Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

शुक्रवार, 30 अक्टूबर 2020

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

टोटल टीवी के सर्वे में जेजेपी ने उड़ाई बीजेपी समेत सभी दलों की नींद

जेजेपी जिस गति से बढ़ रही है, उसी गति से कांग्रेस घट रही है।

टोटल टीवी सर्वे, कांग्रेस घट रही है, जेजेपी बढ़ रही है, बीजेपी जीत रही है, इनेलो मिट रही है, naya haryana, नया हरियाणा

25 जनवरी 2019



नया हरियाणा

दिल्ली की तरह हरियाणा में जेजेपी और दुष्यंत चौटाला का ग्राफ जिस गति से बढ़ रहा है और उसी गति से कांग्रेस का ग्राफ गिरता जा रहा है. कांग्रेस अपने पुराने राज के हैंग ओवर से बाहर ही नहीं निकलना चाहती. जिसकी कीमत वो दिल्ली में चुका चुकी है और चुकाएगी.

दिल्ली के बाद कांग्रेस हरियाणा में आउट ऑफ स्लेबस हो रही है. जेजेपी लड़ती भिड़ती बीजेपी से दिख रही है जबकि वो स्पेस कांग्रेस व इनेलो का खा रही है. जेजेपी को केजरीवाल वाली पुरानी उछलकूद से सबक लेकर धैर्य से आगे बढ़ना चाहिए.

कल एक टीवी सर्वे में जींद में बीजेपी और जेजेपी के बीच मात्र 7 हजार का अंतर है, जिसे सर्वे के लिहाज से ज्यादा नहीं कहा जा सकता। इसे ही राजनीति की भाषा में नैक टू नैक फाइट कहा जाता है।

कांग्रेस और इनेलो के लिए जहां ये खतरे की घंटी है, वही बीजेपी के लिए नींद हराम कर देने वाले संकेत हैं. राजनीति में जो पार्टी व नेता इन अदृश्य दिखने वाले संकेतों को नहीं समझता या समझना नहीं चाहता. उसकी दुर्गति होना तय है।

ऐसे में जींद उपचुनाव का नतीजा भले ही बीजेपी के पक्ष में चला जाए परंतु भविष्य जेजेपी का बनता दिख रहा है। हालांकि इस बात को कुछ लोग अतिवादी कह सकते हैं परंतु वर्तमान में भविष्य की दस्तकों को अतिवादी नजरियों से देखा समझा जाता है।

टोटल टीवी के सर्वे का लबोलवाब यह है कि जींद उपचुनाव में कांग्रेस लगातार घट रही है, जेजेपी बढ़ रही है, बीजेपी जीत रही है और इनेलो मिट रही है। कांग्रेसी नेताओं के जहां आत्ममंथन का समय है, वहीं इनेलो को ्अपनी वाणी और रणनीति दोनों पर पुनर्विचार करने की सख्त जरूरत है। समय के हिसाब से उनके भाषण घिसे पिटे नजर आते हैं। कांग्रेस अपनी फिदरत के अनुसार बीजेपी के बुरे होने के इंतजार में बैठी है, क्योंकि कांग्रेस भारतीय राजनीति के इतिहास में खुद को इसी रूप में देखती परखती रही है और अतीतजीवी होने कारण वो निट्ठल्ली होती जा रही है।

Tags:

बाकी समाचार