Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

गुरूवार, 1 अक्टूबर 2020

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

ग्रुप डी की भर्ती से बढ़ा भाजपा का ग्रेड, विरोधियों के बदले समीकरण

सरकारी नौकरियों में पारदर्शिता के मुद्दे को जींद उपचुनाव ही नहीं आगामी लोकसभा एवं विधानसभा चुनाव में भी भाजपा भुनाने की कोशिश करेगी.

Increased BJP's grades by recruitment of group D, job instead of opponents, job integrity and transparency, naya haryana, नया हरियाणा

21 जनवरी 2019



नया हरियाणा

सरकारी नौकरियों में पारदर्शिता के मुद्दे को जींद उपचुनाव ही नहीं आगामी लोकसभा एवं विधानसभा चुनाव में भी भाजपा भुनाने की कोशिश करेगी. इनेलो व हुड्डा सरकार के 5 वर्ष के कार्यकाल की तुलना अगर भाजपा के अब तक के सवा चार साल के कार्यकाल से की जाए तो भाजपा ने सबसे अधिक सरकारी नौकरियां इस अवधि में भी हैं. भाजपा द्वारा अब तक 71 हजार 481 पदों के लिए भर्ती प्रक्रिया शुरू की गई. इनमें से 20 जनवरी तक 54 हजार 197 पदों की भर्ती प्रक्रिया पूरी हो चुकी है. 17 हजार 284 पदों के लिए प्रक्रिया जारी है.
हरियाणा प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का कहना है कि युवाओं को मेरिट पर रोजगार देना भाजपा सरकार की प्रतिबद्धता रही है. इनेलो के 6 साल में 5591, कांग्रेस के 5 साल में 18020 युवाओं को सरकारी नौकरी मिली. जबकि भाजपा सरकार के दौरान यह आंकड़ा 54197 तक पहुंच चुका है. आगे भी हम युवाओं के भरोसे को बरकरार रखते हुए पारदर्शिता से रोजगार के अवसर उपलब्ध कराएंगे.
जींद विधानसभा उपचुनाव के बीच की हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग ने ग्रुप डी की भर्ती के नतीजे घोषित कर दिए हैं. विरोधी बेशक इसे चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन बता रहे हैं. लेकिन इन नतीजों ने भाजपा को बड़ी राहत देने का काम किया है. चुनाव में चतुर्थ श्रेणी की नौकरी के नतीजों का कितना फायदा भाजपा उम्मीदवार को मिलेगा, फिलहाल इस बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता. लेकिन इन नतीजों ने विरोधी दलों के गुणा-भाग और समीकरण को बिगाड़ कर रख दिया है. करीब दो दशक बाद यह पहला मौका है जब चतुर्थ श्रेणी यानी ग्रुप डी के इतने पदों पर एक साथ भर्ती हुई है. यही नहीं, मौजूदा सरकार की भी यह सबसे बड़ी भर्ती है. तृतीय व चतुर्थ श्रेणी के पदों में इंटरव्यू सिस्टम खत्म करने के बाद भी यह पहली भर्ती हुई है. 18000 पदों के लिए लगभग 17 लाख युवाओं ने आवेदन किया था. इन सभी की लिखित परीक्षा हुई थी. 19-20 जनवरी की देर रात करीब 1:00 बजे आयोग द्वारा नतीजे घोषित किए गए. ओवरऑल अगर नतीजों पर नजर दौड़ाई जाए तो सबसे अधिक युवा भिवानी जिले के लगे हैं. 2299 युवाओं का ग्रुप डी में चयन हुआ है और यह जिला टॉप पर है. दूसरे नंबर पर सबसे अधिक 2034 युवा हिसार जिले के सिलेक्ट हुए हैं. इसी तरह से जींद जिला तीसरे नंबर पर रहा. जहां 1659 युवाओं का ग्रुप डी में चयन हुआ है. आंकड़ों के अनुसार इनमें से अकेले 500 युवा जींद हलके से चयनित हुए हैं. ग्रुप डी की भर्ती को लेकर पिछले वर्ष में ही आयोग ने भर्ती प्रक्रिया शुरू की थी. प्रदेश के इतिहास में यह ऐसी पहली भर्ती है जो इतने व्यापक स्तर पर हुई और सबसे कम समय में इसके नतीजे भी घोषित किए गए हैं. माना जा रहा है कि अब भर्ती को भाजपा जींद विधानसभा उपचुनाव में भुनाने की कोशिश करेगी. जिसका प्रचार सोशल मीडिया पर शुरू हो चुका है.


बाकी समाचार