Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2019

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

दुल्हन के वर्जिनिटी टेस्ट की कुप्रथा आज भी है जारी

प्रथा के मुताबिक, गांव की पंचायत दूल्हा-दुल्हन को सुहाग रात पर सफेद चादर मुहैया कराती है. अगली सुबह चादर पर अगर लाल धब्बा मिलता है तो दुल्हन वर्जिनिटी टेस्ट में पास हो जाती है.

virginity test Mischief, naya haryana, नया हरियाणा

23 जनवरी 2018



नया हरियाणा

देश में अजीबोगरीब किस्म के रीति-रिवाज और प्रथाएं हैं. जिस समय से शुरू हुए होंगे उस समय की परिस्थितियां अलग थी, परंतु 21वीं सदी में इन प्रथाओं को ढोना किस तरह उचित ठहराया जा सकता है? ऐसी ही अजीबोगरीब प्रथा है दुल्हन का कौमार्य चैक करना. जबकि लड़के के लिए ऐसा कोई टेस्ट नहीं है, जिससे यह पता लगाया जा सके कि उसने शादी से पहले किसी ओर से शारीरिक संबंध बनाए हैं या नहीं. दूसरी तरफ लड़की की वर्जिनिटी का जो टेस्ट किया जाता है, वह कई अन्य कारणों से भंग हो सकती है. ऐसे में यह कैसे साबित किया जाएगा कि लड़की ने शादी से पूर्व शारीरिक संबंध बनाकर ही अपनी वर्जिनिटी भंग की है.

सुहागरात पर दुल्हनों के वर्जिनिटी टेस्ट के खिलाफ आवाज उठाने वाले एक समूह के तीन सदस्यों की पिटाई कर दी गई. बताया जा रहा है कि इन तीनों सदस्यों को उन्हीं के समुदाय के लोगों (कंजरभट) ने पीटा है. अब तक इस मामले में 40 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है.  

मिली जानकारी के अनुसार, प्रशांत अंकुश इंद्रेकर ने पिंपरी पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई है. उन्होंने पुलिस को बताया कि, "हमें एक शादी में जाने का इनविटेशन मिला था. मैं अपने परिवार के साथ शादी में पहुंचा था. रात 9 बजे शादी की रस्में पूरी होने के बाद जात पंचायत ने बैठक की. इसमें उन्होंने दूल्हा-दुल्हन से पैसे लेने और दुल्हन के कौमार्य जांच करने का फैसला किया."

इंद्रेकर ने आगे बताया कि इस बीच मुझे देखकर वहां कुछ युवक आए. वह जानते थे कि मैं इस प्रथा के खिलाफ व्हाट्सऐप   ग्रुप चला रहा हूं. उन्होंने मुझ पर चिल्लाना शुरु किया और देखते ही देखते 30 -40 लोग वहां इकठ्ठा हो गए. उन्होंने मेरे साथी जितेन्द्र मचाले और प्रशांत विजय तमाईचिकर को पीटना शुरु कर दिया. मैंने बीच बचाव किया तो उन्होंने बेल्ट से मुझे पीटा.

इस मामले में सीनियर पुलिस इंस्पेक्टर श्रीधर जाधव ने बताया कि, " हमने इस मामले में अमोल भट और मधुकर भट को गिरफ्तार किया है. बाकी आरोपियों की तलाश जारी है. प्रथा के नाम पर मारपीट गलत है. दोषियों पर कड़ी कार्रवाई होगी."  

बता दें कि पुणे के प्रशांत अंकुश इंद्रेकर 'स्टॉप द वी वर्चुअल' नाम से व्हाट्सएप ग्रुप चलाते हैं. इस ग्रुप के जरिये वे कंजरभट समुदाय में प्रचलित दुल्हनों के वर्जिनिटी टेस्ट (कौमार्य प्रथा) के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं.

क्या है प्रथा...

प्रथा के मुताबिक, गांव की पंचायत दूल्हा-दुल्हन को सुहाग रात पर सफेद चादर मुहैया कराती है. अगली सुबह चादर पर अगर लाल धब्बा मिलता है तो दुल्हन वर्जिनिटी टेस्ट में पास हो जाती है. वरना दुल्हन पर पूर्व में शारीरिक संबंध बनाने के आरोप मढ़ दिए जाते हैं. यह प्रथा दुल्हन से इजाजत लिए बिना होती है.

इसके पहले भी हुआ ऐसा...

ऐसा ही कुछ वाकया पुणे के विश्रांतवाडी में हुआ था. यहां कौमार्य जांच होने के बाद शादी के मंडप में लड़की के पिता को पंचायत के लोगों के समक्ष पंचों को पैसा देकर यह शादी अधिकृत करने के लिए मजबूर होना पड़ा.


बाकी समाचार