रति प्रेम को उकेरा है.

loveletter : Military man to his wife, naya haryana

25 जनवरी 2018

 सुनीता  करोथवाल

तीन  दिन होग्ये, सूरज  न्यू  रूस  रह्या  सै  ,जणू  कोये  नयी  - नयी  बहू घूंघट  म्हं रूस  कै  बैठ  जाया  करै।  सूरज  अपणे  इश्क  की धूप  ले  आसमान  की अटारी  पै  कसूती ढाळ  लुक रह्या  सै। पत्ता - पत्ता ओंस  की बूंदा  तै उतणा ए भीज  रह्या  सै, जितणा  मैं तेरी यादां  म्हं भीज  रह्या  सूं। दूर  तक कुछ  नहीं  दिख  रह्या।  धुंध इसी  लागै  सै  जणू  किसे कलाकार न एक बहोत बड़ी बर्फ  की गुफा  बणा  दी  हो। तूं  इस गुफा  म्हं  तै  ईब लिकड़  कै आवैगी आर  चुपचाप  मेरी आँख्या पै हाथ धर  कै  चूड़ी बजा  कै इशारयां तै बूझैगी "बता  कौण?" आर मैं बिन देखे तेरे हाथां  की खुशबू तै पिछाण जाऊंगा।
   वोये जनवरी  का महीना  सै, वाये धुंध  सै। जिब पिछली साल आपीं साथ थे।  ऊँची पहाड़ी पै बंकर म्हं ऐकला खड़ा सूं। धरती आर तूं दोनूं नीचै रहग्ये,और मैं घणी दूर आपणी ड्यूटी पै खड़या सूं। बादळ गालां नै न्यू छू कै जावैं  सैं, जणू तनै दुपट्टे की फटकार मारी  सै। बस महसूस करूँ सूं,आर अहसास की बूंद सी  रह जावैं  सैं। एक हाथ म्हं बंदूक सै आर दूसरे हाथ म्हं मोबाइल की स्क्रीन पै तेरा फोटू मनै  टुकर - टुकर देख बुलावै  सै।

यो बसंत का मौसम,आर छावनी म्हं गुलाबां की भरमार हो रह्यी सै। लाल,पीले,सफेद सारी ढाळ के गुलाब खिल  रह्ये  सैं। तूं होंदी तो लाल गुलाब तोड़ कैं तेरे बाळां म्हं लगा देंदा। पर ,के करूं  मेरी गुलाबी! यो  मौसम आर या फौज  की नौकरी।
    जी तो मेरा बी घणा ए करै सै के आग जळा कै तेरे गैल हाथ सेकूं आर निवाये से हाथ तेरे गाल्लां पै लगा दयूं। तेरे गेल बैठ मूंमफळी खाऊं आर छीलके तेरे काहनी फूंक मार  कैं उड़ा देऊं। पर ईब छुट्टी नहीं  मिल रह्यी तो  किस तरहां आऊं? पर होळी लग पक्का आ लेऊंगा। तूं घणी उदास ना होईए।


        थारा फौजी
       


बाकी समाचार